National Farmers Day 2022: क्यों, कब और कैसे मनाया जाता किसान दिवस

भारत एक कृषि प्रधान देश है। भारत की 50 फीसदी से अधिक आबादी कृषि कार्यो में संलग्न है ऐसे में देश की अर्थव्यवस्था में कृषि का अत्यधिक महत्व है। देश के ग्रामीण क्षेत्रों में जीविका का प्रमुख साधन होने के साथ ही कृषि विभिन उद्योगों का भी आधार है ऐसे में देश के कृषक अर्थव्यवस्था की रीढ़ बने हुए है। भारतीय समाज में कृषको को सदैव से ही उच्च सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है ऐसे में किसानों को सम्मान देने के लिए प्रतिवर्ष किसान दिवस का आयोजन किया जाता है। देश के किसानों को सम्मान देने एवं कृषको की देश के लिए अमूल्य सेवा के प्रति आभार प्रकट करने के लिए प्रति वर्ष राष्ट्रीय कृषक दिवस मनाया जाता है। आज के आर्टिकल के माध्यम से हम आपको राष्ट्रीय कृषक दिवस 2022 (National Farmers Day 2022) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले है। साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से आपको किसान दिवस क्यों, कब और कैसे मनाया जाता है सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओ के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी।

26 जनवरी को क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस? जानिए

राष्ट्रीय किसान दिवस

Bhartiya Kisan Divas

National Farmers Day 2022

भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषक प्रमुख भूमिका निभाते है। देश की अर्थव्यवस्था में कृषकों का योगदान अतुलनीय है। भारत की 50 फीसदी से अधिक आबादी कृषकों को श्रेणी में आती है ऐसे में देश की अधिकांश अर्थव्यवस्था कृषि पर ही निर्भर है। हमारे देश के कृषको की मेहनत का ही नतीजा है की देश कृषि उत्पादो में आत्मनिर्भर बनने के अतिरिक्त विश्व में खाद्यान का प्रमुख निर्यातक भी है। देश की ग्रामीण क्षेत्रो की सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था कृषि केंद्रित ही है ऐसे में कृषक देश की अर्थव्यवस्था में सबसे महत्वपूर्ण स्तंभ है।

देश के कृषकों को सम्मान प्रदान करने एवं देश की अर्थव्यवस्था में कृषको के योगदान की सराहना हेतु प्रतिवर्ष 23 दिसंबर को कृषक दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रीय कृषक दिवस का आयोजन भारत के प्रमुख किसान नेता एवं कृषकों के कल्याण हेतु अपने जीवन को समर्पित करने वाले महान कृषक नेता चौधरी चरण सिंह के जयंती के अवसर पर किया जाता है। देश के 5वें प्रधानमंत्री के रूप में देश की कार्यभार संभालने वाले पूर्व प्रधानमन्त्री चौधरी चरण सिंह द्वारा अपने अल्प कार्यकाल में ही कृषकों के हित के लिए अनेक कल्याणकारी कार्य किए गए थे।

साल 2022 का सबसे लम्बा और छोटा दिन | Longest and Shortest day of the year

राष्ट्रीय किसान दिवस कब मनाया जाता है ?

राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day) प्रतिवर्ष 23 दिसंबर को मनाया जाता है। राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन भारत के 5वें प्रधानमन्त्री एवं महान किसान नेता चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर मनाया जाता है। साधारण कृषक परिवार से ताल्लुक रखने वाले कृषक नेता चौधरी चरण सिंह द्वारा अपने प्रधानमंत्रीत्व काल में देश के कृषकों के हित के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों का शुभारंभ किया गया था। भारतीय कृषको के जीवन में बदलाव हेतु चौधरी चरण सिंह के जन्मदिवस 23 दिसंबर को वर्ष 2001 से प्रतिवर्ष राष्ट्रीय किसान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

राष्ट्रीय किसान दिवस क्यों मनाया जाता है ?

Bhartiya Kisan Divas का आयोजन देश के कृषकों के प्रति सम्मान प्रकट करने एवं कृषको के जीवनस्तर को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है। राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन देश के कृषको का देश की अर्थव्यवस्था में अमूल्य योगदान हेतु आदर प्रकट करने हेतु किया जाता है। साथ ही कृषको के मुद्दों के बारे में आमजन को जागरूक करने हेतु, कृषको के जीवनस्तर को बेहतर बनाने एवं कृषको के सम्मुख आने वाली विभिन चुनौतियों के निराकरण हेतु विभिन कार्यक्रमों के संचालन हेतु राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन किया जाता है। भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री रहे किसान नेता चौधरी चरण सिंह द्वारा कृषकों की समस्याओ को नजदीक से महसूस किया गया था जिस कारण उन्होंने कृषक हितो हेतु विभिन योजनाएँ संचालित की। कृषकों के जीवनस्तर को बेहतर बनाने में योगदान हेतु ही चौधरी चरण सिंह के जयंती 23 दिसंबर को किसान दिवस का आयोजन किया जाता है।

क्रिसमस डे (Christmas Day) क्यों मनाते है | क्रिसमस शब्द का अर्थ क्या है

जाने कौन थे महान किसान नेता चौधरी चरण सिंह

भारत के 5वें प्रधानमन्त्री रहे चौधरी चरण सिंह द्वारा कृषक हितों के लिए किए गए कार्यो के कारण ही उनके जन्मदिवस 23 दिसंबर को प्रतिवर्ष किसान दिवस का आयोजन किया जाता है। 23 दिसंबर 1902 को उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में एक साधारण कृषक परिवार में जन्मे चौधरी चरण सिंह द्वारा बचपन से ही कृषक जीवन एवं कृषकों द्वारा झेली जा रही विभिन चुनौतियों को अनुभव किया गया था जिस कारण से उन्होंने अपना जीवन कृषकों के कल्याण हेतु समर्पित कर दिया। देश के 5वें प्रधानमन्त्री के रूप में उन्होंने 28 जुलाई, 1979 से 14 जनवरी, 1980 तक अत्यंत अल्प समय के लिए भारत के प्रधानमन्त्री का कार्यभार संभाला। अपने अल्प कार्यकाल में ही उन्होंने कृषकों के लिए विभिन कृषक हितकारी योजनाओं का शुभारंभ किया।

chaudhry charan singh

कृषकों को समुचित अधिकार दिलाने हेतु उनके द्वारा जमींदारी उन्मूलन अधिनियम लाया गया जिससे की जमींदार कृषको का शोषण ना कर सकें। साथ ही कृषकों को उपज का उचित दाम दिलाने हेतु कृषि उपज मंडी विधेयक भी चौधरी चरण सिंह के प्रधानमंत्रित्व काल का प्रमुख विधेयक है। बजट में भी उन्होंने कृषको के लिए समुचित प्रावधान किए। देश के कृषको के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाला यह महान किसान नेता 29 मई 1987 को चिरकाल के लिए निद्रा मे विलीन हो गया।

कैसे मनाया जाता है राष्ट्रीय किसान दिवस

राष्ट्रीय किसान दिवस के मौके पर केंद्र एवं राज्य सरकारों द्वारा कृषको के सम्मान में विभिन प्रकार के कार्यक्रमों एवं गोष्ठियों का आयोजन किया जाता है। इस मौके पर कृषकों के सम्मुख आने वाली विभिन समस्याओ के निराकरण हेतु समुचित उपाय किए जाते है साथ ही सरकार द्वारा कृषको के कल्याण हेतु विभिन योजना का शुभारंभ भी किया जाता है। किसान दिवस के मौके पर कृषको के सम्मान कार्यक्रम भी आयोजित किए आते है साथ ही इस अवसर पर वाद-विवाद प्रतियोगिता, चर्चाओं, संगोष्ठियों, प्रदर्शनियों, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं, निबंध लेख एवं कार्यशालाओं के माध्यम से कृषको की बेहतरी हेतु कार्य किए जाते है। कृषकों को खेती की उपज बढ़ाने के लिए इस मौके पर विशेषज्ञों द्वारा परामर्श एवं कृषि हेतु नवीन तकनीक से अवगत करने हेतु भी विभिन कार्यक्रम आयोजित किए जाते है।

Mrs World 2022: सरगम कौशल का जीवन परिचय

राष्ट्रीय किसान दिवस सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन क्यों किया जाता है ?

राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन कृषकों के सम्मान एवं कृषकों के मुद्दों के बारे में आमजन को जागरूक करने हेतु किया जाता है। साथ ही इस अवसर के माध्यम से कृषक कल्याण हेतु नवीन योजनायें लागू करना एवं कृषकों को कृषि में आधुनिक प्रौद्योगिकी की जानकारी भी प्रदान की जाती है।

Bhartiya Kisan Divas कब मनाया जाता है ?

राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day) प्रतिवर्ष 23 दिसंबर को मनाया जाता है। यह दिवस भारत के महान कृषक नेता चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर मनाया जाता है।

राष्ट्रीय किसान दिवस को किस महापुरुष की स्मृति में मनाया जाता है ?

राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day) को भारत के 5वें प्रधानमन्त्री एवं महान कृषक नेता चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर मनाया जाता है।

चौधरी चरण सिंह द्वारा कृषको के हित में क्या कार्य किए गए ?

चौधरी चरण सिंह द्वारा कृषको के हित हेतु जमींदारी उन्मूलन अधिनियम, कृषि उपज मंडी विधेयक एवं बजट में कृषको हेतु समुचित प्रावधान करने के अतिरिक्त अन्य विभिन योजनाएँ शुरू की गयी।

राष्ट्रीय किसान दिवस को प्रथम बार कब आयोजित किया गया था ?

राष्ट्रीय किसान दिवस को प्रथम बार वर्ष 2001 में कृषक नेता चौधरी चरण सिंह की जयंती 23 दिसंबर को आयोजित किया गया था।

Leave a Comment

Join Telegram