IAS Salary – IAS Officer Salary Structure

IAS officer सैलरी | IAS अफसर salary | How to become an IAS officer | UPSC की तैयारी कैसे करें

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित की जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती है। इस परीक्षा को पास करने के बाद ही कोई व्यक्ति IAS अफसर बन सकता है। हमारे देश की प्रशासनिक व्यवस्था में आईएएस अफसरो को ओहदा सबसे बड़ा माना जाता है ऐसे में लोगो के मन में अकसर ये सवाल रहता है की आईएएस अफसरों को कितनी सैलरी (IAS Officer Salary) मिलती है। आईएएस अफसरों को किस-किस प्रकार की सुविधाएं मिलती है। अगर आप भी इन सवालों के जवाब जानना चाहते है तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इन सभी तथ्यों से रूबरू करवाने वाले है। साथ ही अगर आप आईएएस (How to become an IAS officer) बनना चाहते है तो इस लेख में आपको आईएएस बनने के लिए पूरी प्रक्रिया से भी अवगत कराया जायेगा।

IAS Officer Salary details
IAS Officer Salary

IAS ऑफिसर को इज्जत के साथ-साथ अच्छी सैलरी और कई प्रकार की सुविधाएं भी मिलती है। इस पद को प्राप्त करने के लिए लोगो को बहुत मेहनत करनी पड़ती है क्योकि आईएएस ऑफिसर बनने के लिए देश की सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक UPSC को क्लियर करना पड़ता। इसे क्लियर करने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत लगती है। हर साल इस परीक्षा को क्लियर करने के लिए लाखो बच्चे कोशिश करते है पर क्लियर बहुत ही काम कर पाते है। उनमे से भी आईएएस में जाने वाले युवा बहुत कम होते है। IAS अधिकारी विभिन्न मंत्रालयों और प्रशासन के विभागों में नियुक्त किये जाते है। कैबिनेट सचिव [Cabinet Secretary] एक IAS अधिकारी के लिए सबसे वरिष्ठ पद होता है।

यह भी देखें :- IAS Full Form In Hindi – आईएएस को हिंदी में क्या कहते हैं?

IAS Officer की सैलरी

IAS officer को 7वे वेतन आयोग के अनुसार मूल वेतन 56100 रुपये मिलता है। उसके अलावा उन्हें यात्रा ,महंगाई समेत कई अन्य भत्ते भी प्रदान किये जाते है। जानकारी के मुताबिक ,आईएएस अधिकारी को प्रति माह 1 लाख रुपये से ज्यादा सैलरी मिलती है। कैबिनेट सचिव के पद वाले ऑफिसर को करीब 2.5 लाख रुपये प्रतिमाह वेतन मिलता है। कैबिनेट सचिव के पद पर आईएएस अधिकारी को सबसे ज्यादा वेतन मिलता है। इसके अतिरिक्त भी आईएएस अफसरो को कई प्रकार की सुविधायें प्रदान की जाती है।

IAS Office को प्रदान की जाने वाली सुविधाएं

आईएएस अफसर को सैलरी के अलावा भी कई सुविधाएं प्राप्त करवाई जाती है। आईएएस अधिकारिओं के लिए अलग अलग पेै बैंड है, जिनमे जूनियर स्केल ,सीनियर स्केल टाइम स्केल शामिल है। किसी आईएएस अधिकारी को बेसिक सैलरी और ग्रेड पे के अलावा कई प्रकार के अलाउंस भी दिए जाते है जैसे की डियरनेस अलाउंस, हाउस अलाउंस, मेडिकल अलाउंस और कन्वेन्स अलाउंस भी मिलता है। पे-बैंड के आधार पर ही आईएएस अधिकारिओं को घर के लिए रसोइये की सुविधा भी दी जाती है। अगर अधिकारी को पोस्टिंग के दौरान कही जाना पड़े तो वहां पर जाने के लिए उन्हें गाड़ी और ड्राइवर भी मिलता है और साथ ही रहने के लिए सरकारी घर भी दिया जाता है।

आईएएस का फुल फॉर्म क्या है – Full Form of IAS in Hindi 

7th Pay के पश्चात IAS अधिकारियो की सैलरी

7th Pay कमीशन के मुताबिक़ अब एक IAS ऑफिसर को उसके बेसिक वेतन और TA ,DA ,HRA के अनुसार ही प्राप्त होगी। हर प्रमोशन के बाद IAS की सैलरी भी बढ़ाई जायेगी।

