दुनिया की जनसंख्या कितनी है 2023 World Population in Hindi

तो दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है की हम सभी इस धरती पर निवास करते है। आप सभी यह भी जानते होंगे की इस दुनिया में बहुत से देश है। जिसमे अनेकों लोग निवास करते है। आप सभी के मन में कई बार बहुत से प्रश्न आते होंगे जिनमे से एक प्रश्न ऐसा भी होता होगा की आखिर दुनिया की जनसंख्या कितनी है। तो दोस्तों आप सभी इस प्रश्न का उत्तर जानना चाहते होंगे। तो इसके लिए आपको चिंता करने की बिलकुल भी आवश्यकता नहीं है। क्योंकि इसके लिए यूनाइटेड नेशंस पॉपुलेशन फंड (UNFPA) नामक एक संस्था जो की दुनिया की जनसँख्या का लेखा- झोखा तैयार करती है और जिसमे दुनिया की पूर्ण जनसँख्या की जानकारी अपने पास रखती है। तो दोस्तों अगर आप भी यह जानना चाहते है की इस दुनिया की जनसंख्या कितनी है ? तो उसके लिए आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है।

विश्व जनसंख्या दिवस पर निबंध 2022 | World Population Day

दुनिया की जनसंख्या कितनी है
World Population in Hindi

क्योंकि आज हम आप सभी को इस लेख के जरिये इसकी पूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले है की इस World की Population कितनी है ?तो दोस्तों इसके अलावा भी हम आप सभी को इस लेख में कुछ सम्बंधित जानकारी के बारे में भी बताने वाले है। तो दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते की World की Population कितनी है तो यह जानने के लिए आपको हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि इस लेख में ही हमने इससे सम्बंधित जानकारी के बारे में बताया हुआ है जिसको पढ़ने से ही आप इसके बारे में जान सकोगे। तो दोस्तों इसलिए कृपया करके हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

इसपर भी गौर करे :- भारत की जनसंख्या कितनी है? Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

दुनिया की जनसंख्या कितनी है | What is the population of the world?

तो दोस्तों जैसा की हमने आप सभी को बताया है की इस दुनिया की जनसँख्या का लेखा जोखा तैयार करने का कार्य यूनाइटेड नेशंस पॉपुलेशन फंड (UNFPA) नामक एक संस्था के द्वारा किया जाता है। तो दोस्तों इस वर्ष के अनुसार इस वर्ष तक दुनिया यानि के विश्व की जनसँख्या करीब 8 बिलियन है। आप सभी को यह भी बतादे की 8 बिलियन यानि के 800 करोड़ के करीब है। आप सभी को यह भी बता दे की दुनिया भर की जनसँख्या की गणना हर 10 वर्ष में की जाती है और 2021 में कोरोना के कारण गणना करने में असमर्थ थे। इसलिए 2022 में गणना के अनुसार दुनिया की जनसख्या 800 करोड़ है। इसके साथ साथ आप सभी को यह भी बता दे की अगर बात सन 2011 की करें तो उस समय पूरे विश्व की जनसँख्या करीब 7 बिलियन थी यानि के 700 करोड़ तक थी।

अगर देखा जाए तो 10 से 11 वर्ष के बीच में दुनिया ने जनसँख्या में काफी वृद्धि की है। तब से लकर अब तक दुनिया ने जनसंख्या के मामले में करीब 25 प्रतिशत तक वृद्धि हुई है। आप सभी को यह भी बतादे की अधिक जनसँख्या होना कोई सही बात नहीं है। क्योंकि इससे दुनिया में काफी सारी परेशानियां आ सकती है जिसका लोगो को सामना करना काफी मुश्किल होगा। इससे दुनिया भर में बहुत से दुष्परिणाम देखने को मिल सकते है। जिनके बारे में भी हम आप सभी को इस लेख में बताने वाले है तो दोस्तों अगर आप भी इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कृपया इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

दुनिया की 10 सबसे भुतहा जगहें | Haunted places in world in hindi

Disadvantage of Increasing population | जनसँख्या वृद्धि के नुक्सान के बारे में जाने |

तो दोस्तों आप सभी को यह बता दे की अब हम आप सभी को यहाँ पर बढ़ती जनसँख्या के नुक्सान के बारे में बताने वाले है। तो अगर आप भी अधिक जनसँख्या के नुक्सान जानना चाहते है तो कृपया करके दी गयी जानकारी को ध्यान से पढ़िए।

  • कृषि के क्षेत्र में नुकसान – तो दोस्तों आप सभी को यह बता दे की अधिक जनसँख्या होने की वजह से लोगो को वैसे तो बहुत से क्षेत्रो में नुक्सान उठाना पढ़ सकता है परन्तु सबसे अधिक नुक्सान कृषि के क्षेत्र में होगा। क्योंकि जब दुनिया की जनसँख्या में वृद्धि होगी तो दुनिया में लोग बढ़ेंगे और उसके कारन लोगो को अधिक खाद्य पदार्थ की आवश्यकता होगी और खाद्य पदार्थ के लिए दुनिया कृषि पर ही निर्भर होती है। जिसकी वजह से लोगो को खाने की कमी का भी सामना करना पढ़ सकता है।
  • बेरोजगारी – दोस्तों आप सभी इसके बारे में भी जानते होंगे की अगर दुनिया भर में अधिक जनसँख्या होने लगेगी तो हर देश में बेरोजगारी भी काफी अधिक बढ़ने लगेगी। अगर सभी देशों में बेरोजगारी बढ़ने लगेगी तो इससे दुनिया भर के देशों को बहुत से नुकसान झेलने पढ़ेंगे। जिनमे से एक बेरोजगारी भी है।
  • पर्यावरण प्रदूषण – तो दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है की अगर दुनिया की जनसँख्या बढ़ेगी तो ऐसे में लोग भी बढ़ेंगे तो फिर लोग काफी साड़ी टेक्नोलॉजी जैसे की – कार, मशीन आदि जैसी टेक्नोलॉजी का प्रयोग करेंगे जिसकी वजह से पर्यावरण भी प्रदूषित होगा। इसके कारण लोगो को भिन्न भिन्न प्रकार की बीमारियां भी होंगी।
  • स्वास्थ और शिक्षा की समस्या – तो दोस्तों आप सभी को यह भी बता दे की अधिक जनसँख्या की वजह से लोगो में असाक्षरता में भी वृद्धि होगी क्योंकि जो गरीब लोग है वह लोग शिक्षा में होने वाले खर्च को जुटाने में असमर्थ हो सकते है। इसलिए लोगो में असाक्षरता बढ़ती है।

दुनिया के सात अजूबे 2022 | 7 Wonders of the World in Hindi

दुनिया के सबसे अधिक जनसँख्या वाले कुछ देशों के नाम की सूची

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर उन देशों के नाम की सूची देने वाले है। जिनकी जनसँख्या अधिक है। तो दोस्तों अगर आप भी उन देशों के बारे में जानना चाहते है तो कृपया करके दी गयी जानकारी को ध्यान से पढ़े।

Country (देश)Population (जनसंख्या)Rank (रैंक)
China (चीन)1,394,016,0001
India (भारत)1,326,093,1842
United States (संयुक्त राज्य अमेरिका)332,639,1043
Indonesia (इंडोनेशिया)267,026,3684
Pakistan (पाकिस्तान)233,500,6405
Nigeria (नाइजीरिया)214,028,3046
Brazil (ब्राज़िल)211,715,9687
Bangladesh (बांग्लादेश)162,650,8488
Russia (रूस)141,722,2089
Mexico (मेक्सिको)128,649,56810
Japan (जापान)125,507,47211
Philippines (फिलीपींस)109,180,81612
Ethiopia (इथियोपिया)108,113,15213
Egypt (मिस्र)104,124,44014
Congo, Democratic Republic of the (कांगो, लोकतान्त्रिक गणराज्य)101,780,26415
Vietnam (वियतनाम)98,721,27216
Iran (ईरान)84,923,31217
Turkey (टर्की)82,017,51218
Germany (जर्मनी)80,159,66419
Thailand (थाईलैंड)68,977,40020
List of countries with the largest population in the world

कुछ सम्बंधित प्रश्न व उनके उत्तर यहाँ पर जानिए

दुनिया में सबसे अधिक जनसँख्या वाला देश कौन है ?

दुनिया में सबसे अधिक संख्या वाले देश का नाम चीन है। चीन की जनसँख्या करीब 1,394,016,000 है।

दुनिया की जनसंख्या कितनी है

तो दोस्तों इस वर्ष के अनुसार इस वर्ष तक दुनिया यानि के विश्व की जनसँख्या करीब 8 बिलियन है। आप सभी को यह भी बतादे की 8 बिलियन यानि के 800 करोड़ के करीब है।

दुनियाभर की जनसँख्या का लेखा जोखा तैयार करने का कार्य कौन करता है ?

इस दुनिया की जनसँख्या का लेखा जोखा तैयार करने का कार्य यूनाइटेड नेशंस पॉपुलेशन फंड (UNFPA) नामक एक संस्था के द्वारा किया जाता है।

अधिक जनसँख्या से क्या क्या नुकसान होते है ?

अधिक जनसँख्या से बहुत से नुकसान होते हैजो कुछ इस प्रकार है –
कृषि के क्षेत्र में नुकसान
बेरोजगारी
पर्यावरण प्रदूषण आदि जैसी कई अन्य परेशानियां को सामना करना पढता है।

तो दोस्तों आज हमने आप सभी को इस लेख में दुनिया की जनसँख्या के बारे में बताया हुआ है अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो धन्यवाद और अगर आपके मन में इससे सम्बंधित कुछ प्रश्न हो तो उसको आप कमेंट के जरिये पूछ सकते है।

Leave a Comment

Join Telegram