जी-7 समूह क्या है | G-7 शिखर सम्मेलन क्या करता है? जी-7 की स्थापना कब हुई, मुख्यालय, सदस्य देश

वैश्विक मुद्दों एवं अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के सम्बन्ध में अकसर जी-7 समूह देशों का प्रमुख योगदान रहता है। वैश्विक अर्थव्यवस्था में विभिन्न देशों द्वारा आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं राजनैतिक हितों के विकास के लिए विभिन समूहों का गठन किया जाता है। ऐसे में अंतर्राष्ट्रीय समूहों में जी-7 समूह चर्चा के केंद्र में बना रहता है। वैश्विक सम्बन्धो को समझने के लिए हमे प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय समूह जी-7 के बारे में जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है। साथ ही वैश्विक राजनीति में जी-7 समूह के महत्व को देखते हुए भी यह संगठन वैश्विक रूप से महत्वपूर्ण है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की जी-7 समूह क्या है (G7 Group), जी-7 की स्थापना कब हुई, इसका मुख्यालय एवं सदस्यों देशो की संख्या कितनी है? साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से आपको जी-7 समूह से सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओ के बारे में भी जानकारी प्रदान की जाएगी।

यूरोपीय संघ (European Union) क्या है, यूरोपीय संघ में कितने देश हैं

G7 Group, know everthing
G7 समूह

जी-7 समूह क्या है ?

जी-7 समूह (G-7 Group) जिसे की सामान्यत ग्रुप ऑफ़ सेवन (Group of Seven) भी कहा जाता है एक प्रमुख अंतर-सरकारी संगठन (Intergovernmental) संगठन है जो की विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं एवं विकसित देशो से बना है। जी-7 समूह में कुल 7 देश शामिल है जिनमे अमेरिका, फ़्रांस, जर्मनी, यूनाइटेड किंगडम, इटली, कनाडा एवं जापान शामिल है। वैश्विक स्तर पर सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था समूह होने के कारण अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में जी-7 समूह प्रभुत्वशाली समूह है।

वैश्विक अर्थव्यवस्था के सन्दर्भ में देखा जाए तो जी-7 समूह पूरी दुनिया के सकल घरेलू उत्पाद यानी की जीडीपी (GDP) में 32 से 46 फीसदी का योगदान देता है। वही 200 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी के साथ यह समूह दुनिया की आधी से अधिक सम्पति का हिस्सेदार है। जी-7 देशों में दुनिया की कुल आबादी का 10 फीसदी भाग निवास करता है। वैश्विक अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान होने के कारण जी-7 समूह वैश्विक स्तर पर आर्थिक एवं राजनैतिक रूप से प्रमुख शक्ति एवं प्रभावशाली समूह है।

जी-7 (G-7) की स्थापना कब हुयी ?

वैश्विक समस्याओ पर चर्चा करने एवं प्रभावशाली समाधान के लिए 25 मार्च 1973 को अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, जापान एवं यूनाइटेड किंगडम के वित्त मंत्रियों की अनौपचारिक मीटिंग हुयी थी जिसके परिणामस्वरूप जी-7 की स्थापना की गयी। हालांकि औपचारिक रूप से जी-7 (G-7) की स्थापना वर्ष 1975 में की गयी है। स्थापना के समय यह ग्रुप सात सदस्यीय संगठन नहीं था।

g7 group

जी-7 (G-7) की प्रथम औपचारिक बैठक नवंबर 1975 में फ्रांस में आयोजित की गयी जिसमे इटली को भी शामिल किया गया एवं इस ग्रुप को G-6 के नाम से जाना गया। वर्ष 1976 में इस ग्रुप में कनाडा को भी शामिल कर लिया गया एवं इस प्रकार से वर्तमान में जी-7 (G-7) समूह अस्तित्व में आया।

जी-7 समूह का उद्देश्य

जी-7 समूह का मुख्य उद्देश्य वैश्विक स्तर पर प्रतिनिधि सरकार की स्थापना एवं बहुसंख्यकवाद को सुनिश्चित करना है। जी-7 समूह दुनिया में मानवाधिकारों की रक्षा, विभिन कल्याणकारी कार्यक्रम, समान मूल्यों की सहभागिता एवं मानवाधिकार जैसे लक्ष्यों को सुनिश्चित करता है। आर्थिक विकास के लिए चर्चा भी जी-7 समूह के एजेंडे में शामिल रहती है। इस समूह के द्वारा वैश्विक समस्याओ पर चर्चा एवं प्रभावी उपाय के लिए कार्यक्रम संचालित किए जाते है।

ASEAN Full Form in Hindi : ASEAN किसे कहते है ?

जी-7 समूह के सदस्य देश

जी-7 समूह दुनिया की सात वैश्विक आर्थिक महाशक्तियों का समूह है। जी-7 समूह के सभी सात सदस्य देशो का विवरण इस प्रकार है.

