कच्ची हल्दी के फायदे- Kacchi Haldi Ke Fayde

आज इस लेख में हम आप को कच्ची हल्दी से होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। Kacchi Haldi Ke Fayde जानकर आप भी इसका नियमित प्रयोग कर सकते हैं। कच्ची हल्दी का नियमित सेवन से न केवल आप को छोटी मोटी समस्याओं में लाभ होगा बल्कि आप की रोग – प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होगी। यही नहीं आप को हल्दी के इस्तेमाल से बहुत से अन्य खतरनाक बीमारियों से भी राहत मिलेगी। आइये जानते हैं कच्ची हल्दी के फायदे अब विस्तार से –

सूजी के उपयोग, फायदे और नुकसान | Suji Ke Fayde Aur Nuksan

कच्ची हल्दी के फायदे- Kacchi Haldi Ke Fayde
कच्ची हल्दी के फायदे- Kacchi Haldi Ke Fayde

कच्ची हल्दी के फायदे : Kacchi Haldi Ke Fayde

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत : कच्ची हल्दी से आप के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ती है। नियमित अच्छी हल्दी के उपयोग से आप की इम्युनिटी बूस्ट होगी। जिससे आप कई बीमारियों से ग्रसित होने से बच सकते हैं।
  • कैंसर से बचाव : आप की जानकरी के लिए बता दें की कच्ची हल्दी में करक्यूमिन तत्व पाए जाते हैं जो की कैंसर कोशिकाओं को शरीर में बढ़ने से रोकते हैं। कच्ची हल्दी में एंटी कैंसर गुण होते हैं जो महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर और पुरुषों में होने वाले प्रोस्ट्रेट कैंसर को रोकने में मदद करता है। इसलिए सब को प्रयास करना चाहिए की आप को किसी न किसी रूप में कच्ची हल्दी का प्रयोग करना चाइये। इस तरह से नियमित कच्ची हल्दी के प्रयोग से कैंसर जैसे भयावह बीमारी से बचाव हो जाता है।
  • वजन घटाने में भी सहायक : जो लोग अपने वजन के बढ़ने से परेशान हैं उन लोगों के लिए कच्ची हल्दी बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती है। बता दें की कच्ची हल्दी में करक्यूमिन होता है जो की शरीर का वजन और बॉडी मास इंडेक्स को कम करने में सहायक होता है। करक्यूमिन शरीर में मेटाबोलिक सिंड्रोम जैसे हार्ट डिजीज, स्ट्रोक, मोटापा, डायबिटीज आदि की समस्याओं को कम करता है।इसलिए आप बिना किसी फ़िक्र के कच्ची हल्दी का सेवन कर सकते हैं। साथ ही डायटीशियन के सलाह पर आप उचित मात्रा में इसका प्रयोग अवश्य समझ लें।
  • डायबिटीज में लाभकारी : डायबिटीज के मरीजों के लिए कच्ची हल्दी बहुत ही लाभकारी हो सकती है। इसके प्रयोग से इंसुलिन लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। एक शोध के अनुसार कच्ची हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन ब्लड में ग्लूकोज लेवल को कम करता है। जिससे इन्सुलिन का लेवल भी सुधर सकता है। इस बारे में अपने डायटीशियन से सलाह लेकर आप कच्ची हल्दी का सेवन शुरू कर सकते हैं।
  • सर्दी ज़ुकाम से राहत : कच्ची हल्दी का प्रयोग बदलते मौसम के साथ होने वाले सर्दी ज़ुकाम और गले में खराश की समस्या में बहुत ही लाभकारी है। इस के साथ ही कच्ची हल्दी को दूध के साथ उबालकर पीने से आप को अस्थमा, ब्रोंकाइटिस में भी आराम मिलता है और सूखी खांसी से भी छुटकारा मिलता है। गले में खराश होने पर कच्ची हल्दी को पानी में उबालकर छान लें और इसे पीने से आप को आराम मिलेगा।
  • पाचन शक्ति और लीवर बेहतर होगा: जिन व्यक्तियों को अपच , गैस और पाचन सम्बन्धी कोई समस्या है तो वो कच्ची हल्दी को पानी में उबालकर उसका सेवन कर सकते हैं। हल्दी में करक्यूमिन पाया जाता है और करक्यूमिन में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी गुण के कारण पाचन संबंधी परेशानिया दूर हो जाती है। साथ लिवर की विषाक्तता, फैटी लिवर डिजीज और लिवर सिरोसिस जैसी बीमारियों से भी रहत मिलती है।

गिलोय जूस के उपयोग, फायदे और नुकसान

कच्ची हल्दी के फायदे सम्बंधित प्रश्न

हल्दी के क्या-क्या फायदे होते हैं ?

प्राचीन समय से हल्दी को दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह एक औषधीय गुण वाला पौधा है, कैंसर में यह फायदेमंद है, साथ ही डाइबिटीज में बहुत ही लाभकारी है, वजन कम करता है, कील मुंहासे इस से गायब हो जाते हैं।

खाली पेट सुबह हल्दी खाने से क्या फायदे होते हैं ?

सुबह खाली पेट हल्दी खाने से पाचन शक्ति को मजबूत होती है और साथ ही यह पित्ताशय थैली को उत्तेजित करने में मदद करती है। इस से पाचन तंत्र और अधिक कुशल होता है।

हल्दी वाला दूध पीना कब फायदेमंद रहता है ?

जिन लोगों को पेट की समस्या जैसे:- ब्लोटिंग की समस्या, पेट में गैस, सीने में जलन आदि रहती है। वो हल्दी वाला दूध पीकर इसे ठीक कर सकते हैं।

हल्दी के साइड इफ़ेक्ट क्या होता हैं ?

हल्दी का ज्यादा सेवन न करें क्योंकि ज्यादा सेवन करने से शरीर में खून की कमी होती है। यह खून का थक्का जमने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। ऐसे लोगों जिन्हें नाक से खून निकलने या शरीर से किसी हिस्से से खून निकलने की समस्या है वो हल्दी का इस्तेमाल कम करे।

Leave a Comment

Join Telegram