सीआईडी और सीबीआई में क्या अंतर है – Differences between CBI and CID in Hindi

तो दोस्तों आप सभी लोगो में से अधिकतर लोगो ने कभी न कभी सीआईडी (CID) और सीबीआई (CBI) के बारे में तो सुना ही होगा। यह दोनों ही सरकार इ लिए कार्य करती हैं। यह दोनों जॉब सरकारी जॉब हैं तो इसलिए इस देश के कई नौजवान इन दोनों में नौकरी करने के लिए तैयार रहते हैं। इस नौकरी के लिए बहुत से लोग कोशिश करते हैं परन्तु उनमे से कुछ ही इसमें सेलेक्ट हो पाते हैं और बहुत से लोग इन दोनों को एक ही मानते हैं परन्तु ऐसा नहीं हैं।

सीआईडी और सीबीआई में क्या अंतर है
Differences between CBI and CID in Hindi

तो दोस्तों आज हम आपको इस लेख के माध्यम से सीआईडी और सीबीआई के बारे में बहुत सी आवश्यक जानकारी प्रदान करने वाले हैं जैसे की सीआईडी और सीबीआई क्या होती हैं और इन दोनों में क्या अंतर होता हैं आदि। जैसी बहुत सी आवश्यक जानकारी तो दोस्तों अगर आप भी इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो उसके लिए आपको हमारे इस लेख को बड़े ही ध्यानपूर्वक और अंत तक पढ़ना होगा।

इस पर भी गौर करें :- CID का फुल फॉर्म क्या है?

सीबीआई (CBI) क्या होता है ?

सीबीआई (CBI) की फुल फॉर्म होती है Central Bureau of Investigation जिसको हिंदी में ‘केन्‍द्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो‘ भी कहते हैं। सीबीआई को भारत सरकार की प्रमुख जांच एजेंसी भी माना जाता हैं। सीबीआई की स्थापना 1941 में भारत सरकार के द्वारा विशेष पुलिस प्रतिष्ठान के रूप में हुई थी। सीबीआई का हेडक्वार्टर भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित हैं। सीबीआई सीधा सेंट्रल यानि के केंद्र सरकार के अंतर्गत कार्य करती हैं। सीबीआई सीधा केंद्र सरकार को रिपोर्ट करती हैं। राज्य सरकार कभी भी सीबीआई की कार्यवाही में बिलकुल भी दखल अंदाजी नहीं करती हैं। सीबीआई एक बहुत ही पावरफुल एजेंसी हैं इस एजेंसी को उच्च प्रकार की जांच में सीबीआई को जाँच करने के लिए कहा जाता हैं। यह एजेंसी राष्ट्रिय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले क्राइम या फिर घोटाले जैसी चीजों पर भी जांच करती हैं।

सीबीआई भारत में कही भी किसी भी राज्य में जाकर अपनी जांच पड़ताल कर सकती हैं। जब पुलिस या फिर कोई एजेंसी किसी मामले की जांच करने में असमर्थ हो जाती है या फिर वह किसी भी मामले की जांच करने में असफल हो जाते हैं तब ही सीबीआई को उस मामले को सौंपा जाता हैं और जब एक बार सीबीआई को कोई भी केस सौंपा जाता हैं उसके बाद कोई भी उसकी जांच में दखल अंदाजी नहीं कर सकता हैं फिर सीबीआई उस मामले को निवारण करके ही मानती हैं। सीबीआई Department of Personnel and Training के अंतर्गत कार्य करती हैं। सीबीआई को बहुत से भागों में विभाजित किया गया हैं जो की कुछ इस प्रकार हैं।

1. एंटी करप्शन डिविजन
2. इकोनॉमिक ऑफेंस डिविजन
3. स्पेशल क्राइम डिविजन
4. पॉलिसी एंड कोआर्डिनेशन डिविजन
5. एडमिनिस्ट्रेशन डिवीजन
6. सेंट्रल फॉरेंसिक एंड साइंस लेबोरेटरी

तो दोस्तों अगर आप भी सीबीआई में भर्ती होना चाहते हैं तो उसके लियए आपको भी यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा में भाग लेना होगा तब जाकर आप भी सीबीआई में भर्ती हो सकते हो। सीबीआई में बहुत से उच्च पद हैं जो कुछ इस प्रकार हैं। जैसे की –

  • Director 
  • Special Director 
  • Additional Director 
  • Joint Director
  • Deputy Inspector-General of Police
  • Senior Superintendent of Police 
  • Superintendent of Police
  • Additional Superintendent of Police
  • Deputy Superintendent of Police 
  • Deputy Adviser (Equivalent to the rank of DSP)
  • Administration Officer 

