Jharkhand E Uparjan 2021: Jharkhand kisan registration कैसे करें ?

Jharkhand E Uparjan :- दोस्तों आज हम बात करने जा रहें हैं झारखंड सरकार द्वारा राज्य के किसान भाइयों को लाभान्वित करने हेतु आरम्भ किए गए Jharkhand E Uparjan Portal की जिसे ख़ास तौर पर राज्य के किसानों को उनकी धान व अन्य फसलों को बेचने के साथ-साथ विक्रय फसल पर सही मूल्य प्रदान करने के लिए किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से किसानों को अपनी फसल की बिक्री करने हेतु अपना पंजीकरण करवाना होगा, जिसके बाद उनकी फसलों की खरीद राज्य सरकार द्वारा उचित मूल्य पर की जाएगी, इससे किसानों की आय में वृद्धि हो सकेगी और उन्हें अपनी फसलों की बिक्री के लिए यहाँ-वहाँ भटकने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। राज्य के किसानों को ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करने पर क्या-क्या सुविधाएँ उपलब्ध होंगी, इसमें पंजीकरण हेतु उन्हें कौन से दस्तावेजों व पात्रता की आवश्यकता होगी और वह किस तरह पोर्टल पर खुद को पंजीकृत कर सकेंगे इससे जुडी सभी जानकारी आवेदक हमारे लेख के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे।

झारखंड-ई-उपार्जन-पोर्टल

इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के जो भी किसान अपनी फसलों की बिक्री के लिए आवेदन करना चाहते हैं वह आसानी से घर बैठे ही इसकी आधिकारिक वेबसाइट uparjan.jharkhand.gov.in पर अपना पंजीकरण करवाकर अपनी फसलों का उचित मूल्य प्राप्त कर सकेंगे।

ई-उपार्जन पोर्टल झारखंड 2021

ई-उपार्जन पोर्टल के माध्यम से राज्य सरकार का मुख्य लक्ष्य उन सभी कृषि से जुड़े किसानों को उनकी फसलों के विक्रय पर उचित मूल्य प्रदान करवाना है, जिन्हे कई बार बेहतर फसलों के उत्पादन होने के बाद भी बिक्री के समय सही मूल्य प्राप्त नहीं हो पाता, जिससे उन्हें काफी नुक्सान उठाना पड़ता है, ऐसे सभी किसानो को उनकी फसलों की खरीद करके उन्हें लाभ प्रदान करवाने के लिए सरकार इन्हे ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करने की सुविधा उपलब्ध करवा रही है जिससे किसान अपनी फसलों को सही कीमत पर बेचकर बेहतर आय अर्जित कर सकेंगे इसके लिए पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की फसलों के विक्रय की सभी जानकारी दर्ज की जाएगी, जिसमें आवेदक किसानों के फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद हो सकेगी।

Jharkhand E Uparjan 2021: Details

पोर्टल का नाम Jharkhand E Uparjan Portal
शुरू किया गया झारखंड सरकार द्वारा
वर्ष 2021
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानों को उनकी फसलों की बिक्री की सुविधा उपलब्ध करवाना
श्रेणीराज्य सरकारी योजना
ऑफिसियल वेबसाइट uparjan.jharkhand.gov.in

झारखंड ई उपार्जन पोर्टल के लाभ एवं विशेषताएँ

इस पोर्टल पर राज्य के सभी पंजीकृत किसानों को मिलने वाले लाभ की जानकारी वह यहाँ से प्राप्त कर सकेंगे।

  • झारखंड ई उपार्जन पोर्टल के माध्यम से सरकार राज्य के किसानों को उनकी फसलों के बिक्री के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध करवा रही है।
  • इस पोर्टल पर राज्य के कोई भी किसान अपनी धान की फसल बिक्री कर उसे बेहतर दामों पर बेचकर बेहतर आय अर्जित कर सकेंगे।
  • राज्य के किसान पोर्टल के माध्यम से आवेदन कर घर बैठे ही खुद को पंजीकृत कर सकेंगे, इससे उन्हें अपनी फसलों के बिक्री के लिए कही और जाने की आवश्यकता नहीं पडेगी।
  • सरकार द्वारा किसान को उनकी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रदान कर उनकी आय में वृद्धि की जाएगी।
  • आवेदक किसानों के फसल की खरीद विभिन्न क्षेत्रों से ब्लॉक के LAMPAS के माध्यम से की जाएगी।

झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल का उद्देश्य

सरकार द्वारा इस पोर्टल को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों उनकी फसलों की बिक्री करने में सहयोग देने के लिए किया गया है, जिससे किसानों को उनकी फसलों को बेचने में होने वाली समस्या को खत्म किया जा सकेगा। इसके लिए सरकार किसानों को पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण कर अपनी फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने का लाभ प्रदान करवा रही है, जिससे किसानों को मजबूरी या परेशानी में अपनी फसलों को बाहर से कम दामों में बेचने की आवश्यकता न पड़े और वह अपनी फसलों की सही कीमत प्राप्त कर बेहतर आय अर्जित कर सकें, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार में भी सुधार हो सकेगा।

E Uparjan झारखंड रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

राज्य के जो भी किसान E Uparjan Portal पर दी जाने वाली सुविधा का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, वह अपना रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए यहाँ बताई गई प्रक्रिया को पढ़कर रजिस्ट्रेशन पूरा कर सकेंगे।

  • आवेदक को सबसे पहले ई-उपार्जन खाद्य, सार्वजानिक वित्तरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको किसान पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करना होगा। ई-उपार्जन-पोर्टल-ऑफिसियल
  • इसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा। फार्मर्स-रजिस्ट्रेशन-फॉर्म
  • यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे आपका जिला, MSP Center, नाम, मोबाइल नंबर, आधार नंबरऔर पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • अब डिक्लेरेशन बॉक्स में टिक करके आपको Submit के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • इस प्रकार आपकी ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • अब पंजीकरण के बाद आपको किसान लॉगिन करना होगा, इसके लिए आपको अपनी ईमेल आईडी या फ़ोन नंबर और पासवर्ड दर्ज करके लॉगिन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी। झारखंड-ई-उपार्जन-किसान-लॉगिन
  • अब अगले पेज पर डैशबोर्ड में आपको Fill Details के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे आपका आधार नंबर, मोबाइल नंबर, जिला,ब्लॉक, पंचायत, गाँव, पिता का नाम, बैंक की डिटेल्स भरनी होगी। रजिस्ट्रेशन-ई-उपार्जन-पोर्टल
  • अब आपको फॉर्म में माँगे गए दस्तावेज जैसे आपका आधार कार्ड और अपनी बैंक पासबुक की स्कैन कॉपी को अपलोड कर Submit के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • अब आपको अपनी बैंक की डिटेल्स जैसे आपका जिला, लैंड टाइप, सर्किल, हल्का, गाँव आदि दर्ज करके अपडेट के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।
  • जिसके बाद आपको आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर आपका रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त हो जाएगा, जिसका उपयोग आप धान की बिक्री के लिए कर सकेंगे।
  • धान विक्रय की तिथि किसानों को उनके फ़ोन में मैसेज द्वारा प्राप्त हो जाएगी। धान विक्रय के बाद उन्हें उसकी की रिसीप्ट प्रदान कर एक हफ्ते के भीतर उनके फसलों की बिक्री का भुगतान कर दिया जाएगा।
उपार्जन पंजीकरण प्रक्रिया

जो आवेदक पोर्टल पर उपार्जन पंजीकरण करना चाहते है, वह यहाँ बताई गई प्रक्रिया को पढ़कर इसमें आवेदन कर सकेंगे।

  • सबसे पहले ई-उपार्जन पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको उपार्जन पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद अगले पेज पर आपको User Type (उपयोगकर्ता प्रकार) में दिए गए विकल्पों में से अपनी सुविधानुसार किसी एक विकल्प का चयन करके एजेंसी का चयन करके Submit के बटन पर क्लिक कर देना होगा। उपार्जन-रजिस्ट्रेशन
  • जिसके बाद आपको आपके मोबाइल नंबर एक ओटीपी प्राप्त होगा, जिसे आपको ओटीपी बॉक्स में दर्ज करके चेक ओटीपी के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह आपकी उपार्जन पंजीकरण करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

उपार्जन लॉगिन प्रक्रिया

उपार्जन लॉगिन करने के लिए आवेदक दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • आवेदक को सबसे पहले ई-उपार्जन पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको उपार्जन लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद अगले पेज पर आपके सामने लॉगिन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको लॉगिन डिटेल्स जैसे अपना मोबाइल नंबर, पासवर्ड और दिए गए कैप्चा कोड को दर्ज करना होगा।
  • इस तरह आपकी उपार्जन लॉगिन प्रक्रिया खुलकर आ जाएगी।

ई-उपार्जन पोर्टल पंजीकरण किसान लिस्ट देखने की प्रक्रिया

इस पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की लिस्ट देखने के लिए आवेदक दी गई प्रक्रिया को पढ़कर किसान लिस्ट देख सकेंगे।

  • सबसे पहले ई-उपार्जन पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको ऑनलाइन सेवा के सेक्शन में किसानों की सूचि के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुलकर आ जाएगा, जिसमे आपको अपना डिस्ट्रिक्ट, ब्लॉक, पंचायत, ग्राम आदि का चयन करना होगा। किसान-विवरण-लिस्ट
  • अब सारी जानकारी भरकर आपको खोजें के बटन पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आपके सामने पूरा विवरण खुलकर आ जाएगा।
  • इस तरह आपकी पंजीकरण किसान लिस्ट देखने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

भुगतान विवरण देखने की प्रक्रिया

जो आवेदक किसान भुगतान विवरण की जानकारी देखना चाहते हैं, वह पोर्टल पर भुगतान का विवरण दी गई प्रक्रिया को पढ़कर इसे देख सकेंगे।

  • आवेदक को सबसे पहले ई-उपार्जन पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको भुगतान देखें के विकल्प पर क्लिक करना होगा। ई-उपार्जन-भुगतान
  • इसके बाद अगले पेज पर आपको किसान कोड प्रविष्टि करें के आगे किसान कोड दर्ज करना होगा।
  • किसान कोड दर्ज करके आपको खोजें के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद किसान भुगतान विवरण से संबंधित सभी जानकारी आवेदक की स्क्रीन पर खुलकर आ जाएगी।
  • जिसमे आवेदक अपने भुगतान विवरण की जाँच कर। सकेंगे

E Uparjan Portal पर मोबाइल नंबर चेंज करने की प्रक्रिया

आवेदक यदि पोर्टल पर दर्ज अपने मोबाइल नंबर को चेंज करना चाहते हैं, तो वह दी गई प्रक्रिया को पढ़कर इसे चेंज कर सकेंगे।

  • आवेदक को सबसे पहले ई-उपार्जन पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको ऑनलाइन सेवा के सेक्शन में मोबाइल संख्या बदले के विकल्प पर क्लिक करना होगा।मोबाइल-नंबर-बदले
  • अब अगले पेज पर आपको अपनी फैमिली आईडी दर्ज करके Find के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • अब आपके सामने किसान प्रोफाइल से संबंधित सभी जानकारी खुलकर आ जाएगी, जिसमे आप प्रोफाइल एडिट कर सकेंगे।
  • इसके बाद अपने मोबाइल नंबर को चेंज करने के लिए आपको नए मोबाइल नंबर को दर्ज करना होगा।
  • जिसके बाद आप अपने मोबाइल पर आए ओटीपी संख्या को भरकर वेरीफाई करें और Update के बटन पर क्लिक कर दें।
  • इस तरह आवेदक पोर्टल पर अपने मोबाइल नंबर चेंज/बदल कर सकेंगे।

संपर्क प्रक्रिया

आवेदक यहाँ संपर्क प्रक्रिया की जानकारी प्राप्त कर अपने जिला के संपर्क की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

  • सबसे पहले आवेदक को ई-उपार्जन पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पर आपको ऑनलाइन सेवा में संपर्क करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको अगले पेज में आपको अपने जिले का चयन करना होगा।
  • अब आपके सामने आपके जिले के संपर्क विवरण लिस्ट खुलकर आ जाएगी, जिसमे आपको MSP Center Name, Head Name और मोबाइल नंबर दिया गया होगा।
  • अब इनमे से किसी भी मोबाइल नंबर पर संपर्क करके पोर्टल से जुडी जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।
Jharkhand E Uparjan Portal से जुड़े प्रश्न/उत्तर
झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल का आरम्भ क्यों किया गया है ?

झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल का आरम्भ राज्य सरकार द्वारा किसानों को लाभान्वित करने के लिए किया गया है, जिसके अंतर्गत राज्य के किसानों को पोर्टल पर खुद को पंजीकरण करने पर उनकी धान व अन्य फसलों की बिक्री हेतु सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी, जिससे उन्हें उनकी फसलों की बिक्री पर उचित मूल्य प्रदान किया जाएगा, इससे किसानों के फसलों की बिक्री में होने वाली समस्या खत्म की जा सकेगी।

Jharkhand E Uparjan Portal पर पंजीकरण के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

Jharkhand E Uparjan Portal पर पंजीकरण के लिए आधिकारिक वेबसाइट uparjan.jharkhand.gov.in
है।

पोर्टल पर पंजीकरण के लिए क्या किसी दस्तावेज की आवश्यकता पड़ेगी ?

आवेदक के पास पंजीकरण के समय उनका आधार कार्ड व बैंक की पासबुक होनी आवश्यक है, जिसका विवरण और स्कैन कॉपी उन्हें पंजीकरण के समय अपलोड करनी आवश्यक होगी।

इस पोर्टल का संचालन किस विभाग द्वारा किया जाता है ?

पोर्टल का संचालन खाद्य, सार्वजानिक वित्तरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा किया जाता है।

आवेदक को उनकी फसलों के विक्रय का मूल्य कब प्रदान किया जाएगा ?

पोर्टल पर पंजीकृत किसान द्वारा फसल के विक्रय के एक हफ्ते बाद उन्हें उनकी फसलों की पेमेंट उनके बैंक खाते में जारी कर दी जाएगी।

E Uparjan Portal पोर्टल पर पंजीकरण करने की क्या प्रक्रिया है ?

इस पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया ऊपर लेख में प्रदान कर दी गई है, जिसे पढ़कर आप इसमें आवेदन कर सकेंगे।

झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल से संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और हमे उम्मीद है, की यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी होगी इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न पूछ सकते हैं, हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment