जननी सुरक्षा योजना ऑनलाइन आवेदन 2021 – Janani Suraksha Yojana (JSY)

देश की सभी गर्भवती महिलाओं की सुरक्षा के लिए तथा उन्हें आर्थिक मदद करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा जननी सुरक्षा योजना का प्रारम्भ किया गया है। इस योजना में देश की सभी गर्भवती महिलाएं इस योजना का लाभ ले सकती है जिसके लिए उन्हें योजना में आवेदन करना होगा। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको जननी सुरक्षा योजना के बारे में और एप्लीकेशन फॉर्म तथा Janani Suraksha Yojana में आवेदन कैसे करें बताएंगे यदि आप इन सभी जानकारी को जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

जननी-सुरक्षा-योजना

जननी सुरक्षा योजना 2021

जननी सुरक्षा योजना का प्रारम्भ माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा 12 अप्रैल 2005 में किया गया है। इस योजना के अंतर्गत देश की सभी ग्रामीण तथा क्षेत्रीय गर्भवती महिला को निशुल्क चिकित्सा तथा आर्थिक मदद प्रदान की जाती है जिससे माँ और शिशु दोनों सुरक्षित रहे। योजना के तहत गर्भवती महिला का प्रसव नजदीकी सरकारी अस्पताल या नजदीकी संस्थान में निशुल्क कराया जाता है तथा शिशु होने के बाद प्रसव प्रोत्साहन के रूप में कुछ राशि प्रदान की जाती है।

Janani Suraksha Yojana

योजना जननी सुरक्षा योजना
लाभार्थी देश की सभी गर्भवती महिलाएं
उद्देश्य मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करना
विभाग स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
ऑफिसियल वेब साइट nhm.gov.in

जननी सुरक्षा योजना का उद्देश्य

देश में बहुत से परिवारों की आर्थिक स्थिति सही नहीं होती है जिससे वह महिलाओ की डिलीवरी घर पर ही करवाते थे। घर पर किसी भी प्रकार की सुविधा नहीं होने के कारण गर्भवती महिला और उसके बच्चे की जान पर खतरा होता है तथा अच्छी सुविधा न होने के कारण एवं सही देखभाल नहीं होने के कारण देश में बहुत सी गर्भवती महिलाओं और उनकी शिशु की मृत्यु होती है इस कारण को देख स्वास्थ्य विभाग ने महिलाओं के लिए जननी सुरक्षा योजना का प्रारम्भ किया।

इस योजना का उद्देश्य गर्भवती महिला और उसके शिशु को सुरक्षित रखना है और मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करना है जिसके लिए उन्हें सरकारी अस्पतालों में निशुल्क चिकित्सा तथा शिशु जन्म के बाद कुछ राशि प्रदान की जाती है।

महत्वपूर्ण विशेषताएं
  • इस योजना के तहत गरीब गर्भवती महिलाओं पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
  • इस योजना में कम संस्थागत वाले राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, मध्य प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, झारखंड, उड़ीसा, राजस्थान, जम्मू और कश्मीर को कम प्रदर्शनकारी राज्य LPS के रूप में रखा गया है।
  • अन्य सभी राज्यों को उच्च प्रदर्शनकारी राज्य HPS के रूप में रखा गया है।
  • योजना के तहत पंजीकृत करने वाली महिला को JSY के साथ MCH कार्ड उपलब्ध कराया जाता है।
  • गर्भवती महिला के साथ आशा कार्यकर्त्ता, AWW, ANM आदि होती है जो गर्भवती महिला का चेकअप और डिलीवरी के बाद महिला की मदद करती है।
  • LPS राज्य की सभी गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी सरकारी अस्पताल जैसे जिला स्तर तथा राज्य स्तर पर होने वाले हॉस्पीटल में किया जाता है।
  • HPS राज्य की BPL कार्ड धारक वाली गर्भवती महिलाओं जिनकी आयु 19 वर्ष के अंतर्गत हो उन्हें सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है।
  • LPS और HPS राज्य के SC तथा ST गर्भवती महिलाओं को सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है।
  • योजना के तहत सभी गर्भवती महिलाओं को कुछ न कुछ राशि दी जाती है।
Janani Suraksha Yojana Pay Scale

केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत LPS राज्य तथा HPS राज्य के ग्रामीण क्षेत्र तथा शहरी क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं के लिए संस्थागत अस्पताल द्वारा डिलीवरी करने पर नकद सहायता के रूप में निम्न राशि दी जाती है।

  1. LPS राज्य के ग्रामीण क्षेत्र – LPS राज्य के ग्रामीण क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी होने के बाद 1400 रूपये तथा आशा कार्यकर्त्ता को 600 रूपये की राशि नगद प्रदान की जाती है।
  2. LPS राज्य के शहरी क्षेत्र – LPS राज्य के शहरी क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी होने के बाद 1000 रूपये तथा आशा कार्यकर्त्ता को 200 रूपये की राशि प्रदान की जाती है।
  3. HPS राज्य के ग्रामीण क्षेत्र – HPS राज्य के ग्रामीण क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी होने के बाद 700 रूपये तथा आशा कार्यकर्त्ता को 200 रूपये की राशि प्रदान की जाती है।
  4. HPS राज्य के शहरी क्षेत्र – HPS राज्य के शहरी क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी होने के बाद 600 रूपये तथा आशा कार्यकर्त्ता को 200 रूपये की राशि प्रदान की जाती है।

आशा या अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता की भूमिका

इस प्रक्रिया में हम आपको योजना से जुड़ी आशा कार्यकर्त्ता या अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता की क्या भूमिका होती है या उनका क्या कार्य होता है बताने जा रहे है यदि आप इन सभी जानकारी को जानना चाहते हैं तो इसे ध्यान से पढ़े।