सैलरी लेवल बेसिक सैलरी सेवा में जरूरी वर्षों की संख्या पद
10 56,100 /-1-4 वर्ष SDM/अवर सचिव /सहायक सचिव
11 67,700 /-5-8 वर्ष ADM/अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट /उप सचिव /अवर सचिव
12 78,800 /-9-12 वर्ष DM /जिला मजिस्ट्रेट /संयुक्त सचिव /उप सचिव
13 1,18,500 /-13-16 वर्ष DM /जिला मजिस्ट्रेट /विशेष सचिव /निदेशक
14 1,44,200 /-16-24 वर्ष डिवीजनल कमिश्नर /सचिव सह आयुक्त /संयुक्त सचिव
15 1,82,200 /-25-30 वर्ष प्रमुख सचिव /अपर सचिव
16 1,44,200 /-30-33 वर्ष अपर मुख्य सचिव
17 2,05,400 /-35-36 वर्ष प्रमुख शासन सचिव /सचिव
18 2,25,000 /-37+वर्ष भारत के कैबिनेट सचिव

IAS कैसे बने ? स्टेप बॉय स्टेप्स प्रोसेस

जैसा की आप सभी को पता है की IAS [Indian Administration Service] यानि भारतीय प्रशासनिक सेवा भारत के सर्वश्रेष्ठ पदों में से एक है। इसकी परीक्षा देश की सबसे मुश्किल परीक्षाओ में से एक है। आईएएस ऑफिसर बनने के लिए आपको एक एग्जाम देना होगा जो की आल इंडिया सिविल सर्विस एग्जाम होता है जिसको UPSC [संघ लोक सेवा आयोग] द्वारा आयोजित किया जाता है। जिसके द्वारा भारत के टॉप तीन ऑफिसर IAS [Indian Administration Service], IPS [Indian Police Service] और IFS [Indian Foreign Service Service ] चुने जाते है। अगर आप भी आईएएस ऑफिसर बनना चाहते है तो उससे जुडी सभी जानकारी आप को इस लेख में मिल जायेगी।

अगर आप आईएएस अफसर बनना चाहते है तो नीचे दिए गए स्टेप्स को ध्यान से पढ़े :-

  1. 12वी कक्षा किसी भी विषय से पास करे – आईएएस अफसर बनने के लिए आपको सबसे पहले 12वी कक्षा किसी भी सब्जेक्ट से पास करनी होगी। चाहे आपने आर्ट्स,कॉमर्स ,या साइंस से ही क्यों न की हो। इससे कोई फर्क नही पड़ेगा की आपने 12 वी पास किसी भी सब्जेक्ट से पास की है।
  2. किसी भी स्ट्रीम से अपनी ग्रेजुएशन को कम्पलीट करें – 12वी कक्षा को पास करने के बाद आप किसी भी स्ट्रीम जिसमे आपका मन हो उससे आपको अपनी ग्रेजुएशन पूरकरनी होगी क्योंकि UPSC की परीक्षा में आवेदन करने के लिए यह आवश्यक है की आप की ग्रेजुएशन पूरी हो।
  3. UPSC परीक्षा के लिए आवेदन करें – जब आपकी ग्रेजुएशन पूरी हो जाए तब आपको UPSC द्वारा आयोजित CSE की परीक्षा को पास करना होगा जो की तीन चरणों [प्रिलिमिनरी एग्जाम, मेन एग्जाम और इंटरव्यू ]में होती है। UPSC परीक्षा में केवल ग्रेजुएट स्टूडेंट्स ही भाग ले सकते है।
  4. Preliminary Exam को पास करें – अगर आपने तैयारी अच्छे से की है तो फिर यूपीएससी की परीक्षा में आवेदन करने के बाद आपको इसका पहला चरण पार करना होगा। इस परीक्षा में भी 2 पेपर होते है :-जनरल एबिलिटी और सिविल सर्विस एप्टीटुड टेस्ट। दोनों ही पेपर में ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न पूछे जाते है जो की मेन एग्जाम के लिए क्वालीफाइंग पेपर होता है। दोनों ही पेपर 200-200 अंको के होते है जिनके लिए 2-2 घंटे का समय दिया जाता है। इन प्रश्नो का जबाव ध्यान से देना होता है क्योंकि हर 1 गलती का एक तिहाई अंक काट लिया जाता है।
  5. अब Main एग्जाम को क्लियर करें – प्रिलिमिनरी एग्जाम को पास करने के बाद आप इसके दूसरे चरण यानि इसके मेन एग्जाम को भी क्लियर करना होगा। लेकिन इसका दूसरा चरण पहले चरण से मुश्किल होता है। इसमें 9 पेपर होते है – पेपर 1 -निबंध ,पेपर 2 -सामान्य अध्ययन 1, पेपर 3 -सामान्य अध्ययन 2,पेपर 4 -सामान्य अध्ययन 3, पेपर 5 -सामान्य अध्ययन 4, पेपर 6 -वैकल्पिक विषय, पेपर 7 -वैकल्पिक विषय, इन सभी पेपर में अलग अलग वर्ड लिमिट वाले डिस्क्रिप्टिव टाइप के प्रश्न पूछे जाते है। उम्मीदवारों को परीक्षा के माध्यम का चयन करने की अनुमति रहती है। इस परीक्षा के कट -ऑफ़ को पास कर लेने के बाद ही अंतिम चरण पर पहुंच सकेंगे।
  6. Interview को क्लियर करें – जिन उम्मीदवारों ने इसके पहले दो चरण क्लियर कर लिए हो केवल उन्ही को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। जिसमे उनकी रुचियों, सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर्स और विषम परिस्थिति पैदा होने ओर उन्हें क्या करना चाहिए आदि इस प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे। उम्मीदवारों द्वारा दिए गए उत्तरों के आधार पर ही उनका सिलेक्शन होगा की वे आईएएस बनने योग्य है या नहीं।
  7. IAS की ट्रेनिंग पूरी करें – जो उम्मीदवार आईएएस के तीनो चरणों को पार लेंगे उन उमीदवारो को आईएएस की 21 महीने की ट्रेनिंग लेनी होती है। लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकेडमी ऑफ़ एड्मिनिस्ट्रेशन (LBSNAA) से शुरू होती है उसके बाद उन्हें 12 महीने के लिए जिला परिक्षण का काम दिया जाता है। इस ट्रेनिंग के बाद उम्मीदवार आईएएस बनने के योग्य हो जाता है।

IAS बनने हेतु आयु सीमा

IAS ऑफिसर बनने के लिए कैंडिडेट के लिए कम से कम 21 वर्ष की आयुसीमा का होना आवश्यक है जबकि अधिकतम आयु हर वर्ग के लिए अलग-अलग है। आरक्षित वर्गों के लिए इसमें छूट होती है। जनरल केटेगरी के 32 वर्ष की आयु निर्धारित की गयी है वही OBC केटेगरी के लिए आयु सीमा 35 वर्ष है, SC /ST केटेगरी के लिए आयु सीमा 37 वर्ष है और विकलांग केटेगरी के लिए आयु सीमा 42 वर्ष निर्धारित की गयी है।

IAS सैलरी स्ट्रक्चर सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

IAS अफसरो को कितनी सैलरी दी जाती यह ?

IAS अफसरो को मिलने वाली सैलरी स्ट्रक्टर सम्बंधित जानकारी आपको सम्बंधित लेख के प्रदान की गयी है। लेख में दिये गये सैलरी स्ट्रक्चर से आप आईएएस अधिकारियो की सैलरी सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते है।

आईएएस अधिकारियो को मिलने वाली अन्य सुविधायें क्या-क्या है ?

आईएएस अधिकारियो को सरकार द्वारा सरकारी आवास, वाहन और टेलीफोन सम्बंधित सुविधायें प्रदान की जाती है। साथ ही आईएएस अधिकारियो को विभिन प्रकार के भत्ते और अन्य सुविधायें भी प्रदान की जाती है।

भारत में सबसे कम उम्र का आईएएस ऑफिसर कौन है ?

भारत में सबसे कम उम्र का आईएएस अफसर का नाम अंसार शेख है। अंसार शेख ने सिर्फ 21 वर्ष की उम्र में आईएएस एग्जाम को क्रैक किया था।

Leave a Comment