PM Kisan: चुनाव से पहले पीएम किसान योजना में हुआ बड़ा बदलाव, जानें किसानों पर क्या होगा इसका असर

PM Kisan: दोस्तों केंद्र सरकार देश के किसानों के हित के लिए कई योजनाओं का शुभारम्भ करती रहती है। ऐसे है केंद्र सरकार ने किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की है। आप सभी लोग इस योजना से भली भांति परिचित होंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र सरकार ने इस योजना में कुछ बदलाव किये हैं। यदि आप भी पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी हैं तो आपके लिए ये जानना जरुरी है कि योजना में क्या नए बदलाव किये गए। और इसका क्या असर किसानों पर पड़ने वाला है। आज हम आपको इसके विषय में सारी जानकारी देंगे। जानकारी हासिल करने के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

क्या है पीएम किसान सम्मान निधि योजना

किसानों के विकास और उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत देश के सभी पात्र किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना में किसानों को प्रत्येक वर्ष 6 हजार रूपये की धनराशि प्रदान की है। यह राशि पात्र किसानों को 2-2 हजार किश्त के रूप में तीन बार दी जाती है। इस योजना में देश के पात्र किसान ही आवेदन कर सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभी तक इस पोर्टल पर 12 करोड़ लाभार्थी आवेदन कर चुके हैं और योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। यदि आप भी इस योजना के पात्र हैं तो आप इस योजना में आवेदन कर सकते हैं और लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना में हुए बदलाव

किसानों के विकास के लिए शुरू की गयी पीएम किसान सम्मान निधि योजना में सरकार ने कुछ बदलाव किये हैं। दोस्तों यदि आप किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी हैं तो आपको जानकारी होगी कि आप इसमें अपने अकाउंट की स्थिति और आवेदन की स्थिति चेक कर सकते थे। लेकिन अब ऐसा नहीं है, जी हाँ अब आप किसान पोर्टल पर जाकर इसकी जानकारी प्राप्त नहीं कर सकते हैं। अब किसान अपने मोबाइल नंबर के जरिये अपनी स्थिति को चेक नहीं कर पायेगा। अब किसान केवल आधार कार्ड नंबर के जरिये ही अपने आवेदन की स्थिति चेक कर सकते हैं।

जानें किसानों पर क्या पड़ा प्रभाव

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत हुए बदलाव के कारण किसानों पर काफी प्रभाव पड़ा है। अब किसानों को अपनी स्थिति चेक करने में थोड़ा परेशानी का सामना करना पड़ेगा। अब वो सभी आसानी से अपनी स्थिति पोर्टल पर जाकर मोबाइल नंबर के जरिये चेक नहीं कर पाएंगे। किसानों के लिए यह थोड़ा परेशानी का कारण है।

क्यों हुए योजना में बदलाव

किसानों की सुविधा के लिए शुरू की गयी थी, लेकिन कुछ लोग इसमें दूसरों की आईडी को खोलकर फायदा उठा रहे थे। जिससे अन्य किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। इन समस्याओं को मद्दे नजर रखते हुए सरकार ने इस योजना में इस प्रकार के बदलाव किये हैं। हालाँकि इन परिवर्तनों से किसानों पर काफी प्रभाव पड़ा है। लेकिन सुरक्षा के लिए ये बदलाव भी आवश्यक हो गए थे। इसीलिए सरकार ने इन्हें बदलने का फैसला लिया है।

Leave a Comment