Duck worth luis rule in cricket: जानिए क्या है डकवर्थ-लुईस नियम | जानिए कैसे होता है जीत-हार का फैसला

वैसे तो हमारे देश का राष्ट्रीय खेल हॉकी है परंतु हमारे देश में सबसे अधिक देखा जाने वाला खेल क्रिकेट है। हमारे देश में क्रिकेट देखने वाले की तादाद बहुत ही अधिक है क्योंकि हर घर में बहुत से ऐसे व्यक्ति होते हैं जिनको क्रिकेट देखना बहुत ही अधिक पसंद होता है। केवल बड़ों को भी नहीं होगा यहां तक की बच्चों को भी क्रिकेट देखने का बहुत अधिक शौक होता है।

प्रत्येक खेल में अलग-अलग प्रकार के नियम होते हैं जिनको सभी को फॉलो करना पड़ता है तो ऐसा ही एक नियम क्रिकेट में भी है जिसका नाम है Duck worth luis rule in cricket. वैसे तो आप सभी ने इसका नाम सुना ही होगा यह रूल क्रिकेट में लागू होता है। आज हम Duck worth luis rule क्या होता है से संबंधित जानकारी साझा करने जा रहे है अगर आप भी इस लेख के माध्यम से जानकारी प्राप्त करने के इच्छुक है तो हमारे आर्टिकल को अन्त तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Duck worth luis rule in cricket: जानिए क्या है डकवर्थ-लुईस नियम | जानिए कैसे होता है जीत-हार का फैसला
Duck worth luis rule in cricket: जानिए क्या है डकवर्थ-लुईस नियम | जानिए कैसे होता है जीत-हार का फैसला

इसपर भी गौर करें :- Mankading क्‍या है- मांकडिंग नियम

Duck worth luis rule क्या होता है | What is the duck worth luis rule.

डकवर्थ लुईस एक नियम है जो कि क्रिकेट खेल में लागू होता है। वनडे और टी20 मैच में इस नियम का काफी अहम रोल होता है। क्योंकि इस प्रकार के मैचों में ओवर नियमित होते हैं और अगर इन नियमित ओवर के बीच में बारिश आ जाती है तो बारिश के कारण खेल को बीच में ही रखना पड़ता है। ऐसी ही स्थिति में डकवर्थ लुईस नियम को लागू किया जाता है क्योंकि इस नियम के तहत बारिश रुक जाने पर जो टीम टारगेट को चेस कर रही हो उस टीम को बारिश के रुकने के बाद नया टारगेट प्रदान किया जाता है। उस नए टारगेट को विकेट और ओवर को ध्यान में रखते हुए दिया जाता है।

नया टारगेट देने के पूर्व एक टेबल बनाई जाती है। उस टेबल को भी ओवर और विकेट को ध्यान में रखते हुए बनाया जाता है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
  • डकवर्थ का नियम: टीम-2 का लक्ष्य = टीम-1 का स्कोर * (टीम-2 द्वारा उपयोग किए गए रिसोर्स/टीम-1 द्वारा उपयोग किए गए रिसोर्स)

यह भी जाने :- DRS के नियम – Full form of DRS

डकवर्थ-लुईस नियम की शुरुआत कब हुई ?

डकवर्थ के नियम की शुरुआत फ्रैंक डकवर्थ और टोनी लुईस के द्वारा की गयी थी। यानि के फ्रैंक डकवर्थ और टोनी लुईस के द्वारा ही यह नियम बनाया गया था। इसलिए इस नियम का नाम भी उन्ही के नाम पर रखा गया है जो की इसके अविष्कारक है। इस नियम का उपयोग प्रथम बार सन 1997 में किया गया था। उसके बाद सन 2015 विश्व कप से कुछ समय पूर्व इस नियम में कुछ अपडेशन किये गए थे। यानि के सन 2015 में इस नियम के फार्मूला में कुछ बदलाव किये गए थे जो कुछ इस प्रकार है –

टीम 2 का नया टारगेट = टीम 1 का स्कोर

टीम 2 का नया लक्ष्‍य = टीम 1 का स्‍कोर x (टीम 2 के रिसोर्स/ टीम 1 के रिसोर्स)

डकवर्थ-लुईस नियम से सम्बंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर यहाँ जानिए

Duck worth luis rule क्या होता है ?

डकवर्थ लुईस एक नियम है जो कि क्रिकेट खेल में लागू होता है। वनडे और टी20 मैच में इस नियम का काफी अहम रोल होता है। क्योंकि इस प्रकार के मैचों में ओवर नियमित होते हैं और अगर इन नियमित ओवर के बीच में बारिश आ जाती है तो बारिश के कारण खेल को बीच में ही रखना पड़ता है। ऐसी ही स्थिति में डकवर्थ लुईस नियम को लागू किया जाता है

डकवर्थ-लुईस नियम की शुरुआत कब हुई ?

आप सभी को यह बता दे की डकवर्थ-लुईस नियम की शुरुआत सन 1997 में की गयी थी उस समय इस नियम का प्रथम बार उपयोग किया गया था।

डकवर्थ-लुईस नियम का अविष्कार किसने किया था ?

आप सभी को यह बता दे की डकवर्थ के नियम की शुरुआत फ्रैंक डकवर्थ और टोनी लुईस के द्वारा की गयी थी। यानि के फ्रैंक डकवर्थ और टोनी लुईस के द्वारा ही यह नियम बनाया गया था।

इसका नाम डकवर्थ-लुईस क्यों रखा गया था ?

यानि के फ्रैंक डकवर्थ और टोनी लुईस के द्वारा ही यह नियम बनाया गया था। इसलिए इस नियम का नाम भी उन्ही के नाम पर रखा गया है जो की इसके अविष्कारक है।

Leave a Comment