PM Awas Yojana Update: पैसे मिलने के बाद 12 महीने के अंदर घर नहीं बनाया तो होगी वसूली, पहले ही करना होगा करार

PM Awas Yojana Update: सरकार देश के नागरिकों के लिए कई योजनाओं की शुरुआत करते रहते हैं। जिससे कि देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों का कल्याण हो पाए। काफी समय पहले केंद्र सरकार के द्वारा देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए पीएम आवास योजना की शुरुआत की गयी थी। इस योजना का शुभारम्भ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किया गया। इस योजना के अंतर्गत सभी ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र के निवासी जो कि अपने लिए पक्के घर बनाने में असमर्थ हैं और झुग्गी झोपड़ियों में निवास करते हैं। उन सभी लोगों को पक्के घर बनाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यदि आप भी इस योजना के लाभार्थी हैं, तो आपके लिए इस योजना से सम्बंधित अपडेट की जानकारी लेना आवश्यक है। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से इस योजना से सम्बंधित कई अपडेट की जानकारी देंगे।

क्या है पीएम आवास योजना

इस योजना की शुरुआत देश के प्रधानमन्त्री जी के द्वारा हुई थी। इस योजना में उन लोगों को आवास प्रदान कराये जाते हैं जो अपने लिए आवास बनाने में असमर्थ हैं या जिनके पास पक्क्के मकान नहीं है और सड़कों के किनारे झुग्गी झोपडी में निवास करते हैं। इस योजना का उद्देश्य देश के सभी आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को पक्के मकान उपलब्ध कराना है।

पैसे मिलने के बाद 12 महीने के अंदर घर नहीं बनाया तो होगी वसूली

दोस्तों जैसा कि हमने आपको बताया कि इस योजना के अंतर्गत सभी पात्र लाभार्थियों को पक्के मकान बनाने के लिए आर्थिक सहायता के रूप में कुछ धनराशि प्रदान कराई जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मकान के लिए स्वीकृति मिलने के बाद 12 महीने के भीतर मकान बनाकर उसकी फोटो साक्ष्य कार्यालय को उपलब्ध करानी होगी। यदि लाभार्थी ऐसा नहीं करते हैं तो उनको मकान के लिए सरकार द्वारा दी गयी राशि को वापस लिया जायेगा।

विभाग ने दिया निर्देश

योजना से सम्बंधित विभाग ने सभी जिलाधिकारियों और उप आयुक्तों के लिए प्रपत्र जारी किया है। विभाग ने यह प्रपत्र 2021-22 वर्ष में स्वीकृति मिलने वाले आवास को लेकर जारी किया है। जिसके अंतर्गत विभाग ने जानकारी दी है कि पिछले वर्षों की तरह ही इस वर्ष भी इस योजना की धनराशि लाभार्थियों को किश्तों में प्रदान की जाएगी। आपको बता दें कि अब आवास के लिए स्वीकृति मिलने के समय ही लाभार्थियों को करार करना हगोगा कि वो स्वीकृति मिलने के 12 महीने के भीतर ही मकान बनाएंगे और उसकी फोटो भी विभाग में दिखाएंगे। यदि वो ऐसा नहीं करते तो योजना के तहत उन्हें जो पैसे मिले सरकार उसे वापिस ले सकती है।

कितनी मिलेगी धनराशि

जैसा कि हमने आपको बताया कि इस योजना में मिलने वाली धनराशि सभी लाभार्थियों को तीन किश्तों में मिलेगी। आपको बता दें कि इस योजना में उग्रवाद जिलों में आवास के लिए 1 लाख 30 हजार रूपये की धनराशि दी जाएगी। जिसमे कि 2 किश्त 45-45 हजार की और एक 40 हजार की होगी। और अन्य जिलों में 1 लाख 20 हजार रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी। जिसमे कि ये तीनो किश्त 40-40 हजार रूपये की दी जाएगी।

Leave a Comment