अब मिलेगा पेट्रोल डीजल से मुक्ति: 10 रुपये प्रति लीटर से चलेंगी गाड़ियाँ

देश में पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छू रहे है ऐसे में ढुलान लागत बढ़ने से आम आदमी को महँगाई का सामना करना पड़ा है। हालांकि पेट्रोल-डीजल की महँगाई से त्रस्त जनता को जल्द ही पेट्रोल-डीजल के झंझट से राहत मिलने वाली है क्यूंकि सरकार द्वारा जल्द ही पूरे देश में ग्रीन हाइड्रोजन का इस्तेमाल अनिवार्य किया जा सकता है। ग्रीन हाइड्रोजन (Green Hydrogen) के इस्तेमाल से ना सिर्फ लोगो को पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से मुक्ति मिलेगी बल्कि यह पर्यावरण के लिहाज से भी किफायती है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी अपने कई बयानों में जल्द ही ग्रीन हाइड्रोजन को लागू करने का संकेत दे चुके है ऐसे में जल्द ग्राहकों को सिर्फ 10 रुपए लीटर में गाड़ियों का ईंधन प्राप्त होगा। ग्रीन हाइड्रोजन स्वच्छ ईंधन होने के साथ-साथ भविष्य का भी ईंधन है।

जल्द हो सकता है फैसला, आम जनता को मिलेगी राहत

पिछले कुछ समय से देश में पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे है। अक्टूबर-नवंबर में तो पेट्रोल के दाम ने शतक लगा लिए था हालांकि केंद्र सरकार के हस्तक्षेप के बाद दिवाली के बाद लोगो को तेल के दामों में छूट दी गयी थी लेकिन यह नाकाफी है। बता दे की पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से खाने-पीने की वस्तुओं के दाम में भी इजाफा हुआ है ऐसे में जल्द ही सरकार ग्रीन हाइड्रोजन ईंधन को गाड़ियों में अनिवार्य कर सकती है।

सूत्रों की माने तो केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी इस सम्बन्ध में वाहन कंपनियों से पहले चरण की वार्ता भी कर चुके है जिसके बाद इस दिशा में जल्द ही कोई निर्णय लिए जाने की उम्मीदें बढ़ गयी है। सरकार द्वारा जल्द ही इस प्रस्ताव पर मुहर लग सकती है जिसके बाद गाड़ियों में ग्रीन हाइड्रोजन की इस्तेमाल अनिवार्य हो जायेगा। इससे लोगो को तेल के दामों से मुक्ति मिलेगी।

ये भी है विकल्प

इससे पहले भी केंद्रीय परिवहन मंत्री फ्लैक्स फ्यूल इंजन (Flex Fuel Engine) को लागू करने की बात कह चुके है। फ्लैक्स फ्यूल इंजन (Flex Fuel Engine) की सबसे बड़ी खासियत यह है की यह अलग-अलग ईंधनों जैसे की पेट्रोल, डीजल, इथेनॉल (Ethanol), सीएनजी औ LNG पर काम कर सकता है। इससे ग्राहक अपने हिसाब से किफायती ईंधन चुन सकेंगे। साथ ही इथेनॉल से चलने वाले वाहन पेट्रोल मुकाबले अधिक माइलेज भी देते है।

Leave a Comment