सीएम स्वावलंबन योजना: योजना में बदलाव अब एक व्यक्ति ही पात्र, ढाई लाख महिलाओं की आय बढ़ाएगी प्रदेश सरकार

सीएम स्वावलंबन योजना : हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के युवाओं को उनके स्वरोजगार स्थापित करने में बैंकों से लिए गए ऋण पर सब्सिडी का लाभ देने के लिए सीएम स्वावलंबन योजना की शुरुआत की गई थी, जिसमे एक परिवार के तीन से चार सदस्यों को योजना का लाभ देने हेतु इसमें शामिल किया गया था। लेकिन अब योजना में सरकार द्वारा नए बदलाव किए जाने के बाद सरकार द्वारा योजना में किए गए संशोधन के बाद यह तय किया गया की अब स्वावलंबन योजना में एक परिवार के एक व्यक्ति को ही योजना के लाभ हेतु पात्र माना जाएगा, जिसमे महिलाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए आय में विशेष प्रकार की छूट भी प्रदान की जाएगी। CM Swavlamban Yojana में राज्य के युवाओं के लिए किए गए बदलाव की जानकारी नागरिक यहाँ से प्राप्त कर सकेंगे।

योजना में किए गए बदलाव अब 18 गतिविधियाँ शामिल

मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना में सरकार द्वारा युवाओं को रोजगार का लाभ प्रदान करने के लिए 2021-2022 के बजट भाषण में मुख्यमंत्री जी द्वारा 18 नई गतिविधियों की इसमें शामिल किया गया है, जिसके बाद अब कुल गतिविधियों की संख्या बढ़कर 85 से 103 हो गई है। योजना में पहले एक से अधिक सदस्य योजना का लाभ प्राप्त कर रहे थे परन्तु अब योजना में किए गए बदलाव के बाद अब एक परिवार के एक ही सदस्य को योजना का लाभ मिल सकेगा, जिसमे 18 से 45 वर्ष की आयु के युवा स्वरोजगार की शुरुआत करने हेतु योजना में आवेदन कर सकेंगे।

जाने क्या होगी विशेष प्रकार ही छूट

इस योजना के माध्यम से राज्य के युवा और युवतियों को स्वरोजगार की शुरुआत करने में सहयोग देने के प्रयास से सरकार इसमें कई तरह की नई गतिविधियों और बदलाव को शामिल कर रोजगार के लिए ऋण प्राप्त करने पर 25 से 30% सब्सिडी प्रदान करके नागरिकों को लाभान्वित कर रही है, इसके अलावा महिलाओं को उनके स्वरोजगार स्थापित के लिए योजना के अंतर्गत आवेदन करने से संबंधित आयु में 5 वर्ष की छूट भी प्रदान की जा रही है। जिससे महिलाओं होकर मिलने वाले ऋण से अपने स्वरोजगार की स्थापना कर सकें, इसके अलावा योजना में लाभार्थियों की संख्या में बढ़ोतरी करके राज्य के 3000 नागरिकों को लाभ पहुँचाने का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया है।

सीएम स्वावलंबन योजना के अंतर्गत अभी तक राज्य के कुल 1350 आवेदन पत्रों को स्वरोजगार शुरू करने हेतु ऋण प्रदान करने के लिए स्वीकृत किया गया है, जिससे आवेदक नागरिक सुगम एवं आसान तरीके से ऋण प्राप्त कर बिना किसी आर्थिक समस्या के अपने स्वरोजगार की स्थापना कर अन्य जरूरतमंद युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवा सकेंगे।

राज्य सरकार बढ़ाएगी ढाई लाख महिलाओं की आय

राज्य में महिलाओं के उत्थान व आर्थिक रूप से सशक्त बनाने में सहयोग करने के लिए राज्य सरकार स्वावलंबन योजना के तहत देश की ढाई लाख (2 लाख 50 हजार) महिलाओं की आय में बढ़ोतरी करवा रही है, इसके लिए महिला एवंबाल विकास विभाग को योजना के लिए रणनीति बनने के निर्देश सरकार द्वारा दिए जा चुके हैं। योजना में रोजगार की शुरुआत करने के लिए उद्यमी महिलाओं के अलावा स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को भी इसमें शामिल कर उनकी आय में 50,000 रूपये की वृद्धि की जाएगी, जिसके लिए इन समूह से जुडी महिलाओं के लिए एक तंत्र तैयार किया जाएगा, जिसमे उनके द्वारा तैयार किए गए कार्यों के उत्पादों के डिमांड एवं सप्लाई को बढ़ावा दिया जाएगा, जिससे उनकी आय में वृद्धि हो सकेगी।

Leave a Comment