आखिर क्यों अलग-अलग होता है तीनों सेनाओं के सलामी देने का तरीका? जानिए कारण

तीनों सेनाओं के सलामी देने का तरीका – तो दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है की हमारे देश की सेना कितनी ताकतवर है। हमारे देश की सेनाओ का नाम देश की शक्ति और इसकी रक्षा करने के लिए जाने जाते है। आप सभी यह तो जानते ही होंगे की किसी भी देश की सेनाओं को तीन भाग में बांटा जाता है। वो है थल सेना, वायु सेना, जल सेना। हमारे देश की तीनो सेना हमारे देश के लिए हमेशा ही देश की रक्षा के तत्पर रहती है। इसके साथ साथ हमारे देश के सभी सेनाओं के जवान हमेशा ही देश की रक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहते है। देश के लिए हमारी सभी सेना के नौजवान देश की रक्षा लिए बहुत से युद्धों में अपनी जान गवाने के लिए तैयार रहते है। किसी भी सैनिक के लिए सबसे ख़ुशी को गर्व की बात होती है की वह अपने देश के लिए अपनी जान देश के लिए न्योछावर कर दे।

आखिर क्यों अलग-अलग होता है तीनों सेनाओं के सलामी देने का तरीका? जानिए कारण
आखिर क्यों अलग-अलग होता है तीनों सेनाओं के सलामी देने का तरीका? जानिए कारण

इसके साथ साथ सभी सैनिक अपने देश को अपनी माँ मानते है। इसलिए देश के सभी सैनिक देश को हमेशा सम्मान भी प्रदान करते है। केवल सैनिक ही नहीं बल्कि देश के सभी लोग भी हमेशा देश का सम्मान करते है। जिसके लिए सभी लोग कभी भी देश के झंडे को हमेशा ही सलाम करते है। तो दोस्तों क्या आप यह जानते है की हमारे देश की तीनो सेना का झंडे को सलाम करने के तरीका एक दूसरे से भिन्न है। अगर आप है जानते है तो आपको चिंता करने की बिलकुल भी आवश्यकता नहीं है। क्योंकि आज हम आप सभी को इस लेख के जरिये बहुत सी आवश्यक जानकारी प्रदान करने वाले है जैसे की – आखिर क्यों अलग-अलग होता है तीनों सेनाओं के सलामी देने का तरीका? जानिए कारण आदि जैसी जानकारी प्रदान करने वाले है।

तो दोस्तों क्या आप भी यह जानना चाहते है की आखिर क्यों अलग-अलग होता है तीनों सेनाओं के सलामी देने का तरीका? जानिए कारण तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा क्योंकि इस लेख में ही हमने इससे सम्बंधित जानकरी के बारे में बताया हुआ है जिसको पढने से ही आप इसके बारे में जान सकोगे। तो दोस्तों इसलिए कृपया करके हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े।

इसपर भी गौर करें :- राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की जानकारी

तीनों सेनाओं के सलामी देने का तरीका | Method of saluting the three armies

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर तीनों सेनाओं के सलामी देने के तरीके के बारे में बताने वाले है। यह जानने के लिए दी गयी जानकारी को ध्यान से पढ़े।

भारतीय थल सेना किस प्रकार सलामी देती है | How the Indian Army salutes

तो दोस्तों आप सभी को यहां पर यह बताने वाले हैं कि भारतीय थल सेना तिरंगे को किस प्रकार से सलाम करती है। दोस्तों इसलिए आप सभी को बता दें कि भारतीय थल सेना तिरंगे को सलामी देते समय अपने हाथ की हथेली को दिखाते हुए और चारो ऊँगली को दोनों भौहों के बीच में रखना होता है। थल सेना के सलामी देने का तरीका भारतीय जल सेना और वायु सेना से भिन्न होता है। आप सभी को यह भी बता दे की भारतीय थल सेना विश्व की दूसरी सबसे बड़ी और बेहतर सेना के रूप में जाना जाता है। भारतीय थल सेना विश्व की दूसरी सबसे बड़ी सेना है। इसमें करीब 14,55,550 सैनिक है जो की काफी अधिक मानी जाती है।

भारतीय थल सेना का कार्य देश की रक्षा करना होता है। देश के थल की रक्षा का कार्य थल सेना का होता है। हमारे देश के सैनिको काफी बहादुर होते है। यह देश के लिए हमेशा ही अपनी जान न्योछावर करने के लिए तत्पर रहते है।

भारतीय जल सेना किस प्रकार सलामी देती है | How does the Indian Navy salute?

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर यह बताने वाले है कि भारतीय जल सेना देश के झंडे को किस प्रकार से सलाम करती है। आप सभी को यह बता दे की देश की जल सेना का सलाम करने का तरीका बाकी सेनाओं से बिलकुल अलग होता। जल सेना के नौजवान अपने हाथों को दोनों भौहो के बीच में रखना होता है परन्तु यह सलाम करते हुए समय अपनी हथेली को नीचे की ओर रखते है। जिसके कई अन्य कारन भी होते है। तो दोस्तों आप सभी को यह भी बता दे की हमारे देश जी जल सेना के भी सभी जवान बहुत ही बहादुर होते है जो की देश के लिए अपनी जान न्योछावर करने के लिए हमेशा ही तत्पर रहते है।

आप सभी को यह भी बता दे की भारतीय जल सेना सलामी देते समय अपनी हथेली को नीचे की ओर इसलिए रखते है क्योंकि भारतीय जल सेना के नौजवानों के हाथ कार्य करने की वजह से उनके हाथ में गंदगी होती है इसलिए उसको छुपाने के लिए भारतीय जल सेना के सैनिक अपनी हथेली को नीचे की ओर रखते है।

भारतीय वायु सेना किस प्रकार से सलामी देती है | How does the Indian Air Force salute?

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर यह बताने वाले है की भारतीय वायु सेना झंडे को किस प्रकार से सलामी देती है। आप सभी को यह बता दे की पहले के समय में भारतीय वायु सेना भी भारतीय थल सेना की तरह ही हथेली दिखते हुए ही झंडे को सलाम करती है परन्तु उसके बाद सन 2006 में भारतीय वायु सेना के स्लम करने का तरीका बाद गया था। 2006 से भारतीय वायु सेना सलाम करने के लिए अपने हाथों को भूमि की अंतराल में हाथों को 45 डिग्री के कोण में रखना होता है। आप सभी को यह भी बता दे की यह अनिवार्य होता है की सभी इसी प्रकार से सलामी दे।

इससे सम्बंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर

भारतीय थल सेना किस प्रकार सलामी देती है ?

भारतीय थल सेना तिरंगे को सलामी देते समय अपने हाथ की हथेली को दिखाते हुए और चारो ऊँगली को दोनों भौहों के बीच में रखना होता है।

भारतीय जल सेना किस प्रकार सलामी देती है

जल सेना के नौजवान अपने हाथों को दोनों भौहो के बीच में रखना होता है परन्तु यह सलाम करते हुए समय अपनी हथेली को नीचे की ओर रखते है।

भारतीय वायु सेना किस प्रकार से सलामी देती है

भारतीय वायु सेना सलाम करने के लिए अपने हाथों को भूमि की अंतराल में हाथों को 45 डिग्री के कोण में रखना होता है।

कितने प्रकार की सेना होती है ?

सेना को तीन भागों में विभाजित किया गया है।
1. वायु सेना
2. जल सेना
3. थल सेना।

Leave a Comment

Join Telegram