PM Free Laptop Yojana: जानें क्या है सच्चाई इस योजना के बारे में, जरूर पढ़े

PM Free Laptop Yojana: दोस्तों जैसा की हम सभी जानते हैं की देश में छात्र/छात्राओं को शिक्षा में प्रोत्साहन देने के लिए सरकार बहुत सी योजनाओं की शुरुआत कर उन्हें लाभान्वित करती है, जिसकी सूचना हमे आसानी से सोशल मीडिया के माध्यम से मिल जाती है। आज कल भी सोशल मीडिया पर भी सरकार की और से शुरू की गई एक योजना की खबर तेजी से वायरल हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है की केंद्र सरकार देश के युवाओं को पीएम फ्री लैपटॉप योजना तहत मुफ्त लैपटॉप वित्तरण कर रही है, परन्तु आपके लिए यह जानना बेहद ही महत्त्वपूर्ण हैं की व्हाट्सएप या फेसबुक पर इस योजना के तहत जारी लिंक या मैसेजस पूरी तरह से फेक (झूठी) है। यह केवल युवाओं को भ्रमित करने के लिए फैलाई जा रही झूठी अफवाह हैं, क्योंकि केंद्र सरकार द्वारा अभी तक ऐसी किसी योजना को शुरू करने की कोई घोषणा नहीं की गई है।

जानें क्या है सच्चाई PIB फैक्ट चेक द्वारा इस योजना के बारे में

सोशल मीडिया में बहुत सी साइटस के माध्यम से PM Free Laptop Yojana में आवेदन जारी करने की बात कही जा रही है, जिसमें लोगो को लिंक्स भेजकर उन्हें योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है, लेकिन PIB (पब्लिक इनफार्मेशन ब्यूरो) फैक्ट चेक टीम द्वारा इस योजना की वायरल ख़बरों की जाँच के बाद पुष्ठि करके इसे पूरी तरह फेक बताया गया है। जिसकी खबर खुद PIB द्वारा ट्वीट करके दी गई है और नागरिकों को पीएम फ्री लैपटॉप योजना के झूठे एवं भ्रामिक करने वाले लिंक्स या ख़बरों पर आवेदन करने से सतर्क रहने को कहा गया है।

केंद्र सरकार द्वारा सोशल मीडिया पर जारी इन ख़बरों से नागरिकों को पूरी तरह से सावधान रहने और ऐसे किसी भी आवेदन की ख़बरों पर यकीन ना करने के निर्देश दिए जा रहें है। इस योजना के जारी फेक लिंक्स से लोगों को भ्रमित होने से सुरक्षित करने के लिए PIB जिसका कार्य नागरिकों तक सरकार द्वारा चलाई जा रही नीतियों एवं योजनाओं की सही जानकारी पहुँचाना हैं, इसके द्वारा फ्री लेपटॉप योजना की ख़बरों को झूठा करार करते हुए यह पुष्ठि की गई है की सरकार द्वारा अभी छात्रों को किसी तरह की फ्री लैपटॉप वित्तरण का लाभ नहीं दिया जा रहा है।

पीएम फ्री लैपटॉप योजना में आवेदन से रहें सावधान

जैसा की पीआईबी द्वारा पीएम फ्री लैपटॉप योजना के फेक ख़बरों के गलत प्रसारण से नागरिकों को पूरी तरह से सावधान रहने के लिए कहा गया है, क्योंकि आजकल सोशल मीडिया पर साइबर अपराध दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं जिसकी जानकारी नागरिकों को ना होने के चलते वह व्हाट्सएप पर जारी ऐसी किसी भी लिंक पर क्लिक करके अपने बैंक खाते या अपनी व्यक्तिगत जानकारी उसमे दर्ज कर देते हैं जिससे बैंकों से उनकी जमा कुँजी के चोरी होने या धोखाधड़ी जैसे बहुत से अपराधों के होने का ख़तरा बढ़ सकता है। इसके लिए यह आवश्यक है आप सभी ऐसे किसी भी आवेदन के लिंक पर क्लिक ना करें और न ही इन्हे दूसरों को शेयर करें।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट www.crpfindia.com को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment