कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज- Cholesterol Kam Karne Ka Ramban Ilaaj

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज– बहुत से लोग कोलेस्ट्रॉल के बारे में जानते होंगे। लेकिन लोगो को इससे जुड़ी जानकारी पता नहीं होती है की यह क्या होता है। आज हम आपको कोलेस्ट्रॉल के बारे में जानकारी देने जा रहे है की यह होता क्या है। एवं शरीर में बढे हुए कोलेस्ट्रॉल को कैसे कम किया जा सकता है ,तो आइये जानते है Cholesterol से जुड़ी जानकारी को विस्तार रूप से की यह होता क्या है।

बालों की देखभाल के घरेलू नुस्खे (Home Remedies For Hair Care)

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज- Cholesterol Kam Karne Ka Ramban Ilaaj
कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज – Cholesterol Kam Karne Ka Ramban Ilaaj

कोलेस्ट्रॉल मनुष्य के शरीर में पाया जाने वाला एक तरह का फैट है जो शरीर में खून में मौजूद होता है। कोलेस्ट्रॉल शरीर के अंदर बहुत से कार्यों के लिए जिम्मेदार होता है। यह सेल्स को लचीला बनाये रखने के लिए एवं विटामिन डी के संश्लेषण आदि का कार्य करता है। कोलेस्ट्रॉल दो तरह के होते है एक है LDL (low-density lipoprotein) और दूसरा है HDL (high-density lipoprotein). एलडीएल कोलेस्ट्रॉल शरीर में blood arteries को नुकसान पहुंचा के ह्रदय को नुकसान पहुंचाते है। जबकि एचडीएल कोलेस्ट्रॉल ह्रदय का ख्याल रखने का कार्य करता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज, इस घरेलू तरीके से मिलेगा फायदा

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए विभिन्न तरह के उपाय नीचे बताये गए है आप किसी एक उपाय का प्रयोग करके अपने कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक हो सकते है।

ग्रीन टी (Green Tea)

Cholesterol Kam Karne Ka Ramban Ilaaj

जैसे की आप सभी लोगो को पता है की आज के समय में वजन कम करने के लिए ग्रीन टी का इस्तेमाल किया जाता है। एक रिसर्च के मुताबिक यह जानकारी दी गयी है की ग्रीन टी में पाए जाने वाले तत्व कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते है। ग्रीन टी के सेवन से आप अपने कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल कर सकते है आप चाहे तो ग्रीन टी कैप्सूल भी ले सकते है। ग्रीन टी हमारे शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा को बढाती है जिससे मेटाबोलिज्म बूस्ट होता है और वजन भी काम होता है। ग्रीन टी से टाइप टू डाइबिटीज़ का खतरा भी काम होता है।

अलसी का पॉउडर (Flaxseed Powder)

Cholesterol Kam Karne Ka Ramban Ilaaj

अलसी में लिनोलेनिक एसिड और ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है। इसे फ्लैक्स सीड्स कहा जाता है। यह पाचन क्रिया से लेकर ह्रदय के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद तत्व LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करते है। आप इसका सेवन दूध या फिर गर्म पानी के साथ कर सकते है। अलसी में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड शरीर में मौजूद बेड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को काम करने में मदद करता है। अलसी में मैग्नीशियम पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। जो हार्ट और नर्वस फंक्शन को कंट्रोल करने में मदद करता है। अलसी में मौजूद सॉल्युबल फाइबर्स शरीर में मौजूद कोलेस्ट्रॉल की अधिक मात्रा को काम करने में सहायक होता है।

आंवला (Gooseberry)

Cholesterol Kam Karne Ka Ramban Ilaaj

आंवला में अमीनो एसिड और एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते है जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का कार्य करते है। आंवला का सेवन करना अन्य चीजों के लिए काफी फायदेमन्द होता है। आप चाहे तो कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए आंवले का सेवन कर सकते है या फिर आँवले का पॉउडर ले सकते है। आँवला पाउडर को आप गुनगुने पानी में मिला के इसका सेवन कर सकते है। हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या में आमला बहुत फायदेमंद साबित होता है। इसके सेवन से शरीर में बेड कोलेस्ट्रॉल एलडीएल का स्तर काम होता है और गुड कोलेस्ट्रॉल एचडीएल का स्तर बढ़ता है।

धनिया (Coriander)

Cholesterol Kam Karne Ka Ramban Ilaaj


धनिया में कई ऐसे पोषक तत्व है जो शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकालते है। धनिया में विटामिन ए, विटामिन सी, फोलिक एसिड और कई एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते है। कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए आपको एक चमच्च धनिया पाउडर को दो मिनट तक पानी में उबाल कर इसे पी सकते है। इसका इस्तेमाल करने से आपका बेड कोलेस्ट्रॉल कम हो जायेगा। धनिया की पतियों से बीएड कोलेस्ट्रॉल को काम करने में मदद मिलती है। हाई बीपी की समस्त से भी लोगों को धनिया का इस्तेमाल करने से काफी फायदा मिलता है।

फिश आयल या फिर कैप्सूल (ish oil or capsules)

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज

फिश आयल में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए आप फिश का सेवन भी कर सकते है। यदि आपको फिश पसंद नहीं है तो आप 100mg फिश आयल कैप्सूल का सेवन भी कर सकते है। एक स्वस्थ मनुष्य को अपने वजन के हिसाब से ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन करना चाहिए। ये कैप्सूल रक्त का थक्का जमने को भी प्रभावित करता है। इसलिए रक्तश्राव सम्बन्धी सभी विकारों के लिए ओमेगा-3 बहुत ही फायदेमंद है। ऐसा माना जाता है की स्वस्थ व्यक्ति को रोजाना 250 से 500 मिलिग्राम ओमेगा-3 फैटी एसिड लेना चाहिए।

सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए सेब का सिरका भी काफी फायदेमंद है। एक चमच्च सेब के सिरके को पानी में मिलाकर आप इसे पी सकते है। सेब का सिरका अन्य तरह की समस्याओं को कम करने में काफी फायदेमंद है। सेब का सिरका कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए बेहतर साबित हुआ है। साथ ही इसका सेवन करना सेहतमंद होने के लिए काफी अच्छा है। खाली पेट सेब का सिरका पीने से शरीर में ग्लूकोस का मैनेजमेन्ट सही रहता है। सेब का सिरका इन्सुलिन के प्रति हमारी सेंस्टिविटी को मैनेज करता है और साथ में यह ब्लड सूगर लेवल को भी ठीक करता है। इसका ज्यादा सेवन न करें क्यूंकि अधिक सेवन से या हड्डियों को कमजोर बनता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज से सम्बंधित प्रश्न

कोलेस्ट्रॉल को जड़ से ख़त्म कैसे किया जा सकता है ?

खट्टे फलों जैसे आमला, अंगूर आदि से हाई कोलेस्ट्रॉल को संतुलित करने में मदद मिलती है। इन सबके अलावा अगर आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है तो रोजाना सुबह शाम वॉक पर निकल सकते हैं। टहलने से ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहेगा जिससे ब्लड में ऑक्सीजन का नियमित स्तर रहेगा और शरीर में ताज़गी आएगी।

क्या नीम्बू कोलेस्ट्रॉल को काम करने में सहायक होता है ?

नीम्बू में मौजूद जो घुलनशील फाइबर होते हैं वे खाने की थैली से बैड कोलेस्ट्रॉल को रक्त प्रवाह में जाने से रोकते हैं। नीम्बू में पाया जाने वाला विटामिन सी रक्त वाहिकाओं की नालियों की सफाई करता है और शरीर में मौजूद बैड कोलेस्ट्रॉल पचन तंत्र की मदद से बहार निकल जाता है।

शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने पर कौन सी एक्‍सरसाइज करनी चाहिए ?

शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने पर रनिंग और जॉगिंग करना बेहतर होता है। इससे कम समय में अधिक कैलोरीज बर्न होती है। जिन लोगों को हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है उन्हें जॉगिंग और रनिंग जैसी हाई इंटेंसिटी एक्ससरसाइज करनीचाहिए ।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण क्या हैं ?

शरीर में जब कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है तो बहुत से विलक्षण देखने को मिलते हैं। जैसे – कमजोरी महसूस करना, पसीना आना, भूख न लगना आदि।

Leave a Comment

Join Telegram