  • सर्वप्रथम योजना लाभार्थी के रूप में गर्भवती महिला की पहचान करना और रिपोर्ट करना है तथा ANC के लिए पजीकरण की सुविधा उपलब्ध करवाना।
  • पंजीकरण करने के लिए आवश्यक प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए गर्भवती महिला की मदद करना।
  • TT इंजेक्शन, IFA दवाई तथा कम से कम 3, ANC चेकअप करने में मदद करना।
  • गर्भवती महिला की डिलीवरी के लिए एक नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र या नजदीकी मान्यता प्राप्त संस्था की पहचान करना तथा सस्था या केंद्र से डिलीवरी के लिए संपर्क करना है।
  • गर्भवती महिला को स्वास्थ्य केंद्र तक ले जाना तथा महिला की छुट्टी होने तक उसके साथ रुकना।
  • शिशु होने के 14 हफ्ते तक टीकाकरण करने की व्यवस्था करना।
  • ANM/ MO को बच्चे और माँ के जन्म और मृत्यु की सुचना पहुंचना।
  • डिलीवरी होने के 7 दिन बाद तक महिला और शिशु की स्वास्थ्य पर नजर रखना तथा आवश्यकता पड़ने पर देखभाल करना।
  • लाभार्थी महिला को स्वास्थ्य सम्बन्धित जानकारी देना तथा परिवार नियोजन को बढ़ावा देना आदि कार्य हैं।

जननी सुरक्षा योजना के लिए पात्रता

इस प्रक्रिया में हम आपको जननी सुरक्षा योजना के लिए दिए गए पात्रता मानदंडों के बारे में बताने जा रहे है जो महिलाएं इन पात्रता मानदंड के अनुरूप हो वह इस योजना में आवेदन कर लाभ उठा सकती हैं।

  1. जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत LPS राज्य की सभी गर्भवती महिलाएं पात्र होंगी।
  2. HPS राज्य की BPL कार्ड धारक को ही इस योजना के लिए पात्र होंगी।
  3. सभी SC तथा ST वर्ग गर्भवती महिलाये योजना के आवेदन कर सकती है।
  4. 19 वर्ष से अधिक आयु वाली महिलाये ही इस योजना के लिए पात्र होंगी।
  5. 2 से अधिक शिशु को जन्म देनी वाली महिला इस योजना के लिए पात्र नहीं होती है।
योजना का लाभ
  • योजना का लाभ देश की सभी गर्भवती महिलाओ को होता है।
  • इस योजना का लाभ आशा कार्यकर्त्ताओ या संस्था से जुड़ी महिला को भी होता है।
  • इससे गर्भवती महिला तथा शिशु को सुरक्षित जन्म देने के अवसर बढ़ जाते हैं।
  • योजना से मातृ और शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी।
  • योजना से जुड़ी गर्भवती महिला को डिलीवरी के बाद सरकार से राशि मिलती है।
  • सरकारी अस्पताल से डिलीवरी करने पर महिला से किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाता है।
  • शिशु को जन्म के बाद लगने वाले टीके निशुल्क लगवाये जाते हैं।
आवश्यक दस्तावेज

इस प्रक्रिया में हम आपको योजना में आवेदन करने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ सकती है बताने जा रहे हैं यदि आप जननी सुरक्षा योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास निम्न दस्तावेज का होना आवश्यक है।

  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • BPL राशन कार्ड
  • SC/ST वर्ग प्रमाणित पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पंजीकृत मोबाइल नंबर
  • बैंक पासबुक

जननी सुरक्षा योजना के लिए आवेदन कैसे करें ?

जननी सुरक्षा योजना में आप ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते हैं क्योकि योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की किसी भी प्रक्रिया को प्रारम्भ नहीं किया गया है। इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र जाना होगा। स्वास्थ्य केंद्र द्वारा आपको योजना का आवेदन फॉर्म उपलब्ध करा दिया जायेगा। इसके बाद आप सभी जानकरी को भर कर तथा मांगे गए दस्तावेजों को फॉर्म से साथ संलगन कर दे और स्वास्थ्य केंद्र में जमा कर दें। आपका पंजीकरण पूर्ण हो जायेगा। जननी सुरक्षा योजना से सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए आप स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ऑफिसियल वेब साइट पर जाकर जननी सुरक्षा योजना फॉर्म को डाउनलोड कर सकते हैं।

जननी सुरक्षा योजना से सम्बंधित प्रश्न

जननी सुरक्षा योजना क्या है ?

जननी सुरक्षा योजना देश की सभी गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित रखने और संस्थागत डिलीवरी को बढ़ावा देने के लिए प्रारम्भ की गयी एक योजना है।

जननी सुरक्षा योजना का उद्देश्य क्या है ?

योजना का मुख्य उद्देश्य मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करना तथा गरीब महिलाओं की आर्थिक मदद करना मुख्य है।

क्या इस योजना के तहत महिलाओं को निशुल्क डिलीवरी कराई जाती है ?

हाँ, इस योजना के तहत महिलाओं को निशुल्क डिलीवरी कराई जाती है।

क्या SC/ ST महिलाओं के लिए BPL कार्ड की आवश्यकता होती है ?

नहीं, SC/ ST महिलाओं के लिए BPL कार्ड की आवश्यकता होती है।

क्या गर्भवती महिला के साथ आशा कार्यकर्त्ता का होना आवश्यक है ?

हाँ, गर्भवती महिला की देखभाल करने के लिए आशा कार्यकर्त्ता का होना आवश्यक है।

Leave a Comment