नींबू के आयुर्वेदिक लाभ | Nimbu ke Ayurvedic laabh

नींबू एक ऐसा फल है जो आपको भारत के किसी भी राज्य में मिल जाएगा। नींबू अपने औषधीय गुणों के लिए मशहूर है। ये हमारी सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। नींबू का सेवन प्राचीन काल से होता आ रहा है। और आज के समय में डॉक्टर्स भी इसके सेवन की सलाह देते हैं। नींबू का अचार से लेकर, नींबू पानी, शिकंजी, या फिर लेमन टी हो या फिर किसी भी व्यंजन या भोजन सलाद में नींबू का प्रयोग किया जाता है। नींबू विटामिन सी का अच्छा स्रोत होता है। इसके साथ ही इसमें फाइबर, प्रोटीन के साथ कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। आज हम नींबू के सेवन से मिलने वाले फायदों व नींबू के आयुर्वेदिक लाभ के बारे में जानेंगे।

दमा (Asthma) के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

नींबू के आयुर्वेदिक लाभ | Nimbu ke Ayurvedic laabh
नींबू के आयुर्वेदिक लाभ | Nimbu ke Ayurvedic laabh

नींबू के आयुर्वेदिक लाभ

  • सीने में जलन और बेचैनी में मददगार – नींबू का सेवन सीने में जलन और बेचैनी को दूर करने में सहायक होता है। अगर आपको घबराहट और सीने में जलन की शिकायत हो रही हो तो आप ठंडे पानी में नींबू का रस मिलकर पी सकते हैं।
  • खट्टी डकार – जब कभी हम कुछ खाने में कुछ ऐसे वैसी चीजें खा लेते हैं। या फिर ज्यादा खाना खा लेते हैं। हमारे गलत खान-पान के कारण हमारे शरीर में अम्लता बढ़ जाती है जिसके कारण हमको खट्टी डकारों की समस्या होने लागरी है। इसके साथ ही हमारे गले में जलन शुरू हो जाती है। ऐसे में आप नींबू और नमक के पानी का सेवन कर सकते हैं। इससे आपका खाना भी हजम हो जाता है।
  • उल्टी – गर्मियों में कभी ज्यादा गर्मी या धूप में रहने से डिहाइड्रेशन हो जाता है। या फिर किसी गलत चीज का सेवन कर लेने से हमको उल्टी की शिकायत होने लगती है। ऐसी स्थिति में आप नींबू के रस को पानी में मिलकर साथ में चीनी और काले नमक, काली मिर्च के पाउडर के साथ इसका सेवन कर सकते हैं। इस से आपकी उल्टी की शिकायत कम और बंद हो जायेगी।
  • कब्ज में लाभदायक – कब्ज के कई सारे कारण हो सकते है। हमारा पाचन तंत्र कमजोर होने के कब्ज की समस्या होने लगती है। कब्ज के कारण कई सारी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। कब्ज की समस्या होने पर आप नींबू पानी का सेवन कर सकते हैं। कब्ज दूर करने के लिए आप प्रतिदिन सुबह गुनगुने पानी में नींबू का रस डालकर पी सकते हैं।
  • जी मिचलाने में नींबू का सेवन – जब हमारे शरीर में पित्त बढ़ जाता है। तो जी मिचलाने लगता है जी मिचलाने पर आप नींबू का सेवन कर सकते हैं। नींबू में साइट्रिक एसिड होता है। जो कि इसमें लाभकारी होता है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप गुनगुने पानी में नींबू के रस से साथ नमक मिलाकर इसको पी सकते हैं।
  • त्वचा के लिए लाभकारी – स्वास्थ्य के साथ ही निम्बू हमारी त्वचा के लिए भी लाभदायक होता है। अगर आपके मुँह पर मुँहासे, दाने की समस्या से आप परेशान हैं। तो आप इस समस्या को दूर करने के लिए नींबू की सहायता ले सकते हैं। मुँहासों पर आप नींबू का रस लगा सकते हैं। आप यह बेसन और शहद के साथ मिला कर भी लगा सकते हैं। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए आप नियमिंत रूप से नींबू पानी का सेवन कर सकते हैं।

कफ और खांसी का घरेलू इलाज

Nimbu ke Ayurvedic laabh FAQ’s

सुबह खाली पेट गरम पेट में नीम्बू मिलकर पीने से क्या होता है ?

अगर आप इसे खाली पेट पीते हैं तो इस से पेट में जमी अतिरिक्त चर्बी कम होती है और यह बॉडी को डीटॉक्स भी करता है। साथ ही यह इम्युनिटी को मजबूत करता है।

नीम्बू किन बीमारियों को दूर करने के काम आता है ?

नीम्बू किडनी, कब्ज, खराब गले और मस्सोदों की समस्याओं में बेहद फ़ायदेमंद है और यह ब्लड प्रेशर व तनाव को कम करता है। यह लीवर को भी स्वस्थ रखता है, वजन कम करने में भी यह काम आता है। यह गंभीर बीमारी कैंसर में भी बहुत काम आता है।

नीम्बू का सेवन करने के क्या-क्या फायदे हैं ?

नीम्बू में विटामिन सी पाया जाता है, जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है, नीम्बू के सेवन से वजन कम होता है यह एक डिटॉक्स ड्रिंक है जो फैट बर्न करने में मदद करता है।

नीम्बू में कौन सा विटामिन पाया जाता है ?

नीम्बू में विटामिन सी पाया जाता है साथ ही इसमें सिट्रिक एसिड पाया जाता है जो सभी खट्टे फलों में मौजूद होता है।

Leave a Comment

Join Telegram