पीएम किसान सम्मान निधि योजना में फिर से हुआ बदलाव, जानें लाभार्थियों पर क्या होगा इसका प्रभाव

PM Kisan Samman Nidhi Yojana: किसानों के विकास और उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सरकार कई योजनाओं की शुरुआत करती रहती है। ऐसी ही एक योजना की शुरुआत देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा की गयी। इस योजना को पीएम किसान सम्मान निधि योजना के नाम से जाना जाता है। हाल ही में सरकार ने इस योजना के अंतर्गत कुछ बदलाव किये हैं जो कि सभी किसानों को पता होना आवश्यक है। यदि आप भी इस योजना के लाभार्थी हैं तो आपके लिए जानना जरुरी है कि सरकार ने इसमें क्या बदलाव किये हैं। आईये आपको इसके विषय में पूरी जानकारी दते हैं।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत देश के प्रधानमंत्री जी के द्वारा की गयी। इस योजना के अंतर्गत सरकार देश के आर्थिक रूप से कमजोर किसानों की मदद करती है। इस योजना के माध्यम से सरकार इन पात्र किसानों को आर्थिक सहायता के रूप में 6 हजार रूपये की धनराशि प्रदान करती है। यह राशि किसानों को किश्त के रूप में सालाना 3 बार प्रदान की जाती है। अतः सरकार 2-2 हजार रूपये प्रति किश्त के रूप में प्रदान करती है।

योजना में हुआ बदलाव

हाल ही में सरकार ने इस योजना के अंतर्गत कुछ बदलाव किये हैं। सभी लाभार्थियों को इसके विषय में जानकारी होना आवश्यक है। इस योजना के अंतर्गत पहले पंजीकृत किसान आसानी से अपने पंजीकरण की स्थिति चेक कर सकते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं है, अब किसान आसानी से अपनी पंजीकरण की स्थिति को चेक नहीं कर सकते। पहले पंजीकरण की स्थिति चेक करने के लिए केवल मोबाइल नंबर की जरुरत पड़ती थी। लेकिन अब पंजीकरण की स्थिति को चेक करने के लिए आधार कार्ड नंबर की जरुरत पड़ेगी। अब बिना आधार कार्ड नंबर के कोई भी लाभार्थी अपने पंजीकरण की स्थिति चेक नहीं कर सकता।

लाभार्थियों पर पड़ेगा असर

पहले आसानी से किसान अपने पंजीकरण की स्थिति को चेक कर सकते थे। लेकिन अब उन्हें इसके लिए थोड़ी परेशानी उठानी पड़ेगी। जी हाँ इस बदलाव से किसानों को थोड़ा परेशानी जरूर होगी लेकिन यह बदलाव उनकी सुरक्षा के लिए आवश्यक है। पहले मोबाइल नंबर से आसानी से पंजीकरण की स्थिति को चेक किया जाता है। लेकिन अब किसानों को इसके लिए आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ेगी।

क्यों हुए बदलाव

किसानों की सुविधा के लिए शुरू की गयी थी, लेकिन कुछ लोग इसमें दूसरों की आईडी को खोलकर फायदा उठा रहे थे। जिससे अन्य किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। इन समस्याओं को मद्दे नजर रखते हुए सरकार ने इस योजना में इस प्रकार के बदलाव किये हैं।

e-KYC करवाना हुआ जरुरी

किसानों को इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि के लिए अपना e-KYC करवाना आवश्य है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहले सरकार ने इस योजना में सभी लाभार्थियों के लिए e-KYC करवाना पिछली किश्त से पहले ही आवश्यक कर दिया था। उस समय तो किसानों को इस योजना की 10वीं किश्त मिल गयी थी लेकिन इस बार यदि किसी किसान ने अपना e-KYC नहीं करवाया तो उन्हें आगे की किश्त की राशि नहीं दी जाएगी। इसीलिए अब किसानों को इस योजना के अंतर्गत e-KYC करवाना आवश्यक है। तभी उन्हें इस योजना का लाभ दिया जायेगा।

Leave a Comment