अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा जारी फर्जी बाबा के नाम की सूची | List of Fake Baba in India in hindi

List of Fake Baba in India:- भारतवर्ष सदैव से ही धर्म एवं आध्यात्म की भूमि रहा है। विभिन धर्मों के उद्भव स्थल होने के कारण यहाँ के निवासियों की साधु-संतो एवं विभिन आध्यात्मिक गुरुओं में सदैव से ही आस्था रही है। भारत सदैव से महान ऋषि-मुनियों एवं साधु-संतो की भूमि रही है यही कारण रहा है की हमारे देश के साधुओं एवं बाबाओं पर लोगों की अटूट श्रद्धा है। परन्तु कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा बाबा का रूप धरकर लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया जाता है और विभिन अपराधों को अंजाम दिया जाता है। इन फर्जी बाबाओं के कृत्यों के कारण ना सिर्फ लोगो की आस्था को ठेस पहुँचती है अपितु इन फर्जी बाबाओं के द्वारा विभिन अपराधों के माध्यम से समाज को भी दूषित करने का कार्य किया जाता है।

List of Fake Baba in India in hindi

इन फर्जी बाबाओं से समाज को अवगत कराने के लिए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा ऐसे फर्जी बाबाओं के नाम की सूची जारी की गयी है जिससे की सभी लोग इन बाबाओं से सावधान रह सकें।आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा जारी फर्जी बाबा के नाम की सूची (List of Fake Baba in India in hindi) के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले है जिससे की आप भी इन फर्जी बाबाओं की सच्चाई जानकारी इनके अपराधों के बारे में जान सकेंगे। साथ ही भविष्य में ऐसे फर्जी बाबाओं से बचने के लिए भी आप इस सूची के माध्यम से फर्जी बाबाओं की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Article Contents

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद क्या है ?

फर्जी बाबा के नाम की सूची को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा जारी किया गया है। आपको बता दे की अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद हमारे देश में साधु-संतो का सबसे बड़ा अखाड़ा है। इस अखाड़े के माध्यम से देश में महाकुंभ, अर्धकुम्भ और अन्य धार्मिक उत्सवों के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी जाती है। इसके अतिरिक्त यह अखाड़ा विभिन अखाड़ों को मान्यता प्रदान करने एवं विभिन धार्मिक कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वर्ष 2017 में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी अध्यक्षता में इस परिषद् के द्वारा देश में विभिन फर्जी बाबाओं की सूची जारी की गयी है।

जिससे की आम जनमानस ऐसे असामाजिक तत्वों से सावधान रह सके। इस सूची में शामिल किया गए सभी बाबाओं पर हत्या, रेप और अन्य संगीन अपराधों के आरोप है जिनमे से अधिकतर जेल में सजा काट रहे है। यहाँ आपको इस सूची में शामिल सभी बाबाओं का नाम एवं अपराध सम्बंधित जानकारी प्रदान की गयी है।

फर्जी बाबाओं के नाम की सूची

यहाँ आपको अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा जारी फर्जी बाबाओं के नाम की सूची प्रदान की गयी है :-

चित्र नाम अपराध विशेष बिंदु
List of Fake Baba in Indiaआसाराम बापूरेप का आरोप आसाराम बापू एक प्रसिद्ध भारतीय कथावाचक रहे है। दुनिया भर में इनके लाखों फॉलोवर है।
रेप का आरोप और गवाहों की हत्या के आरोप में आरोपी सिद्ध होने पर वर्तमान में जेल की सलाखों के पीछे है।
List of Fake Baba in Indiaनिर्मल बाबाअन्धविश्वास फैलाने का आरोप the third eye of nirmal baba शो के माध्यम से अपने भक्तो की समस्याओ का समाधान बताने वाले निर्मल बाबा अपने अजीबोगरीब समाधानों के लिए विवाद का विषय रहे है।
radhe maa farji baba listराधे मांअन्धविश्वास फैलाने का आरोप स्वयं को माता रानी का रूप बताकर राधे माँ के नाम से जानी जाने वाली सुखविंदर कौर विभिन धार्मिक समारोहों में देखी जा सकती है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा इन्हे अन्धविश्वास फैलाने का आरोप लगाकर फर्जी बाबाओं की सूची में शामिल किया गया है।
Gurmeet Singh ram rahimसंत गुरमीत राम रहीम इंसान रेप एवं हत्या का आरोप MSG के नाम से प्रसिद्ध संत गुरमीत राम रहीम इंसान पर विभिन शिष्याओं ने रेप का आरोप लगाया है। इनकी विचित्र वेशभूषा एवं कारनामों के कारण यह चर्चा का विषय बने रहे है। रेप और गवाहों की हत्या के आरोप में वर्तमान में उम्रकैद की सजा काट रहे है।
dati maharajदाती महाराजरेप का आरोपदाती महाराज द्वारा विभिन कार्यक्रमो में शिरकत करके लोगो के भाग्य बताया जाता रहा है। इनकी शिष्या द्वारा रेप के आरोप में वर्तमान में इन्हे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा फर्जी बाबाओं की लिस्ट में शामिल किया गया है।
swami aseemanand farji babaस्वामी असीमानंदमक्का मस्जिद एवं
अजमेर शरीफ दरगाह बम धमाकों के आरोपी
मक्का मस्जिद एवं
अजमेर शरीफ दरगाह बम धमाकों के आरोपी स्वामी असीमानंद को भी अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के द्वारा फर्जी बाबाओं की लिस्ट में शामिल किया गया है।
Swami Nithyanandaस्वामी नित्यानंदरेप का आरोपस्वामी नित्यानंद सदैव से ही विवादों में रहे है। प्रथम बार इनका तमिल अभिनेत्री के साथ वीडियो वायरल हुआ था। इसके पश्चात इन पर रेप का आरोप भी लगा था। वर्तमान में देश से भागकर स्वयं के बसाये हुए देश कैलाशा में निवास कर रहे है।
List of Fake Baba in Indiaइच्छाधारी भीमानंद बाबासेक्स-रैकेट संचालित करने का आरोप इच्छाधारी भीमानंद बाबा पर सेक्स-रैकेट को संचालित करने का आरोप लग चुका है। इसके अतिरिक्त विभिन वायरल वीडियो में भी इन्हे डांस करते हुए देखा जा सकता है जिससे पर भक्तो द्वारा सवाल भी खड़े किए गए है।
Sachchidanand Giriसच्चिदानंद गिरीधोखाधड़ी एवं जमीन हड़पने सम्बंधित विवादों के आरोप जमीन को हड़पने एवं धोखाधड़ी के आरोप में सच्चिदानंद गिरी पर विभिन लोगो के द्वारा आरोप लगाए गए है। इन्ही आरोपों के मद्देनजर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा इन्हे फर्जी बाबा घोषित किया गया है।
Swami Omjiस्वामी ओमजीलोगो की आस्थाओं के साथ खिलवाड़ एवं चोरी का आरोप बिग-बॉस फेम स्वामी ओमजी को बिग-बॉस शो के माध्यम से प्रसिद्धि मिली थी। हालांकि इस शो के दौरान इन्होने कुछ ऐसे कार्य किये थे जिससे की लोगो की भावनाएँ आहत हुयी थी जिससे की शो के पूर्ण होने के बाद कई मौकों पर लोगो द्वारा इनकी पिटाई भी की गयी थी।
Brahaspati Giriबृहस्पति गिरीमंदिर की सम्पति में हेर-फेर का आरोप बृहस्पति गिरी पर मंदिर की सम्पति में हेर-फेर करने एवं इसे हड़पने का आरोप लगा था। इसके पश्चात अन्य विवादों के कारण भी अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा इन्हे भी फर्जी बाबा घोषित किया गया है।
sant rampal farji babaरामपालहत्या का आरोपस्वयंभू संत रामपाल द्वारा स्वयं को निर्गुण संप्रदाय के महान संत कबीर का स्वरूप घोषित किया गया था। इन पर हत्या जैसे संगीन अपराध का आरोप सिद्ध होने के कारण ये वर्तमान में उम्रकैद की सजा काट रहे है।
Acharya Kushmuni]आचार्य कुशमुनिभ्रष्टाचार का आरोपभ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे आचार्य कुशमुनि की विभिन मुद्दों को लेकर आलोचना होती रही है। इन पर लगे आरोपों के कारण इन्हे की फर्जी बाबा की सूची में प्रमुखत से शामिल किया गया है हालांकि इन्होने परिषद् पर ही सवाल खड़े किए है।
ओम नमः शिवाय बाबाओम नमः शिवाय बाबाफर्जी बाबा होने का आरोप विभिन प्रकार के आरोपों का सामना करने वाले ओम नमः शिवाय बाबा के विवादों के मद्देनजर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद इन्हे भी फर्जी बाबा की सूची में शामिल किया गया है।
मलखान बाबामलखान बाबाधन हड़पने एवं लड़की का अपहरण करने का आरोप धन हड़पने, लोगो से फर्जीवाड़ा करने एवं लड़की को अगवा करने जैसे संगीन अपराधो के आरोपी मलखान बाबा सदैव से ही विवादो में घिरे रहे है। इन पर लोगो द्वारा अलग-अलग संस्थाओ के माध्यम से धोखाधड़ी का आरोप भी लग चुका है।
List of Fake Baba in India in hindi

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा जारी फर्जी बाबा लिस्ट

यहाँ आपको अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा जारी फर्जी बाबाओ की पूरी लिस्ट एवं उनके अपराधों की विस्तृत सूची दी गयी है।

आसाराम बापू (Asaram Bapu)

अगर भारत के सबसे प्रसिद्ध कथावाचकों की बात की जाए तो आसाराम बापू इस लिस्ट में सबसे ऊपर आते है। आशाराम बाबू के पूरी दुनिया में करोड़ो भक्त है और लोग इनकी कथा सुनने के लिए दूर-दूर से आते है। नवाब-शाह, सिंध, पाकिस्तान में जन्मे आसाराम बापू का वास्तविक नाम आसुमल सिरुमलानी है जो की विभाजन के समय अपने परिवार के साथ पाकिस्तान से आकर गुजरात में बस गए थे। बचपन से ही आध्यात्मिक प्रवृति के होने का कारण इन्हे धार्मिक कार्यो एवं भगवान भजन में रूचि थी। हालांकि इतने बड़े संत होने से लेकर अपराध की दुनिया में हत्या और बलात्कार जैसे कुकर्मों में संलिप्त होने की आसाराम बापू की कहानी वास्तव में चौकानें वाली है।

वर्ष 1973 में इन्होने गुजरात में अपना पहला आश्रम खोला था जिसके बाद बाबाजी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। इसके बाद देश ही नहीं अपितु विदेशो में भी इनके आश्रम खोले जाने लगे और इनकी भक्तो की संख्या में अपार वृद्धि हुयी। रामकथा और भागवत कथा वाचक के रूप में आशाराम बापू की पूरे देश में डिमांड होने लगी। हालांकि इसी दौरान आशाराम बापू द्वारा अपने कुकर्मों को भी अंजाम दिया जाता रहा जिसमे नाबालिक लड़की का रेप, घी की मिलावट, सरकारी जमीन पर कब्ज़ा और अपराधियों को संरक्षण जैसे मुद्दे शामिल थे।

आसाराम बापू से जुड़े अपराध और विवाद

  • आशाराम बाबू पर विभिन प्रकार के आरोप लगाए गए है जिसके आधार पर यह कहा जा सकता है की आशाराम बाबू द्वारा विभिन मौकों पर लोगो की आस्था के साथ खिलवाड़ करते हुए अलग-अलग कुकृत्यों को अंजाम दिया गया है। इन पर सबसे गंभीर आरोप वर्ष 2013 में नाबालिक के साथ दुष्कर्म करने का आरोप है जो की इनके आश्रम में धार्मिक शिक्षा ग्रहण करने के उद्देश्य से आयी थी। 16 वर्ष की नाबालिक द्वारा आरोप लगाया गया था की आशाराम द्वारा इन्हे जोधपुर के एक आश्रम में ले जाकर दुष्कर्म किया गया था जिसमे की इनके सहयोगियों के द्वारा भी इनका साथ दिया गया। आशाराम बापू के पुत्र नारायण साईं पर भी संगीन आरोप लगे थे। विभिन आरोपों को ध्यान में रखते हुए कोर्ट द्वारा इन्हे उम्रकैद की सजा सुनाई गयी है।
  • अपने कार्यो के अतिरिक्त आशाराम बापू द्वारा 2016 के दिल्ली गैंगरेप में भी बचकाना बयान दिया गया था जिसमे इन्होने रेप के लिए लड़की को भी जिम्मेदार ठहराया था। आसाराम बापू के द्वारा इस प्रकार के बयानों से उनकी मानसिकता का आभास मिलता है। इसके अतिरिक्त विभिन स्टिंग ऑपरेशन में इन्हे अपराधियों को संरक्षण देते हुए दिखाया गया था।
  • आशाराम बापू पर सरकारी जमीन को कब्जाने का आरोप भी लग चुका है जिसके सम्बन्ध में इन्हे सूरत के कलेक्टर के द्वारा नोटिस भी भेजा गया था। साथ ही अन्य जगहों पर भी इन पर सरकारी भूमि पर अतिक्रमण करने का आरोप लगा था।

निर्मल बाबा (Nirmal Baba)

निर्मलजीत सिंह नारुला उर्फ निर्मल बाबा भारत के दर्शको के बीच काफी लोकप्रिय बाबा रहे है। विभिन चैनलों पर प्रसारित होने वाला उनका कार्यक्रम ‘थर्ड ऑय ऑफ निर्मल बाबा’ के माध्यम से ये भक्तों की समस्या का समाधान बताते है। हालांकि कई सूत्रों के द्वारा बताया गया है की अपने कार्यक्रम के लिए ये न सिर्फ अपने भक्तो से मोटी फ़ीस वसूलते थे बल्कि बहुत सारे भक्त पहले से निर्देशित भी रहते थे।

निर्मल बाबा का सबसे विवादस्पद कार्य उनके द्वारा भक्तो को दिया जाने वाला समाधान है जहाँ वे अजीबोगरीब उपायों के द्वारा भक्तों की समस्या को दूर करने की बात करते है। अपने कार्यक्रम को अधिक से अधिक लोगो तक पहुंचाने के लिए इन्होने इसे अधिक से अधिक चैनलों पर प्रसारित भी किया था जिसके माध्यम से अनेक लोगो को ठगा गया था।

निर्मल बाबा से जुड़े अपराध और विवाद

  • निर्मल बाबा द्वारा प्रसारित किये जाने वाले समागम ‘थर्ड ऑय ऑफ निर्मल बाबा’ में बाबा द्वारा भक्तो को दिए जाने वाले सोल्युशन अजीबोगरीब होते है। इसके अतिरिक्त विभिन नागरिको के द्वारा उन पर धर्म के नाम पर अन्धविश्वास फैलाने के आरोप भी है।
  • निर्मल बाबा के समागम ‘थर्ड ऑय ऑफ निर्मल बाबा’ में आये एक भक्त हरीश वीर सिंह द्वारा बाबा पर फर्जीवाड़े का आरोप लगाया गया था जिसमे शिकायतकर्ता द्वारा कहा गया था वह डॉयबिटीज़ के मरीज है परन्तु निर्मल बाबा ने उन्हें खीर खाने का सुझाव दिया था। इस पर उनकी तबियत और भी ख़राब हो गयी थी जिससे की निर्मल बाबा पर आरोप दर्ज हुआ था।

राधे मां (Radhe Maa)

राधे माँ के नाम से प्रचलित सुखविंदर कौर मूल रूप से पंजाब की रहने वाली है। 10वीं तक की शिक्षा ग्रहण करने वाली राधे माँ बचपन से अध्यात्म की ओर उन्मुख थी जिसके कारण वे बचपन से धर्म-कर्म के कार्यो की ओर आकर्षित थी। आपको बता दे की राधे माँ विवाहित भी है और उनकी शादी मोहन सिंह नाम के व्यक्ति के साथ हुयी थी। अपने पति के विदेश जाने के बाद वे मुंबई में आकर बस गयी थी और यहाँ धर्म के नाम पर उन्होंने लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ करना शुरू कर दिया। अपने आप को माँ दुर्गा का रूप बताने वाली राधे माँ को विभिन मौकों पर विवादों का सामना करना पड़ा है जहाँ कभी वे अपने बयानों तो कभी अपने अजीबोगरीब कारनामों के कारण चर्चा में रही है।

राधे मां से जुड़े अपराध और विवाद

  • राधे माँ स्वयं को माँ दुर्गा का अवतार कहती है और इसके अलावा वह कई मौको पर नाच-गाना और अजीबोगरीब हरकतें भी करती है। ऐसे में वर्ष 2015 में एक व्यक्ति के द्वारा राधे माँ पर लोगो की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने और आस्था को भंग करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।
  • कई लोगो द्वारा राधे माँ पर यह आरोप भी लगाया गया है की वह अपने आश्रम में बॉलीवुड के गानों पर अश्लील डाँस भी करती है और कई बार तो भक्तो के द्वारा उन्हें गोद में भी उठाया जाता है। कई वायरल विडियो में भी राधे माँ को डांस करते हुए देखा गया है जिससे की लोगो द्वारा उन पर आरोप लगाए जाते रहे है।
  • राधे माँ द्वारा अपने भक्तो को दर्शन देने के लिए अन्य फर्जी बाबाओं की तरह मोटी फ़ीस वसूली जाने के भी कई मामले सामने आये है। इसके अतिरिक्त यह भी कहा जाता है की उनके आश्रम में कार्यक्रम आयोजित करवाने के लिए भक्तो को अच्छी-खासी रकम खर्च करनी पड़ती है।

संत गुरमीत राम रहीम इंसा (Ram Rahim)

फर्जी बाबाओं की सूची में सबसे सनसनीखेज और चौंकाने वाला नाम डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम इंसा का था। अपनी चमक-दमक भरी लाइफ और फिल्मो में अभिनय करने के कारण राम रहीम पहले से ही लोगों के बीच प्रसिद्ध थे परन्तु जब वर्ष 2017 में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के द्वारा रेप के आरोप में इन्हे 20 वर्षो की सजा सुनाई गयी तो लोगो के सामने इस चमक-दमक के पीछे छुपा घिनौना चेहरा सामने आ गया। 1990 में संत की उपाधि धारण करने वाले गुरमीत राम रहीम इंसा द्वारा अपने पद का दुरपयोग करते हुए ऐसे-ऐसे कुकृत्यों को अंजाम दिया गया की लोगो का विश्वास करना मुश्किल हो गया। राम रहीम पर अपने ही आश्रम की नाबालिक लड़कियों के साथ कुकर्म का आरोप सिद्ध हुआ है।

गुरमीत राम रहीम से जुड़े अपराध और विवाद

  • राम-रहीम पर सबसे अधिक गंभीर और संगीन आरोप वर्ष 2002 में उनकी ही आश्रम से जुड़ी हुयी साध्वी द्वारा लगाया गया था जिसमे की राम-रहीम के द्वारा साध्वी का रेप करने का आरोप लगाया गया था। इस सम्बन्ध में साध्वी द्वारा तत्कालीन प्रधानमन्त्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी को गुमनाम चिट्ठी भी भेजी गयी थी जिसमे राम रहीम के काले कारनामों का कच्चा चिटठा खोला गया था। इसी मामले में सीबीआई की विशेष अदालत के द्वारा इन्हे 20 वर्ष की उम्रकैद की सजा सुनाई गयी थी।
  • गुरमीत राम रहीम पर आश्रम के ही सेवादार रणजीत सिंह की हत्या और इस हत्या की पड़ताल कर रहे पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या का भी आरोप है। इसके अतिरिक्त राम रहीम पर आश्रम के 400 साधुओं को नपुंसक बनाने का भी आरोप है।
  • सिखों के साथ ही संत राम-रहीम का बहुत पुराना विवाद रहा है जिसका कारण वर्ष 2007 में राम-रहीम द्वारा सिखों के 10वें गुरु, गुरु गोविंद सिंह का वेश धारण करना था। इसके अतिरिक्त भी राम-रहीम अपने भड़कीले फैशन और अनोखे पहनावे के लिए प्रसिद्ध रहे है।

दाती महाराज (Dati Maharaj)

अकसर कई चैनलों पर शनि भगवान के प्रकोप से छुटकारा पाने का उपाय बताने वाले दाती महाराज पर भी इनकी शिष्या के द्वारा रेप जैसा संगीन आरोप लगाया गया है। कहा जाता है की लोगो को अय्याशी से भरे जीवन से दूर रहने की सलाह देने वाले दाती महाराज असल जीवन में अय्याशी से भरा जीवन जीते है जिसकी पुष्टि पुलिस छानबीन में उनके आश्रम में भी हुयी है।

दाती महाराज से जुड़े अपराध और विवाद

  • दाती महाराज पर इनकी ही शिष्या के द्वारा रेप करने का आरोप लगा है जिस सम्बन्ध में सीबीआई इस मामले की जाँच कर रही है।
  • दूसरों को कष्ट सहने की शिक्षा देने वाले दाती महाराज असल जीवन में शानो-शौकत से भरा जीवन जीते है जिसमे इनके पास करोड़ो की सम्पति है।

स्वामी असीमानंद (Swami Aseemanand)

खुद को धार्मिक गुरु का तगमा देने वाले स्वामी असीमानंद पर धार्मिक स्थलों पर बम धमाकों के आरोप लगे थे। इन आरोपों के कारण इन्हे लम्बे समय तक अदालती कार्यवाही का सामना भी करना पड़ा था परन्तु सबूतों के अभाव में कोर्ट के द्वारा इन्हे विभिन मामलों में बरी कर दिया गया था।

स्वामी असीमानंद से जुड़े अपराध और विवाद

  • स्वामी असीमानंद एक स्वयंभू घोषित आध्यात्मिक बाबा है जिन्हे की अकसर धार्मिक पोषक में देखा जा सकता है। इन्हे फर्जी बाबाओं की सूची में शामिल किया गया है।
  • 18 मई, 2007 को हुए मक्का मस्जिद एवं अजमेर शरीफ दरगाह बम धमाकों के आरोप में इन्हे 7 वर्षो तक जेल में रखा गया जिसके पश्चात केस के झूठा साबित होने पर कोर्ट के द्वारा इन्हे आरोपमुक्त कर दिया गया।

इच्छाधारी भीमानंद बाबा (Ichchadhari Bhimanand)

होटल के गार्ड से अपने करियर की शुरुआत करने वाला शिव मूर्त द्विवेदी उर्फ़ इच्छाधारी भीमानंद बाबा सेक्स रैकेट के संचालन का बहुत बड़ा मास्टरमाइंड है। दिल्ली पुलिस द्वारा इन्हे वेश्यावृति के आरोप में गिरफ्तार किया गया और इनके खिलाफ विभिन प्रकार के केस भी दर्ज किए गए है।

इच्छाधारी भीमानंद बाबा से जुड़े अपराध और विवाद

  • इच्छाधारी भीमानंद बाबा द्वारा स्वयं को साईं का अवतार बताया जाता था परन्तु दिल्ली पुलिस की जाँच में यह बाबा सेक्स रैकेट का सरगना निकला जिसकी गैंग में मॉडल, स्ट्रगलिंग अभिनेत्रियाँ और विदेशी मॉडल शामिल थी।
  • वेश्यावृति के अतिरिक्त इच्छाधारी भीमानंद बाबा पर धोखाधड़ी और डकैती के मुक़दमे भी दर्ज है।

स्वामी नित्यानंद (Swami Nithyananda)

नित्यानंद ध्यानपेटम’ नामक एनजीओ के संस्थापक स्वामी नित्यानंद का वास्तविक नाम राजशेखरन है जो की अकसर अपने अनोखे बयानों के कारण चर्चा में रहते है। इनका नाम रेप केस में आने के बाद ये देश छोड़कर भाग गए थे जिसके बाद इन्होने अपना अलग ही देश कैलाशा बन लिया था। कैलाशा में इन्होंने अपनी सरकार और बैंक का गठन भी किया था जिसके कारण ये पूरे देश में चर्चित रहे है।

स्वामी नित्यानंद से जुड़े अपराध और विवाद

  • स्वामी नित्यानंद पर इनके आश्रम में शिक्षा ग्रहण करने वाली शिष्या के द्वारा रेप के आरोप लगाए गए है जिसके कारण कर्नाटक उच्च-न्यायालय में इन पर मुकदमा भी चल रहा है।
  • रेप के अतिरिक्त इनके आश्रम में आध्यात्मिक शिक्षा ग्रहण कर रही संगीता अर्जुनन नाम की शिष्या की मौत के लिए भी युवती की माता द्वारा आश्रम को जिम्मेदार ठहराया गया था साथ ही तमिल अभिनेत्री के साथ इनके वायरल वीडियो में इन्हे अश्लील डांस करते हुए देखा जा सकता है। हालंकि इन्होने इस वीडियो में दूसरे व्यक्ति के होने की बात की।
  • वर्तमान में ये देश से भगौड़े के रूप में अपने द्वारा बसाये गए कैलाशा नाम के देश में रह रहे है जो की एक आइलैंड पर बसाया गया है।

सच्चिदानंद गिरी (Sachchidanand Giri)

निरंजनी अखाड़े में महामंडलेश्वर जैसे महत्वपूर्ण पद संभाल चुके सच्चिदानंद गिरी का वास्तविक नाम सचिन दत्ता है जो की शराब के कारोबार में भी रह चुके है। पहले बॉडीबिल्डर होने के कारण इन्हे बिल्डर बाबा भी कहा जाता है। निरंजनी अखाड़े द्वारा इन्हे मोह-माया न त्यागने के कारण महामंडलेश्वर के पद से बर्खास्त भी किया जा चुका है।

सच्चिदानंद गिरी से जुड़े अपराध और विवाद

  • मोहमाया ना त्यागने और अपने परिवार एवं पत्नी से संपर्क रखने के कारण इन्हे निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर पद से बर्खास्त किया गया है।
  • सच्चिदानंद गिरी पर बैंको से धोखाधड़ी के माध्यम से ऋण प्राप्त करने, अवैध सम्पति जोड़ने, नाईट-क्लब चलाने एवं अवैध सम्पति जमा करने का आरोप भी लगा है।

स्वामी ओमजी (Swami Omji)

बिग-बॉस फेम स्वामी ओमजी को अधिकतर लोग इनकी इस शो में एंट्री के बाद से ही जानते है। इनका वास्तविक नाम विनोद आनंद झा है जिन पर चोरी और लोगो की धार्मिक भावनाओ को आहत करने करने सम्बंधित मुक़दमे चल रहे है।

स्वामी ओमजी से जुड़े अपराध और विवाद

  • स्वामी ओम पर बिग-बॉस कार्यक्रम के दौरान विभिन प्रकार की हरकतों के कारण लोगो की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा था जिसके कारण इन्हे कई जगह लोगो की पिटाई का सामना भी करना पड़ा।
  • इनके छोटे भाई प्रमोध झा द्वारा इन पर साइकिल चोरी का आरोप भी लगाया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य केसों में भी इन पर मुकदमे दर्ज है ।

बृहस्पति गिरी (Brahaspati Giri)

बरेली से जुड़े हुए बृहस्पति गिरी को भी फर्जी बाबाओं की सूची में शामिल किया गया है। नकली संस्था बनाकर इन पर विभिन प्रकार के अवैध कार्यो को करने के आरोप लगे थे।

बृहस्पति गिरी से जुड़े अपराध और विवाद

  • बृहस्पति गिरी पर संस्था की सम्पति को नुकसान पहुंचाने एवं नकली संस्थाओ को बनाकर लोगो को लूटने के आरोप लगे है।
  • इसके अतिरिक्त अवैध दुकानों के निर्माण सहित अन्य गैर-क़ानूनी गतिविधियों में भी बृहस्पति गिरी का नाम शामिल है।

मलखान बाबा (Malkhan Baba)

बरेली में ही स्थित मलखान बाबा पर लड़की को अगवा करने और विभिन गैरक़ानूनी कार्यो को करने के आरोप लगे है। अपने आरोपों के कारण उन्हें अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् के द्वारा फर्जी घोषित किया गया है। इन पर विभिन गैरकानूनी माध्यमों से लोगों को लूटने का आरोप भी लगा है।

मलखान बाबा से जुड़े अपराध और विवाद

  • मलखान बाबा पर लगे सबसे गंभीर आरोपों में लड़की को अगवा करने का आरोप है जिसके कारण इन्हे अखाड़ा से कई वर्ष पूर्व ही बर्खास्त किया जा चुका है।
  • इन्हे अलखनाथ मंदिर की सम्पदा को नष्ट करने एवं अवैध दुकानों के निर्माण के आरोप में भी फर्जी बाबाओं की सूची में शामिल किया गया है।

आचार्य कुशमुनि (Acharya Kushmuni)

सिद्धेश्‍वरी गुप्‍त महापीठ के महंत आचार्य कुशमुनि को भी अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् के द्वारा फर्जी बाबा घोषित किया गया है। हालांकि परिषद द्वारा इन्हे फर्जी घोषित करने के बाद इन्होने परिषद की कार्यप्रणाली पर ही प्रश्नचिन्ह खड़े कर दिए थे।

आचार्य कुशमुनि से जुड़े अपराध और विवाद

  • आचार्य कुशमुनि को शास्त्र और अखाड़ा नियमों का पालन न करने के कारण फर्जी बाबाओं की सूची में शामिल किया गया था।
  • अखाड़ा परिषद द्वारा इन्हे फर्जी बाबा घोषित किये जाने के पश्चात इन्होने ओंकार अखाड़े का गठन कर लिया था।

ओम नमः शिवाय बाबा (Om Namah Shivay Baba)

ओम नमः शिवाय बाबा को अखाड़ा परिषद के द्वारा फर्जी बाबाओ की सूची में शामिल किया गया है। ओम नमः शिवाय बाबा के द्वारा इस लिस्ट में अपना नाम शामिल किये जाने पर हैरानी भी जताई गयी थी।

ओम नमः शिवाय बाबा से जुड़े अपराध और विवाद

  • ओम नमः शिवाय बाबा को अखाड़ा परिषद के द्वारा फर्जी बाबाओं की लिस्ट में शामिल किया गया था परन्तु कुम्भ मेले में इन्हे सभी प्रकार की सुविधा प्रदान की गयी थी।

बाबा रामपाल (baba Rampal)

बाबा रामपाल के पूरे देश में लाखों की संख्या में अनुयायी है। सिंचाई विभाग में जूनियर इंजीनियर के पद से अपने करियर की शुरुआत करने वाले रामपाल का भविष्य किसी अपराधी की भाँति खत्म हो जायेगा इसकी उम्मीद शायद उनके घरवालों ने भी नहीं की होगी। हत्या, बलवा और अन्य अपराधों में दोष-सिद्धि के लिए इन्हे अदालत द्वारा उम्र कैद ही सजा सुनायी जा चुकी है।

बाबा रामपाल से जुड़े अपराध और विवाद

  • वर्ष 2006 में आर्य समाज पर विवादस्पद टिप्पणी के पश्चात हुयी झड़प में आर्य समाज के समर्थक की मृत्यु के बाद इन पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया।
  • 2008 में इन्हे गिरफ्तार किया गया जिसके बाद ये बेल पर बाहर आ गए। परन्तु बाद में नियमित पेशी पर ना आने के कारण 2014 में इन्हे कोर्ट द्वारा पुनः गिरफ्तार करने के आदेश दिए गए।
  • 2014 में इन्हे गिरफ्तार करने गयी पुलिस का रामपाल के समर्थको के साथ खूनी संघर्ष हुआ जिसमे कई लोगो की जान चली गयी। इसी क्रम में पुलिस की जांच में इनके आश्रम में 5 महिलाओं एवं एक बच्चे का मृत शरीर भी मिला था।
  • वर्ष 2018 में विभिन मामलों में इन पर आरोप सिद्ध होने के पश्चात इन्हे उम्र कैद की सजा सुनाई गई है।

इस प्रकार से इस आर्टिकल के माध्यम से आपको अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् के द्वारा जारी की गयी फर्जी बाबाओं की सूची प्रदान की गयी है। हमारे देश में समय-समय पर ऐसे बाबाओं का नाम चर्चा में आता रहता है जिनके द्वारा गंभीर अपराधों को अंजाम दिया गया है और इसके लिए अधिकतर बाबाओं को न्यायालय के द्वारा दोषी भी ठहराया गया है। इन फर्जी बाबाओं के द्वारा समाज में अपराध को बढ़ावा मिलता है और लोगो की आस्था से भी खिलवाड़ होता है। ऐसे में सभी लोगो को ऐसे बाबाओं के झाँसे में आने से बचने के लिए अपने विवेक का प्रयोग करना चाहिए।

फर्जी बाबाओं सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

फर्जी बाबाओं सम्बंधित सूची किसके द्वारा जारी की गयी है ?

फर्जी बाबाओं सम्बंधित सूची अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् के द्वारा जारी की गयी है।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् क्या है ?

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् भारत में साधु-संतो का सबसे बड़ा अखाड़ा है जो की साधु-संतो को मान्यता प्रदान करता है।

देश के फर्जी बाबा कौन-कौन से है ?

देश के फर्जी बाबाओ की जानकारी प्राप्त करने के लिए ऊपर दिया गया आर्टिकल पढ़े। यहाँ आपको सम्बंधित जानकारी प्रदान की गयी है।

फर्जी बाबाओ का चयन किस प्रकार किया गया है ?

फर्जी बाबाओ का चयन बाबाओं के ऊपर लगे आरोपों और मुकदमों के आधार पर किया गया है।

क्या इन फर्जी बाबाओं को न्यायालय में दोषी पाया गया है ?

हाँ। फर्जी बाबाओं की सूची में शामिल अधिकतर बाबाओं की अदालत द्वारा दोषी करार दिया गया है जैसे-आशाराम बापू, संत राम रहीम, संत रामपाल आदि। अन्य बाबाओं पर मुकदमा विचारधीन है।

Leave a Comment