Income Tax Calculator: 10 लाख तक सैलरी पर नहीं लगेगा टैक्स, ऐसे करें प्लानिंग और कैलकुलेशन

Income Tax Calculator: हमारे देश में सभी लोग जितना कमाते हैं उसका कुछ प्रतिशत सरकार को टैक्स के रूप में देते हैं। जो व्यक्ति जितना कमाता है उसे उसकी कमाई के अनुसार ही टैक्स भरना पड़ता है। यह टैक्स आपकी सालाना इनकम के अनुसार ही लगाया जाता है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि यदि आपकी सालाना इनकम 10 लाख है तो आप टैक्स देने से कैसे बच सकते हैं। यदि आप भी टैक्स देते हैं तो ये जानकारी आपके लिए बहुत ही लाभदायक होने वाली है। तो इस लेख को अंत तक पढ़ें और जानकारी लेकर इसका लाभ उठाएं।

क्या होता है इनकम टैक्स कैलकुलेटर

अपनी आय पर लगने वाले टैक्स की गणना करना एक जटिल काम है किन्तु आप इसे इनकम टैक्स कैलकुलेटर के मध्य से आसानी से कर सकते हैं। इनकम टैक्स कैलकुलेटर एक ऑनलाइन टूल है। जिससे कोई भी टैक्स देने वाला व्यक्ति अपने टैक्स की गणना करके अनुमान लगा सकता है। इनकम टैक्स कैलकुलेटर के माध्यम से आप आसानी से अपनी आय पर लगने वाले टैक्स की गणना कर सकते हैं।

10 लाख रूपये है आय तो नहीं देना होगा टैक्स

यदि आप सोचते हैं की आप अपनी आय पर लगने वाले टैक्स से नहीं बच सकते हैं और बस आप टैक्स दिए जा रहे हैं तो हम आपको बता दें कि आप अपनी आय पर लगने वाले टैक्स से बच सकते हैं। जी हाँ यदि आपकी सालाना आय 10 लाख या 10.5 लाख भी है। तब भी आप इनकम टैक्स देने से बच सकते हैं। आपकी सालाना आय 10.5 लाख होते हुए भी आप बिना किसी टैक्स के रह सकते हैं। बस इसके लिए आपको अपने खर्चों को इस प्रकार हैंडल करना होगा कि उस पर मिल रही टैक्स छूट का आप पूरा पूरा फायदा उठा सकें। आईये आपको बताते हैं की आप कैसे टैक्स देने से बच सकते हैं।

माना की आपकी उम्र 60 वर्ष है और आपकी सालाना इनकम 10.5 लाख है अर्थात आप 30% स्लैब में आते हैं।

  • सबसे पहले आप स्टैंडर्ड डिडक्शन के रूप में 50,0000 रुपये घटा दीजिए
  • अर्थात अब आपके 10,00,000 रुपये हैं।
  • इसके बाद 80C के तहत आप 1.5 लाख रुपये बचा सकते हैं. इसमें आप दो बच्चों के ट्यूशन फीस के और EPF, PPF, ELSS, NSC में निवेश के रूप में आप सालाना 1.5 लाख रुपये तक की धनराशि पर इनकम टैक्स में छूट प्राप्त कर सकते हैं।
  • तो अब आपके 8,50,000 रुपये हैं।
  • अब यदि आप अपनी आय में से NPC अर्थात नेशनल पेंशन सिस्टम में सालाना 50,000 रुपये तक इन्वेस्ट करते हैं तो इनकम टैक्स कानून के सेक्शन 80CCDके तहतआपका अलग से इनकम टैक्स बच सकता है।
  • तो अब आपके 8,00,000 रुपये हैं।
  • अब यदि आपने अपने घर के लिए होम लोन लिया है तो इनकम टैक्स के सेक्शन 24B के तहत आप 2 लाख के ब्याज पर टैक्स छूट प्राप्त कर सकते हैं।  
  • तो अब आपके 6,00,000 रुपये हैं।
  • अब आप इनकम टैक्स के सेक्शन 80D के तहत जीवनसाथी, बच्चों और अपने लिए निवारक स्वास्थ्य देखभाल चेक-अप की लगत सहित हेल्थ इंश्योरेंस में इन्वेस्ट करने के लिए 25,000 रुपये तक टैक्स छूट प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ साथ यदि आप अपने माता-पिता के लिए हेल्थ इंश्योरेंस खरीदते हैं, तो 50,000 रुपये तक और भी अधिक टैक्स छूट पा सकते हैं।
  • अब आपके 5,25,000 रुपये है।
  • इनकम टैक्स के सेक्शन 80G के तहत आप किसी भी संस्था को दान के रूप में यदि आपने कोई धनराशि दी हो तो उसपर टैक्स डिडक्शन क्लेम कर सकते हैं। मान लीजिए आपने 25,000 रुपये का चंदा दिया तो इस पर टैक्स छूट ले सकते हैं। ध्यान रहे आपको सबूत के तौर पर दान की धनराशि के कागजों को दिखाना होगा।
  • तो अब आपके 5,00,000 रुपये हैं।  
  • आपकी टैक्स देनदारी 12,500 रुपये होगी। अब चूंकि छूट 12,500 रुपये की है, इसलिए उसे 5 लाख वाले स्लैब में शून्य टैक्स का भुगतान करना होगा।
  • अब आपका कुल टैक्स डिडक्शन 5,00,000 रुपए है।
  • और नेट इनकम 5,00,000
  • तो अब आपका देय टैक्स 0 रुपये होता है।

Leave a Comment