(पंजीकरण) कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021 : ऑनलाइन आवेदन। एप्लीकेशन फॉर्म

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021 । Krishi Input Anudan Yojana 2021 Online Apply । बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना पंजीकरण। Bihar Krishi Input Anudan Yojana 2021 Application Form

दोस्तों आज हम बात करने जा रहें है, कृषि इनपुट अनुदान योजना की जिसका आरम्भ बिहार सरकार द्वारा राज्य के किसानो को प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुक्सान पर राहत प्रदान करने के लिए किया गया है। कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत सरकार राज्य के उन सभी किसानों को आर्थिक तौर पर सहयोग प्रदान करती है, जिनकी फसले ओलावृष्टि, आँधी-तूफ़ान या निरंतर बारिश के कारण खराब हो जाती है, जिससे किसानो को भारी नुक्सान उठाना पड़ता है, इसके लिए सरकार किसानों को होने वाले नुक्सान पर Krishi Input Anudan Yojana के तहत वर्षाश्रित असिंचित क्षेत्रों पर प्रति हेक्टेयर 6800 रूपये और सिंचित क्षेत्रों पर प्रति हेक्टेयर 13500 रूपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान करती है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत अब राज्य के किसानो भाई अपनी फसलों में नुक्सान की भरपाई हेतु योजना में लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन डीबीटी एग्रीकल्चर बिहार की आधिकारिक वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in पर आसानी से आवेदन कर सकेंगे।

बिहार-कृषि-इनपुट-अनुदान-योजना

Article Contents

Krishi Input Anudan Yojana 2021 : Details

योजना का नाम कृषि इनपुट अनुदान योजना
शुरुआत की गई मुख्यमंत्री नितीश कुमार जी द्वारा
योजना की श्रेणी राज्य सरकारी योजना
साल2021
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
योजना के लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानो को होने वाले नुक्सान पर आर्थिक सहयोग प्रदान
आधिकारिक वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in

बिहार नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021

कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत बिहार सरकार राज्य के किसानो को फसलों पर बारिश व ओलों के कारण होने वाले नुक्सान पर भरपाई हेतु अनुदान राशि प्रदान करती है, जिससे राज्य के किसान की आर्थिक समस्याओं को सुधारा जा सकेगा, वर्तमान में यह लाभ राज्य के 23 जिलों के किसानो को प्रदान किया जा रहा है जिनमे पाटला, मुजफ्फरपुर, नालंदा, भोजपुर, बक्सर, रोहतास, भभुआ, गया, जहानाबाद, अरवल, नवादा, औरंगाबाद, गोपालगंज, पश्चिम चम्पारण, दरभंगा, समस्तीपुर, मुंगेर, शेखपुरा, लखीसराय, भागलपुर, बाँका, मधेपुरा, किशनगंज आदि राज्य शामिल किये गए हैं। बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत इन राज्यों के 2 हेक्टेयर की कृषि भूमि में होने वाले नुक्सान पर किसानो को सरकार द्वारा निर्धारित आर्थिक सहयाता राशि प्रदान की जाती है, जो सीधा आवेदक किसानों को उनके बैंक खातों में ट्रांसफर की जाती है, यह धनराशि फसलों पर होने वाले नुक्सान के आधार पर दी जाती है जो कुछ इस प्रकार है।

  • योजना के अंतर्गत ओलावृष्टि, बाड या बारिश के कारण ख़राब होने वाली सिंचित क्षेत्रों में फसलों के लिए 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर अनुदान राशि प्रदान की जाती है।
  • वर्षाश्रित (असिंचित क्षेत्रों) में फसलों पर हुए नुकसान के लिए 6,800 रूपये प्रति हेक्टेयर धनराशि।
  • औद्यानिक(Horticulture)/पेरेनियल फसलों के लिए 18000 रूपये प्रति हेक्टेयर अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • और कृषि भूमि में बालू और सिल्क के तीन इंच तक जमा होने पर 12,200 रूपये प्रति हेक्टेयर अनुदान राशि प्रदान की जाएगी।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना का उद्देश्य

बिहार सरकार द्वारा कृषि इनपुट योजना को जारी करने का मुख्य उद्देश्य योजना के माध्यम से राज्य के उन सभी किसानों को आर्थिक रूप से सहयोग प्रदान करना है, जिनकी फसलें अत्यधिक बारिश या आँधी-तूफ़ान के चलते खराब हो जाती हैं। जिसके कारण खेती पर निर्भर रहने वाले किसान, जो होने वाली खेती के लिए बाहर से ऋण लेकर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं और प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल खराब हो जाने से उन्हें बहुत सी आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जिसके चलते कई किसान आत्महत्या जैसे बड़े कदम भी उठा लेते हैं। ऐसे सभी किसानो को सरकार राहत प्रदान करने और उनकी इसी समस्या को कम करने के लिए कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत अनुदान राशि जारी करवाती है, जिससे फसलों पर हुए नुक्सान की भरपाई की जा सकेगी और किसानो को आर्थिक सहायता मिल सकेगी।

कृषि इनपुट अनुदान योजना के लाभ एवं विशेषताएँ

Krishi Input Anudan Yojana में आवेदन करने वाले सभी पात्र किसानो को ही योजना का लाभ मिल सकेगा, इसके लिए किसानो को योजना में आवेदन करना आवश्यक है, जिसके अंतर्गत किसानो को दिए जाने वाले लाभ और विशेषताओं की जानकारी आवेदक यहाँ से प्राप्त कर सकेंगे।

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के उन सभी किसानों को जिनकी फसलें प्राकृतिक आपदाओं के कारण बर्बाद हो जाती है, उन्हें सरकार द्वारा आर्थिक सहयोग प्रदान किया जाएगा।
  • बिहार किसान इनपुट अनुदान योजना में आवेदन हेतु आवेदक अब आसानी से ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकेंगे।
  • Bihar कृषि इनपुट अनुदान योजना के अंतर्गत अत्यधिक वर्षा/बाढ़ से प्रभावित फसलों पर दिया जाने वाला अनुदान प्रति किसान को अधिकतम दो हेक्टेयर की कृषि भूमि के लिए देय होगा।
  • योजना में राज्य के किसानो को होने वाले नुक्सान पर सिंचित क्षेत्रों में फसलों के लिए 13,500 रूपये और असिंचित क्षेत्रों के लिए 6,800 रूपये अनुदान देती है।
  • योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले किसानो को दी जाने वाली धनराशि सरकार द्वारा आवेदकों के बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से जारी करवाई जाती है।
  • राज्य के 23 जिलों के किसानो को योजना का लाभ मिल सकेगा, जिसमे किसानो को 1000 रूपये की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी।
  • Krishi Input Anudan Yojana का लाभ प्राप्त कर आवेदक किसानो की आर्थिक समस्याएँ कम हो सकेंगी।

Krishi Input Anudan Yojana में आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

Krishi Input Anudan Yojana में आवेदन हेतु आवेदक किसानो के पास सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है, बिना पूरे दस्तावेजों के आवेदन प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकेगी, इसके लिए अवदक योजना से जुड़े सभी दस्तावेजों की जानकारी यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं।

1. आवेदक का आधारकार्ड 5. बैंक की पासबुक
2. निवास प्रमाण पत्र 6. स्व प्रमाणित घोषणा पत्र
3. पहचान पत्र (वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड)7. मोबाइल नंबर
4. कृषि भूमि के दस्तावेज 8. पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना की पात्रता

इस योजना के अंतर्गत आवेदन हेतु आवेदक को योजना से जुडी सभी पात्रताओं को पूरा करना आवश्यक है, तभी वह योजना में आवेदन कर सकेंगे, इसके लिए आवेदन से पूर्व आवेदक इसकी सभी पात्रता की जानकारी पढ़कर ही योजना में आवेदन करें।

  • कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन हेतु आवेदक किसान बिहार के मूल निवासी होने चाहिए।
  • योजना के अंतर्गत राज्य के उन्ही किसानो को योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा, जिनकी फसल बेमौसम बारिश या ओलावृष्टि के कारण खराब हो गयी हो।
  • आवेदक किसानो के पास योजना में आवेदन के लिए सभी दस्तावेजों के साथ अपनी कृषि भूमि के दस्तावेज होने भी आवश्यक है।
  • योजना में बटाईदार (भागीदारी के साथ खेती करने वाले) के साथ यदि खेतिहर है, तो किसान के पास अपनी कृषि भूमि के दस्तावेज और स्वयं घोषणा पत्र जिसमे यह लिखा गया हो की उन्होंने कही से अनुदान प्राप्त है किया है वह भी होना चाहिए।
  • आवेदक किसान का बैंक में खाता होना अनिवार्य है, जो उसके आधार कार्ड से लिंक्ड होना चाहिए।

कृषि इनपुट अनुदान योजना की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ लेने हेतु योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक दी गई प्रक्रिया को पढ़कर योजना में आवेदन कर सकेंगे।

  • आवेदक सबसे पहले डीबीटी एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in पर विजिट करें। डीबीटी-एग्रीकल्चर-पोर्टल
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ होम पेज पर आपको ऑनलाइन आवेदन करें के लिंक पर कृषि इनपुट अनुदान योजना (2020-21) के विकल्प पर क्लिक करना होगा। कृषि-इनपुट-अनुदान-योजना-आवेदन
  • अब नए पेज पर आपको अपनी पंजीकरण संख्या दर्ज करके, सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।  बिहार-कृषि-इनपुट-अनुदान-पंजीकरण
  • पंजीकरण संख्या दर्ज कर लेने के बाद अगले पेज पर आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • अब आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे आपका नाम, पता, जन्म तिथि, माता-पिता का नाम, किसान श्रेणी, पंचायत, जिला आदि ध्यानपूर्वक भरनी होगी।
  • अपना सारा मूल विवरण दर्ज करने के बाद आपको अपने कृषि भूमि की सभी जानकारी जैसे किसान का प्रकार, कृषि भूमि का क्षेत्रफल (land area) दो हेक्टेयर, कृषि भूमि की योग्य कृषि भूमि का विवरण, फसल बर्बाद होने का कारण आदि दर्ज करनी होगी।
  • जानकारी भरने के बाद आपको Send OTP के बटन पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर आपको ओटीपी प्राप्त हो जाएगा।
  • अब आपको दिए गए स्थान पर ओटीपी दर्ज करना होगा, जिसके बाद स्व घोषणा पर टिक करके आपको अपने फॉर्म की जाँच कर लेनी होगी।
  • जिसके बाद submit पर क्लिक करके आपको अपने फॉर्म को जमा कर देना होगा।
  • इसके बाद आपको आपकी पंजीकरण संख्या प्राप्त हो जाएगी, जिससे आप अपने आवेदन स्थिति की जाँच कर सकेंगे।

इनपुट सब्सिडी (2020-21) प्रिंट निकलवाने की प्रक्रिया

इनपुट सब्सिडी प्रिंट प्राप्त करने के लिए आवेदक दी गई प्रक्रिया को पढ़कर इसका प्रिंट प्राप्त कर सकेंगे।

  • इसके लिए सबसे पहले आवेदक को योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • होम पेज पर आपको आवेदन की स्थिति/आवेदन प्रिंट के लिंक में इनपुट सब्सिडी (2020-21) प्रिंट के विकल्प पर क्लिक करना होगा। बिहार-कृषि-इनपुट-अनुदान-फॉर्म-प्रिंट
  • अब अगले पेज पर आपको अपनी रजिस्ट्रेशन आईडी दर्ज करके सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा। आवेदा-फॉर्म-प्रिंट
  • जिसके बाद आपको आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म प्राप्त हो जाएगा, जिसमे प्रिंट के बटन पर क्लिक करके आप इसका प्रिंटआउट निकलवा सकेंगे।

बिहार किसान इनपुट अनुदान योजना आवेदन स्थिति जानने की प्रक्रिया

राज्य के जिन भी किसानों ने योजना में आवेदन किया है, वह अपने आवेदन स्थिति की जाँच दी गई प्रक्रिया को पढ़कर कर सकेंगे।

  • सबसे पहले आवेदक को योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • होम पेज पर आपको आवेदन की स्थिति/आवेदन प्रिंट के लिंक में इनपुट सब्सिडी स्थिति के विकल्प पर क्लिक करना होगा। बिहार-कृषि-ंइनपुट-आवेदन-स्थिति-जाँच
  • अब अगले पेज पर आपके सामने चेक एप्लीकेशन स्टेटस फॉर्म खुलकर आ जाएगा, इसमें आपको अपना एप्लीकेशन नंबर दर्ज करके सर्च के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • सर्च पर क्लिक करने के बाद आपके आवेदन की स्थिति आपकी स्क्रीन पर खुलकर आ जाएगी।

किसान पंजीकरण फॉर्म में विवरण संशोधन प्रक्रिया

आवेदक किसान अपने पंजीकरण फॉर्म में विवरण संशोधन करने के लिए दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आवेदक को योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको विवरण संशोधन के लिंक में विवरण संशोधन (किसान पंजीकरण) के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब अगले पेज पर मोबाइल नंबर/बैंक अकाउंट नंबर सुधार हेतु तीन विकल्प दिखाई देंगे जिसमे आपको DEMOGRAPHY+OTP के विकल्प पर क्लिक करना होगा। विवरण-संसोधन-प्रक्रिया
  • अब नीचे आपको आधार ऑथेंटिकेशन के लिए अपना आधार नंबरआधारकार्ड में दर्ज नाम भरना होगा।
  • जिसके बाद आपको AUTHENTICATION के बटन पर क्लिक करके आपके नंबर पर आए ओटीपी को दर्ज करना होगा।
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • जिसके बाद आप आपने आवेदन फॉर्म में अपने नाम, मोबाइल नंबर, पता, जिला आदि में सुधार कर सकेंगे।
  • फॉर्म में सुधार कर लेने के बाद एक बार दोबारा इसकी अच्छे से जाँच करके आपको अपने फॉर्म को सबमिट कर देना होगा।

पंजीकरण सुधार की जाँच पक्रिया

आवेदक किसान जिन्होंने अपने फॉर्म में सुधार किया है, वह अपने पंजीकरण की जाँच दी गई प्रक्रिया को पढ़कर देख सकते हैं।

  • आवेदक सबसे पहले को योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको विवरण संशोधन के लिंक में पंजीकरण सुधार की जाँच के विकल्प पर क्लिक करना होगा। पंजीकरण-सुधार-की-जाँच
  • अब अगले पेज पर आपको अपनी पंजीकरण संख्या दर्ज करके सर्च बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपके सामने आपका पंजीकरण सुधार किया गया फॉर्म खुलकर आ जाएगा।

कृषि इनपुट लाभान्वित किसान सूची देखने की प्रक्रिया

  • आवेदक सबसे पहले योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • यहाँ होम पेज पर आपको लाभान्वित किसान सूची के लिंक में लाभान्वित किसान सूची के विकल्प पर क्लिक करना होगा।लाभान्वित-किसान-सूची
  • अब आपके सामने अगला पेज पर किसान सूची देखने के लिए फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे जिला, पचायत, प्रखंड और योजना का चयन करके व्यू रिकार्ड्स पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपके सामने लाभान्वित किसानो की सूची खुलकर आ जाएगी।
संपर्क सूत्र देखने की प्रक्रिया

योजना से संबधित कोई भी प्रश्न या किसी शिकयत के लिए आवेदक दिए गए लिंक पर क्लिक करके डीबीटी एग्रीकल्चर के हेल्पलाइन नम्बरों पर संपर्क कर सकेंगे।

  • आवेदक सबसे पहले को योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको संपर्क सूत्र के लिंक में डीबीटी एग्रीकल्चर पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद अगले पेज पर आपके सामने इसके हेल्पलाइन नंबर की लिस्ट खुलकर आ जाएँगे।
  • जिसमे आप दिए गए नम्बरों पर संपर्क कर सकते हैं।

कृषि इनपुट अनुदान योजना से जुड़े प्रश्न/उत्तर

Krishi Input Anudan Yojana क्या है ?

Krishi Input Anudan Yojana बिहार सरकार द्वारा जारी की गई योजना है, जिसके अंतर्गत सरकार राज्य के किसानो को अत्यधिक बारिश, आँधी/तूफान य ओलावृष्टि के कारण बर्बाद होने वाली फसलों पर उन्हें आर्थिक सहयोग देने के लिए अनुदान राशि प्रदान करती है।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन हेतु इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन हेतु आवेदक डीबीटी एग्रीकल्चर की आधिकारिक वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in पर आवेदन कर सकते हैं।

इस योजना के अंतर्गत राज्य के किन किसानो को योजना का लाभ दिया जाएगा ?

योजना का लाभ बिहार के स्थाई निवासी किसानो को दिया जाएगा, जिनकी फसलें ओलावृष्टि, बारिश, आँधी-तूफान के कारण बर्बाद हो गई हों, जिनके पास अपनी स्वयं की कृषि भूमि के दस्तावेज हो, और उनका बैंक में खाता हो जो उनके आधार कार्ड से लिंक्ड होना चाहिए।

Bihar कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदक किसानो को क्या-क्या लाभ दिय जाएगा ?

Bihar कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदक किसानो को फसल खराब होने पर संचित क्षेत्रों की फसल के लिए 13,500 रूपये/हेक्टेयर , असिंचित क्षेत्रों के लिए 6,800 रूपये, औद्यानिक(Horticulture)/पेरेनियल फसलों के लिए 18000 रूपये/हेक्टेयर आदि लाभ दिए जाएँगे।

योजना के अंतर्गत कितने हेक्टेयर फसल के नुक्सान पर किसान को लाभ देय होगा ?

इस योजना के अंतर्गत किसानो को दो हेक्टेयर फसल के नुक्सान पर लाभ देय होगा

योजना में लाभ प्राप्त करने हेतु इसकी ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया क्या है ?

Krishi Input Anudan Yojana की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया लेख में प्रदान कर दी गयी है, आप ऊपर दी गई प्रक्रिया को पढ़कर योजना में आवेदन कर सकेंगे।

कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन हेतु किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी ?

कृषि इनपुट अनुदान योजना में आवेदन हेतु आवेदक किसान के पास उनका आधारकार्ड, पहचान पत्र, कृषि भूमि के दस्तावेज, निवास प्रमाण पत्र, स्व घोषणा पत्र, मोबाइल नंबर, बैंक की पासबुक, पासपोर्ट साइज फोटो आदि दस्तावेज होने आवश्यक है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना से सम्बंधित सभी जानकारी हमने आपको आपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी और हम उम्मीद है की यह जानकारी आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होगी, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या योजना से संबंधित कोई भी सवाल पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment