Kisan Fasal Yojana: अब किसानों को मिलेगा 15 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा, जानिए कैसे

Kisan Fasal Yojana: भारत सरकार देश के किसानों की आय में बढ़ोतरी करने व उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए बहुत सी योजनाओं की शुरुआत करती है। किसान फसल योजना भी किसानों को फसलों के नुक्सान पर आर्थिक सहयोग प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की एक लाभकारी योजना है, जिसके माध्यम से सरकार किसानों को प्राकृतिक आपदा के चलते फसलों के होने वाले नुक्सान से राहत प्रदान करने के लिए मुआवजे के तौर पर आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी, जिससे किसानों को उनकी फसलों के बर्बाद होने पर आर्थिक समस्या का सामना ना करना पड़े।

किसानों को मिलेगा 15 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा

इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा पीएम फसल योजना बीमा योजना के नाम से शुरू किया गया था। जिसमे सरकार देश के किसानों को उनकी फसलों के हुए नुक्सान की भरपाई के लिए मुआवजे के तौर पर 15,000 रूपये की सहायता राशि प्रति एकड़ भूमि के तहत प्रदान करवा रही है, जिसमे केंद्र एवं राज्य सरकार दोनों मिलकर किसानों को आर्थिक लाभ उनकी फसलों की हुई क्षति के आधार पर प्रदान करवाती है। किसान फसल योजना के तहत किसानों द्वारा अपनी फसलों के किये गए बीमा पर उन्हें आपदा के समय फसलों के हुए नुक्सान की मुआवजे के लिए सहायता राशि जारी की जाती है।

फसल बीमा योजना के तहत किसानों को मिलने वाली आर्थिक सहायता राशि सीधे उनके बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी, जिससे किसान अपनो खेती के लिए गए खर्च की भरपाई आसानी से कर सकेंगे। हरियाणा सरकार द्वारा भी किसानों को पहले योजना के अंतर्गत होने वाले नुक्सान पर मुआवजे के तौर पर 10 से 12 हजार रूपये की राशि प्रदान की जाती थी, जिसे अब सरकार द्वारा 25% तक बढाकर तक 15000 रूपये कर दिया गया है।

फसलों के नुक्सान के आधार पर दी जाएगी मुआवजा राशि

किसानों को Kisan Fasal Yojana के अंतर्गत उनकी फसल के हुए नुक्सान पर निर्धारित मुआवजे की राशि प्रदान की जाएगी जिसकी जानकारी वह यहाँ से प्राप्त कर सकेंगे।

  • फसल बीमा योजना के तहत किसानों को सरकार द्वारा प्राकृतिक आपदा के कारण बर्बाद होने वाली फसलों की भरपाई के लिए 15000 रूपये तक की आर्थिक सहायता प्राप्त हो सकेगी।
  • योजना में दी जाने वाली 15000 रूपये की आर्थिक सहायता राशि आवेदक किसानों को गेहूँ, धान, गन्ना और कपास के 75% फसल के नुक्सान पर प्रदान किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा फसलों के मुआवजें को तीन भागों में विभाजित किया गया है जिसमें 25% से 75% या इससे अधिक फसलों के नुक्सान के आधार पर किसानों को मुआवजा दिया जाता है।
  • हरियाणा सरकार द्वारा किसानों को लाभान्वित करने के लिए इसकी मुआवजे की राशि को 10,000 से बढाकर 15,000 रूपये कर दिया गया है।
  • योजना में अन्य फसलों के नुक्सान पर किसानों को 12,500 रूपये तक की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है, जिसका सीधा लाभ आवेदकों को उनके बक खातों में ट्रांसफर किया जाएगा।
  • किसान फसल बीमा योजना के तहत आवेदक किसान को बागबानी और वाणिज्यिक फसलों के लिए किसानों को केवल 5% प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

किसान फसल योजना के आवेदन के लिए आवशयक दस्तावेज :-

योजना के आवेदन हेतु आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए –

  • आवेदक किसान का राशन कार्ड
  • किसान का पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ
  • किसान का बैंक खाता जो किसान के आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए ।
  • आवेदक किसान का निवास प्रमाण पत्र
  • यदि किसान ने कृषि के लिए खेती की जाने वाली भूमि किसी से किराये पर ली हुई है तो किसान का खेत के मालिक के साथ हुए एग्रीमन्ट की फोटोकापी
  • आवेदक किसान के खेत का खसरा नंबर
  • आवेदक किसान का मतदाता पहचान पत्र

Kisan Fasal Yojana से संबंधित रिपोर्ट :-

किसान फसल योजना से जुड़े आँकड़ें :-

क्रम संख्या योजना से संबंधित योजना से जुड़े आँकड़े
1Total Farmers96,87,436
2Total Application3,25,84,685
3Loanee Applications2,39,91,467
4Non Loanee Applications85,93,218
5Sum Insured7,60,18,16,54,329
6Area Insured1,48,56,956 हेक्टेयर
7Total Insurance Company10
8Total Bank Branches, CSC – VLE’s25,724 – 31,846

किसान नागरिक यहाँ कर सकते है आवेदन

यदि आप भी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आप अपने नजदीकी बैंक शाखा, सहकारी समिति-जन सेवा केंद्र, किसी इंश्योरंस कंपनी, कृषि कार्यालय या तो PMFBY की आधिकारिक वेबसाइट www.pmfby.gov.in पर जाकर योजना का आवेदन कर सकते है।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट www.crpfindia.com को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment