गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है? जानें दोनों का इतिहास और महत्व

तो दोस्तों जैसा की आप सभी जानते ही है की हम सभी इस भारत वर्ष के निवासी है। जहाँ पर अनेक प्रकार के तोहगार मनाये जाते है। आप सभी जानते ही है की हमारे इस देश में अनेक प्रकार के लोग रहते है और उन सभी के अपने अपने भिन्न प्रकार के त्यौहार होते है। लेकिन देश के कुछ ऐसे त्योहार और पर्व ऐसे भी है जिनको देश के सभी नागरिक मिल झूल कर मनाते है। उन सभी पर्वों को राष्ट्रिय पर्व के नाम से जाना जाता है। आप सभी को यह भी बता दे की भारत के राष्ट्रीय पर्व मुख्य रूप से दो ही है जिनका नाम है ,गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस। इनके बारे में तो आप सभी जानते ही होंगे। परन्तु देश में आज भी ऐसे कुछ व्यक्ति ऐसे है जिनको यह मालूम नहीं होता है की गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है?

गणतंत्र दिवस क्या है और ये क्यों मनाया जाता है? (Republic Day in hindi)

गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है?
गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है?

तो दोस्तों क्या आप जानते है की गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है? अगर नहीं तो आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है। क्योंकि आज हम आप सभी को इस लेख के जरिये गणतंत्र दिवस के बारे में और स्वतंत्रता दिवस के बारे में बहुत सी जानकारी प्रदान करने वाले है जैसे की – गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है? गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस का इतिहास क्या है इसके बारे में भी हम आप सभी को इस लेख के जरिये बताने वाले है। तो दोस्तों क्या आप भी गणतंत्र और स्वतंत्रता दिवस के बारे में इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते हो।

अगर आप भी इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख कों अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि इस लेख में ही हमने इससे सम्बंधित जानकारी जैसे की – गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है? जानें दोनों का इतिहास और महत्व के बारे में बताने वाले है। तो दोस्तों इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए दिए गए लेख को अंत तक अवश्य पढ़े व इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त करें।

इसपर भी गौर करें :- 26 जनवरी गणतंत्र दिवस भाषण हिंदी में

गणतंत्र दिवस क्या होता है ?

तो दोस्तों आप सभी यह तो जानते ही है की गणतंत्र दिवस हर वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इसी दिन भारत का संविधान लागू हुआ था। जैसा की आप सभी जानते है की 15 अगस्त को हमारा देश अंग्रेजों के गुलामों से आजाद हुआ था। उसके बाद 3 वर्ष के पश्चात भारत का संविधान सन 1950 में 26 जनवरी को लागू हुआ था। हमारे देश का संविधान डॉ भीमराव आंबेडकर जी के द्वारा लिखा गया था। 26 जनवरी को हमारे देश में बहुत से स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम होते है। इसी दिन भारत के राष्ट्रपति के द्वारा ध्वाजारोहण किया जाता है। केवल यह ही नहीं बल्कि इस दिन हमारे देश के सभी स्कूलों व कॉलेजों में भी ध्वजारोहण किया जाता है।

उसके साथ साथ देश के सभी विद्यालयों में और कॉलेजों में छात्र व छात्राओं के द्वारा बहुत से सांस्कृतिक कार्यक्रम किये जाते है। आप सभी को यह भी बता दे की हमारे देश के संविधान को बनाने की शुरुआत 9 दिसम्बर 1947 को हुई थी। हमारे देश के संविधान को बनने के लिए 2 साल 11 महीने 18 दिन का समय लगा था। उसके बाद सन  26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था। इस ही उपलक्ष में हर वर्ष 26 जनवरी को हमारे देश में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।

भारत की खोज किसने की? Bharat Ki Khoj Kisne Ki

Independence Day क्या होता है ?

आप सभी यह तो जानते ही है की हर वर्ष 15 अगस्त को हमारे देश में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। 15 अगस्त 1947 के दिन हमारे देश को अंग्रेजों के गुलामों से आजादी मिली थी। 15 अगस्त को ही हमारा देश एक स्वतंत्र राज्य बना था। इस वर्ष हमारे देश को अंग्रेजों से आजाद हुए 75 वर्ष हो गए है। इस दिन हमारे देश में भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित लाल किले में भारत के प्रधानमंत्री जी के द्वारा ध्वजारोहण किया जाता है और राष्ट्रिय गान गाय जाता है। उसके साथ साथ इस दिन भारत के उन सभी क्रांतिकारियों को भी याद किया जाता है व श्रद्धांजलि दी जाती है। जिनका योगदान हमारे देश को आजादी दिलाने में रहा।

आप सभी को एक ख़ास बात यह भी बता दे की अंग्रेजों ने भारतीय पर करीब 200 वर्षों तक राज किया था उसके बाद सं 1947 में भारत अंग्रेजों की गुलामी से 200 वर्षों के पश्चात आजाद हुआ था। इसी कारण से देश में हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

भारतीय इतिहास की प्रमुख घटनाएँ | Top Important events in Indian histor

गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है?

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है? के बारे में कुछ जानकारी प्रदान करने वाले है। तो अगर आप भी इनके अंतर के बारे में जानना चाहते है तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख में दी गयी जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा। तब ही आप इनके बीच अंतर जान सकेंगे।

  • सबसे पहले तो आप सभी को यह बता दे की स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है और गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है।
  • 15 अगस्त के दिन हमारे देश को अंग्रेजों से 200 वर्षों के पश्चात आजादी मिली थी। इसलिए हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है और 26 जनवरी को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था। इसी के उपलक्ष में हर वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस केरूप में मनाया जाता है।
  • 26 जनवरी के दिन नई दिल्ली में स्थित लाल कीलें में भारत के राष्ट्रपति के द्वारा ध्वजारोहण किया जाता है और 15 अगस्त को नई दिल्ली में स्थित लाल किले में भारत के प्रधान मंत्री के द्वारा ध्वजा रोहन किया जाता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि देश के राष्ट्रपति संवैधानिक तौर पर देश के प्रमुख होते है और प्रधानमंत्री देश के राजनीतिक तौर पर देश के प्रमुख होते है।
  • आप सभी को यह भी बता दे की 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिवस का आयोजन लाल किलें में होता है और वही पर ध्वजारोहण किया जाता है और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस का आयोजन राजपथ पर किया जाता है और वही पर ध्वजारोहन किया जाता है।

गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है से सम्बंधित प्रश्न व उनके उत्तर

Independence day कब और क्यों मनाया जाता है ?

15 अगस्त को हमारे देश में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। 15 अगस्त 1947 के दिन हमारे देश को अंग्रेजों के गुलामों से आजादी मिली थी। 15 अगस्त को ही हमारा देश एक स्वतंत्र राज्य बना था। इस वर्ष हमारे देश को अंग्रेजों से आजाद हुए 75 वर्ष हो गए है।

गणतंत्र दिवस क्या होता है ?

गणतंत्र दिवस हर वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इसी दिन भारत का संविधान लागू हुआ था। जैसा की आप सभी जानते है की 15 अगस्त को हमारा देश अंग्रेजों के गुलामों से आजाद हुआ था। उसके बाद 3 वर्ष के पश्चात भारत का संविधान सन 1950 में 26 जनवरी को लागू हुआ था। हमारे देश का संविधान डॉ भीमराव आंबेडकर जी के द्वारा लिखा गया था।

भारत पर अंग्रेजों ने कितने वर्ष राज किया ?

भारत पर अंग्रेजों ने करीब 200 वर्षों तक राज किया।

15 अगस्त के दिन ध्वजारोहन किसके द्वारा किया जाता है ?

इस दिन हमारे देश में भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित लाल किले में भारत के प्रधानमंत्री जी के द्वारा ध्वजारोहण किया जाता है और राष्ट्रिय गान गाय जाता है।

Leave a Comment

Join Telegram