ब्लैक बॉक्स (Black Box) क्या होता है | अविष्कारक | भाग | इसकी खोज कैसे होती है?

तो दोस्तों जैसा की आप सभी जानते ही है की आज के समय में लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिए बहुत सी चीजों का प्रयोग करते है जैसे की – बस, ट्रैन, कार, हवाई जहाज आदि। तो दोस्तों आज के समय में हवाई जहाज का उपयोग काफी अधिक हो चूका है। क्योंकि हवाई जहाज की मदद से कोई भी व्यक्ति किसी भी स्थान ओर जल्द से जल्द पहुंच सकता है। लेकिन आप सभी यह भी जानते ही होंगे की कई बार हवाई जहाज का काफी खतरनाक एक्सीडेंट भी हो जाता है। जिसकी वजह से कई बार Aeroplane पूर्ण रूप से क्रैश हो जाता है। तो दोस्तों अगर कभी भी कोई एयरोप्लेन या हेलीकाप्टर क्रैश हो जाता है। तो उसके पूर्ण रूप से क्रैश होने के बाद भी उसमे एक चीज बच जाती है। जो की न तो जलती है और न ही टूटती है। तो आपको बता दे की उसको ब्लैक बॉक्स (Black Box) कहते है। ब्लैक बॉक्स क्या होता है किसे कहते है।

404 Error क्या है – 404 एरर कब और क्यों दिखाई देती है

ब्लैक बॉक्स (Black Box) क्या होता है
Black Box kya hota hai

अब आप सभी यह सोच रहे होंगे की यह ब्लैक बॉक्स क्या होता है ? तो दोस्तों क्या ब्लैक बॉक्स के बारे में जानते है की यह क्या होता है ,अगर नहीं तो आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज हम आप सभी को इस लेख के जरिये ब्लैक बॉक्स (Black Box) के बारे में बहुत सी जानकारी प्रदान करने वाले है। तो दोस्तों अगर आप भी ब्लैक बॉक्स (Black Box) के बारे में जानना चाहते है तो उसके लिए इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा क्योंकि इस लेख में ही हमने इससे सम्बंधित जानकारी के बारे में बताया हुआ है जिसको पढ़ने से ही आप इसके बारे में जान सकोगे। तो इसलिए कृपया करके हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

यह भी पढ़े :- AIR Hostess Course | AIR Hostess Training Fees

ब्लैक बॉक्स क्या होता है ?

तो दोस्तों आप सभी को यह बता दे की ब्लैक बॉक्स (Black Box) किसी भी हवाई जहाज या फिर हेलीकाप्टर के पिछले हिस्से में लगा हुआ एक बॉक्स होता है। यह विमान के अंदर एक बहुत ही आवश्यक उपकरण होता है। इस बॉक्स का मुख्य कार्य यह होता है की यह बॉक्स विमान में हो रही सभी गतिविधियों का सारा डाटा एक जगह पर रिकॉर्ड करने का कार्य करता है। आप सभी को इसके बारे में ख़ास बात यह भी बता दे की यह बॉक्स न तो टूट सकता है और न ही यह जल सकता है। यह काफी मजबूत बॉक्स होता है।

इसको विमानों में इसलिए लगाया जाता है ताकि अगर किसी भी कारण से कोई विमान क्रैश हो जाता है तो इस बॉक्स में उस विमान की सभी जानकारी मौजूद होती है जिससे यह पता चलता है की विमान किस कारन से क्रैश हुआ है। इसके साथ साथ आप सभी को यह भी बता दे कीयह बॉक्स विमान के बारे में बहुत सी जानकारियों को रिकॉर्ड करता है जैसे की – विमान की गति (Speed), ऊँचाई ( Altitude), ईंधन (Fuel), केबिन या कॉकपिट का तापमान ( Temperature), पायलट की बातचीत, फ्लाइट ऑपरेशन आदि जैसी करीब 88 प्रकार की चीजों का डाटा रिकॉर्ड करने का कार्य करता है।

यह बॉक्स विमान के क्रैश होने पर भी न तो टूटता है और न ही जल सकता है इसलिए विमान केसरश होने के कई दिनों के बाद भी यह सुरक्षित होता है। उसके बादइस बॉक्स को फॉरेंसिक जाँच के लिए भेजा जाता है ताकि इस में स्टोर डाटा को डिकोड करके यह जाना जा सके की आखिर विमान के क्रैश होने का क्या कारण था। जिसके पश्चात आगे उस चीज का ध्यान रखा जा सके और बाकी विमानों में उस चीज का ध्यान रखा जा सके।

भारतीय वैज्ञानिक के नाम और उनके आविष्कार

Black Box का अविष्कार कब और किसने किया ?

तो दोस्तों आप सभी को यह बता दे की Black Box का अविष्कार डेविड वारेन के द्वारा सन 1954 में किया गया था। तो दोस्तों आप सभी को यह बता दे की इसका अविष्कार इस चीज को ध्यान में रखते हुए किया गया था क्योंकि उस समय विमानों के हादसे काफी अधिक बढ़ते जा रहे थे और उनके क्रैश होने का कारण नहीं पता चल पा रहा था की आखिर किस वजह से विमान क्रैश हो रहे है। उसके बाद फिर सन 1954 में डेविड वारेन के द्वारा इस ब्लैक बॉक्स का निर्माण किया गया। जिसकी मदद से यह जाना जा सकता है की आखिर विमान के क्रैश होने का मुख्य कारण क्या है।

ब्लैक बॉक्स के भाग

ब्लैक बॉक्स के अंदर 2 चीजे होती है जो की डाटा को रिकॉर्ड करती है। तो आइये जानते है की वह चीजे कौन कौन सी होती है।

  • फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर – फ्लाइट डाटा रिकॉर्ड विमान की ऊंचाई (Altitude), ईंधन, गति (speed), हलचल (turbulence),केबिन का तापमान समेत आदि प्रकार की अन्य 88 प्रकार की जानकारी होती है। इसमें विमान की करीब 25 घंटो से भी अधिक डाटा को स्टोर किया जाता है।
  • कॉकपिट वोइस रिकॉर्डर – कॉकपिट वोइस रिकॉर्डर विमान के अंदर की आवाजों को रिकॉर्ड करने का कार्य करता है। इसके अंदर विमान की करीब 2 घंटो तक की वौइस् रिकॉर्ड हो सकती है। इसमें आपातकालीन अलार्म की आवाज, इंजन की आवाज, केबिन की आवाज को रिकॉर्ड किया जाता है।

Black Box की खोज कैसे होती है ?

आप सभी को यह बता दे की जब प्लेन क्रैश हो जाता है तो उसके बाद ब्लैक बॉक्स के गिरने की सम्भावना भी अधिक होती है इसलिए उसको ढूंढने के लिए आसान तरीका है। ब्लैक जहाँ पर भी गिरता है यह वहा पर बीप बीप की आवाजे निकलता है। इसकी आवाजे काफी दूर दूर तक जाति है। अगर यह किसी कारण से पानी में गिर जाता है तो यह पानी के अंदर से करीब 14000 फ़ीट से भी अपनी आवाजे बहार भेज सकता है। यह बिना बिजली के करीब 30 दिनों तक यह सभी कार्य कर सकता है।

ट्रामा सेंटर किसे कहते है ? (TRAUMA CENTRE IN HINDI)

ब्लैक बॉक्स क्या होता है से सम्बंधित प्रश्न

Black Box का अविष्कार कब और किसने किया

तो दोस्तों आप सभी को यह बता दे की Black Box का अविष्कार डेविड वारेन के द्वारा सन 1954 में किया गया था।

ब्लैक बॉक्स में कितने भाग होते है ?

ब्लैक बॉक्स में दो भाग होते है।
1. फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर
2. कॉकपिट वोइस रिकॉर्डर

ब्लैक बॉक्स बिना बिजली के कितने दिनों तक कार्य कर सकता है ?

ब्लैक बॉक्स बिना बिजली के करीब 30 दिनों तक कार्य कर सकता है।

फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर क्या कार्य करता है ?

फ्लाइट डाटा रिकॉर्ड विमान की ऊंचाई (Altitude), ईंधन, गति (speed), हलचल (turbulence),केबिन का तापमान समेत आदि प्रकार की अन्य 88 प्रकार की जानकारी होती है

Leave a Comment

Join Telegram