गेहूं बेचने के बाद भी यदि अभी तक पैसे नहीं मिलें हैं तो किसान फटाफट करें यह काम

इस वर्ष रबी सीजन 2022-23 के लिए गेहूं के उपार्जन के काम में तेजी देखने को मिली है, हाल ही में सरकार द्वारा गेहूं के निर्यात को विदेशों में बैन करने के बाद से सरकार द्वारा किसानों से गेहूं की अधिक खरीद नहीं की गई, इसके अलावा बाजारों में भी गेहूं के अच्छे भाव मिलने से अधिक किसानों ने बाजार में ही गेहूं का विक्रय किया। सरकार द्वारा पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष कम गेहूं की खरीद की गई है, लेकिन इसके बावजूद जिन किसानों द्वारा सरकार को गेहूं का विक्रय किया गया है, उनमे से ऐसे कई किसान है, जिन्हे गेहूं बेचने के बाद भी कुछ कारणों के चलते उनका पैसा नहीं मिला है, जिससे बहुत से किसान काफी परेशान हैं, किसानों की इस समस्या के निवारण के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा भुगतान संबंधित जानकारी देखने और बैंक खाते में किसी तरह की गलती या बंद होने पर सुधार के लिए पोर्टल की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है।

मोबाइल पर भुगतान की स्थिति ऐसे देखें

मध्य प्रदेश के वह किसान जिन्होंने अपने गेहूं का विक्रय सरकार को किया गया है, उन सभी किसानों से सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद कर रही है, जिसके बाद भी बहुत से किसान ऐसे हैं जिन्हे खाते में भुगतान नहीं हुआ है। जबकी गेहूं खरीद के बाद दो दिन के भीतर पैसे का भुगतान कर दिया जाता था। इसके तहत जिन किसानों के खातों में पैसे का भुगतान नहीं हुआ है, वह अपने मोबाइल पर e-uparjan पोर्टल पर रबी 2022-23 में किसान की जानकारी विकल्प पर अपना मोबाइल नंबर दर्ज कर भुगतान संबंधित जानकारी या स्थिति की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। इसके अलावा किसानों को JIT mp पोर्टल पर भी किसान पंजीयन कोड दर्ज करके अपने भुगतान के सफल या असफल होने की स्थिति और भुगतान असफल होने का कारण की जानकारी भी प्राप्त हो सकेगी।

बैंक खाते में सुधार के लिए करें यह काम

बैंक खाते में सुधार के लिए एमपी के प्रमुख सचिव खाद्य फैज अहमद किदवई ने बताया की भुगतान प्रक्रिया को आसान और सरल बनाने के लिए वह किसान जिन्होंने समर्थन मूल्य पर गेहूं का विक्रय किया है, लेकिन उनका खाता बंद है, आधारकार्ड से लिंक नहीं है, मृत्यु होने या जनधन के खाते में लिमिट निहित होने जैसे कारणों से आपके बैंक में भुगतान नहीं हुआ है, ऐसे सभी नागरिकों को अपने बैंक खाते, जिला सहकारी एवं केंद्रीय बैंक, जिआ खाद्य कार्यालय में एंट्री करवानी होगी, जिसके बाद ही उनके खाते में भुगतान किया जा सकेगा।

इतने किसानों को किया जा चुका है गेहूं खरीद का भुगतान

सरकार द्वारा अभी तक वर्ष 2022-23 में राज्य के 5,72154 किसानों से समर्थन मूल्य पर 31 मई 2022 तक कुल 44 लाख 45 हजार 937 मैट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है। जिसमे कुल 4,41125 किसानों को सरकार द्वारा 6787 करोड़ रूपये का भुगतान उनके बैंक खाते में जारी किए जा चुके हैं, जबकि बचे हुए किसानों के भुगतान की प्रक्रिया अभी चल रही है। इसके लिए किसानों के लिए एनआईसी कार्यरत है, साथ ही किसानों का भुगतान सही से हो इसके लिए एक नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है, जिसकी स्थापना खाद्य संचालनालय में की गई है, जिसका कांटेक्ट नंबर 0752551474 है।

Leave a Comment