  • अमेरिका
  • फ्रांस
  • कनाडा
  • जर्मनी
  • यूनाइटेड किंगडम
  • इटली
  • जापान

वर्ष 1998 में जी-7 समूह में रूस को भी शामिल किया गया था जिसके पश्चात जी-7 समूह को G-8 के नाम से जाना जाने लगा। वर्ष 2014 में रूस के क्रीमिया पर आक्रमण करने एवं इसे कब्ज़ा करने के पश्चात रूस को इस समूह से हटा दिया गया एवं यह समूह पुनः जी-7 समूह बन गया।

जी-7 समूह का मुख्यालय

जी-7 समूह का कोई भी स्थायी मुख्यालय नहीं है। जो भी देश सम्बंधित वर्ष में जी-7 समूह की बैठक का आयोजन स्थल होता है उसी देश को सम्बंधित वर्ष के लिए जी-7 समूह का मुख्यालय (G7 Headquarters) के रूप में प्रयोग किया जाता है।

G7 का शिखर सम्मेलन

जी-7 समूह द्वारा प्रतिवर्ष शिखर सम्मेलन (G7 summit) का आयोजन किया जाता है। इस सम्मेलन के प्रमुख बिंदु इस प्रकार से है :-

  • G7 शिखर सम्मेलन (G7 summit) का आयोजन वार्षिक आधार पर किया जाता है।
  • इस सम्मेलन की मेजबानी सदस्य देशो के द्वारा रोटेशन बेस के आधार पर की जाती है। जिस भी देश में G7 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाता है वही G7 Headquarters के रूप में कार्य करता है।
  • प्रतिवर्ष विभिन देशो को इस सम्मेलन में अतिथि देश के रूप में भी आमंत्रित किया जाता है।
  • इस सम्मेलन में वैश्विक मुद्दों एवं अंतरराष्ट्रीय समस्याओ पर चर्चा की जाती है एवं समाधान के लिए प्रभावी कार्यक्रम तय किए जाते है।

भारत के सन्दर्भ में जी-7 की भूमिका

भारत के सभी जी-7 समूह के सदस्य देशो के साथ आर्थिक एवं राजनैतिक रूप से समृद्ध सम्बन्ध है। जी-7 समूह द्वारा भी अंतर्राष्ट्रीय मामलो में भारत की भूमिका को ध्यान में रखते हुए नियमित आधार पर भारत को G7 शिखर सम्मेलन (G7 summit) में अतिथि देश के रूप में आमंत्रित किया जाता है। भविष्य में इस समूह के साथ भारत के आर्थिक हितों में वृद्धि होने एवं राजनैतिक स्तर पर और भी प्रगाढ़ सम्बन्ध विकसित होने से देश को मजबूती मिलेगी।

SAARC Full Form in Hindi – SAARC की पूरी जानकारी?

जी-7 समूह (G-7 Group) सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

जी-7 समूह क्या है ?

जी-7 समूह एक अंतर-सरकारी संगठन (Intergovernmental) संगठन है जो की विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं एवं विकसित देशो से बना है। इस संगठन को सामान्यत ग्रुप ऑफ़ सेवन (Group of Seven) भी कहा जाता है।

जी-7 समूह की स्थापना कब हुयी ?

जी-7 समूह की स्थापना वर्ष 1975 में की गयी थी।

G-7 Group के सदस्य देश कौन-कौन से है ?

जी-7 समूह में वर्तमान में कुल सात देश है जिनका विवरण इस प्रकार से है :– अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, यूनाइटेड किंगडम, इटली, कनाडा एवं जापान

जी-7 समूह का क्या उद्देश्य है ?

जी-7 समूह का उद्देश्य वैश्विक समस्याओ का प्रभावी समाधान ढूँढ़ना एवं लोकतान्त्रिक एवं मानवाधिकार के मूल्यों को बढ़ावा देना है। साथ ही आर्थिक विकास के लिए भी यह समूह प्रभावी भूमिका निभाता है।

जी-7 समूह का मुख्यालय कहाँ है ?

जी-7 समूह का कोई भी स्थायी मुख्यालय नहीं है। जिस में देश में जी-7 समूह शिखर सम्मेलन (G7 summit) आयोजित किया जाता है वही देश जी-7 समूह के मुख्यालय की भूमिका निभाता है।

क्या भारत जी-7 समूह का सदस्य है ?

नहीं। भारत जी-7 समूह का सदस्य नहीं है। हालांकि भारत को जी-7 समूह द्वारा अतिथि देश के रूप में जी-7 समूह शिखर सम्मेलन (G7 summit) में विभिन मौको पर आमंत्रित किया जाता है।

एशिया से जी-7 समूह का एकमात्र सदस्य देश कौन सा है ?

एशिया से जी-7 समूह का एकमात्र सदस्य देश जापान है।

Leave a Comment

Join Telegram