सीआईडी (CID) क्या होता हैं

सीआईडी की फुल फॉर्म होती हैं CID – ( Crime Investigation Department).यह विभाग एक प्रकार से पुलिस वालों का ही विभाग होता हैं। परन्तु जिस प्रकार पुलिस वाले हमेशा अपनी यूनिफार्म पहनकर कार्य करते हैं और Crime Investigation Department के अफसर हमेशा ही बिना यूनिफार्म यानि के घर के कपड़ों में कार्य करते हैं। Crime Investigation Department बिना यूनिफार्म के कार्य इसलिए करते हैं क्योंकि यह एक प्रकार से ख़ुफ़िया तरीके से कार्य करते हैं। Crime Investigation Department राज्य स्तर पर कार्य करते हैं। क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट की स्थापना 1902 में ब्रिटिश सरकार के द्वारा की गयी थी। सीआईडी हमेशा ही राज्य स्तर के मामलों पर जांच करती हैं। सीआईडी राज्य की सरकार और हाई कोर्ट के आर्डर पर ही जांच पड़ताल करती हैं।

इसकी यानि के सीआईडी की स्थापना इसलिए की गयी हैं ताकि यह एजेंसी स्वतंत्र रूप से किसी भी मामले की जांच पड़ताल कर सकें। सीआईडी जैसी एजेंसी अधिकतर किसी के खून हो जाने पर या फिर किसी के अपहरण हो जाने जैसे मामलों की जांच करती हैं। जैसा की हमने आपको बताया है की यह एजेंसी बिना यूनिफार्म के कार्य करती है तो सीआईडी के अफसर केवल कुछ खास मौकों पर ही अपनी यूनिफार्म को पहनती हैं। CID में भी बहुत से पद मौजूद होते हैं जैसे की –

  • Sub-Inspector
  • Constable
  • Inspector
  • Supritendent of Police
  • Inspector General of Police
  • Deputy Supritendent of Police
  • Additional Director General of Police
  • Deputy Inspector General

सीआईडी में भर्ती होने के लिए आपको केवल या तो पुलिस की भर्ती में ज्वाइन होना होगा और फिर आगे की कुछ प्रक्रिया के दौरान भी आप सीआईडी में भर्ती हो सकते हो।

सीआईडी और सीबीआई में क्या अंतर है

सीबीआई (CBI)सीआईडी (CID)
1.सीबीआई की फुल फॉर्म होती हैं – Central Bureau of Investigation1. सीआईडी की फुल फॉर्म होती हैं – Crime Investigation Department
2. सीबीआई केंद्र सरकार के आर्डर पर किसी भी मामले की जांच पड़ताल करता हैं। 2. सीआईडी राज्य सरकार और हाई कोर्ट के आर्डर पर किसी भी मामले की जांच पड़ताल करता हैं।
3. सीबीआई राष्ट्रिय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के घोटालों, धोखाधड़ी, हत्या, संस्थागत घोटालों जैसे मामलों की जांच करती हैं। 3.सीआईडी राज्य स्तर पर हुए मर्डर, अपहरण,चोरी,दंगे जैसे मामलों पर जांच पड़ताल करती हैं।
4.सीबीआई देश की किसी भी राज्य में जाकर अपनी जाँच पड़ताल कर सकती हैं। 4. सीआईडी केवल अपने राज्य में ही जांच पड़ताल कर सकती हैं।
5.सीबीआई की स्थापना 1941 में भारत सरकार के द्वारा विशेष पुलिस प्रतिष्ठान के रूप में हुई थी।5. क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट की स्थापना 1902 में ब्रिटिश सरकार के द्वारा की गयी थी।
सीआईडी और सीबीआई के बीच का अंतर

सीआईडी और सीबीआई से सम्बंधित प्रश्न

सीबीआई की फुल फॉर्म क्या होती हैं ?

सीबीआई की फुल फॉर्म Central Bureau of Investigation होती हैं।

सीआईडी की फुल फॉर्म क्या होती हैं ?

सीआईडी की फुल फॉर्म Crime Investigation Department होती हैं।

सीबीआई किस राज्य में जांच पड़ताल करती हैं ?

सीबीआई केंद्र स्तर पर मामलों की जाँच पड़ताल करती है तो इसलिए उनको इस बात की पूर्ण स्वतंत्रता होती हैं की वह देश के किसी भी राज्य में जाकर जांच पड़ताल कर सकें।

सीबीआई का मुख्यालय कहाँ पर स्थित हैं ?

सीबीआई का मुख्यालय भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित हैं।

सीआईडी की स्थापना कब हुई थी ?

सीआईडी की स्थापना

Leave a Comment