2022 में, बिहार में कितने जिले हैं साथ में प्रमंडलों की संख्या जानिए

बिहार भारत के उत्तर-पूर्व में स्थित एक बहुत ही महत्वपूर्ण राज्य है। प्राचीन-काल से ही यह राज्य भारत की राजनीति, अर्थशास्त्र और शिक्षा का प्रमुख केंद्र रहा है। वर्तमान बिहार राज्य का गठन 22 मार्च 1912 को हुआ था। इससे पूर्व यह राज्य बंगाल प्रान्त के अंतर्गत शामिल था। बिहार देश में सबसे अधिक क्षेत्रफल, जनसँख्या और जनसँख्या घनत्व वाले राज्यों में शुमार है ऐसे में अकसर लोगो के मन में यह सवाल उठता है की बिहार में कितने जिले है? आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की 2022 में, बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल हैं ?

बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल
Bihar Me Kul Kitne Jile Hai

(Bihar Me Kul Kitne Jile Hai 2022) साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बिहार के सभी जिलों के बारे में जानकारी देने अतिरिक्त बिहार के सभी प्रमंडलों के बारे में भी जानकारी प्रदान करने वाले है जिससे की आप बिहार के भूगोल से अवगत हो सके। इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बिहार के प्रमंडलों सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओ की जानकारी भी प्रदान की जाएगी।

बिहार में कितने जिले हैं ?

बिहार का प्राचीन इतिहास बहुत ही गौरवपूर्ण रहा है। वर्त्तमान में भी यहाँ लोकनायक जयप्रकाश नारायण द्वारा जेपी आंदोलन के माध्यम से पूरे देश की चेतना को जगाने का कार्य किया गया था। बिहार भारत के सबसे अधिक क्षेत्रफल वाले राज्यों में शामिल है साथ ही यहाँ जनसँख्या घनत्व भी पूरे देश में उच्च घनत्व वाले राज्यों में शुमार है। बिहार का जनसँख्या घनत्व पश्चिम-बंगाल के बाद पूरे देश में दूसरे स्थान पर है ? बिहार को भौगोलिक आधार पर 3 भागों में बाँटा गया है। उत्तर का तराई-क्षेत्र, मध्य का विशाल गंगा का मैदान और दक्षिण का पर्वतीय क्षेत्र। बिहार का अधिकतर भाग गंगा के मैदान में पड़ता है यही कारण है की यहाँ कृषि का खूब विकास हुआ है।

क्षेत्रफल और जनसँख्या के आधार पर बिहार को कुल 38 जिलों में विभाजित किया गया है। जिलों के प्रशासनिक सञ्चालन को और अधिक बेहतर और प्रभावी बनाने के लिए जिलों को भी प्रमंडल में विभाजित किया गया है। वर्तमान में बिहार में 9 प्रमंडल है। इस प्रकार से वर्तमान में बिहार में कुल 38 जिले और 9 प्रमंडल है।

बिहार राज्य में जिलों की संख्या

बिहार राज्य में वर्तमान में कुल 38 जिले है। यहाँ आपको बिहार के सभी जिलों की संक्षिप्त जानकारी प्रदान की है :-

क्र. सं. जिला जिला-मुख्यालय जिले का क्षेत्रफल (वर्ग-किमी में)जिले की कुल जनसँख्या
1.अररियाअररिया2,8292,124,831
2.औरंगाबादऔरंगाबाद3,3032,004,960
3.बेगूसरायबेगूसराय1,9172,342,989
4.बांकाबांका3,0181,608,778
5.भोजपुरआरा2,4732,233,415
6.भागलपुरभागलपुर2,5692,430,331
7.बक्सरबक्सर1,6241,403,462
8.नवादा नवादा 2,4921,809,425
9.पूर्णियापूर्णिया3,2283,240,788
10.रोहताससासाराम3,8502,448,762
11.मुंगेरमुंगेर1,4191,135,499
12.खगड़ियाखगड़िया1,4861,276,677
13.किशनगंजकिशनगंज1,8841,294,063
14.कैमूरभभुआ3,3631,284,575
15.कटिहारकटिहार3,0562,389,533
16.लखीसरायलखीसराय1,229801,173
17.सारणछपरा2,6413,251,474
18.सीतामढ़ीसीतामढ़ी2,1992,669,887
19.सुपौलसुपौल2,4101,745,069
20.सीवानसीवान2,2192,708,840
21.वैशालीहाजीपुर2,0362,712,389
22.पूर्व चम्पारणमोतिहारी3,9693,933,636
23.पश्चिम चम्पारणबेताह5,2293,043,044
24.दरभंगादरभंगा2,2783,285,473
25.गोपालगंजगोपालगंज2,0332,149,343
26.गयागया4,9783,464,983
27.जहानाबाद जहानाबाद 1,5691,511,406
28.समस्तीपुरसमस्तीपुर2,9053,413,413
29.सहरसासहरसा1,7021,506,418
30.शिवहर शिवहर 443514,288
31.शेखपुराशेखपुरा689525,137
32.मधेपुरामधेपुरा1,7871,524,596
33.मधुबनीमधुबनी3,5013,570,651
34.मुजफ्फरपुरमुजफ्फरपुर3,1733,743,836
35.मुंगेरमुंगेर14191,367,765
36.पटनापटना32025,838,465
37.अरवलअरवल6376,99,000
38.खगड़ियाखगड़िया14861666886
बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल

इस प्रकार से आपको यहाँ बिहार के सभी 38 जिलों के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रदान की गयी है।

बिहार राज्य में प्रमंडलों की संख्या

बिहार राज्य के 38 जिलों को कुल 9 प्रमंडलों में विभाजित किया गया है। प्रशासनिक सुविधा की दृष्टि से जब कई जिलो को एक प्रशासनिक इकाई के रूप में संचालित किया जाता है तो इस प्रशासनिक इकाई को प्रमंडल कहा जाता है। प्रत्येक प्रमंडल में सुविधानुसार 2 या 2 से अधिक जिलो को शामिल किया जाता है। बिहार के सभी 9 प्रमंडलों की जानकारी इस प्रकार से है :-

पटना प्रमंडल 

प्रमंडल का मुख्यालय पटना
प्रमंडल में शामिल कुल जिले  6
जिलों का नाम पटना, भोजपुर, नालंदा, बक्सर, रोहतास और कैमूर
बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल

patna pramandal

  • मुख्य बिंदु – पटना बिहार राज्य की राजधानी और राज्य के सबसे बड़े प्रमंडलों में शुमार किया जाता है। पटना भारत के उन नगरों में से एक है जो की प्राचीन काल से अपनी ऐतिहासिकता के लिए जाने जाते है। इस नगर की स्थापना का काल महाजनपद काल माना जाता है। पटना ने प्रसिद्धि चन्द्रगुप्त मौर्या के शासन काल में प्राप्त की जब इसे 490 बी. सी. में मौर्या साम्राज्य की राजधानी बनाया गया था। उस समय इस नगर को पाटिलपुत्र के नाम से जाना जाता था। पाटिलीपुत्र अपनी कला, संस्कृति, शिक्षा, साहित्य, संगीत, राजनीति और अर्थशास्त्र के लिए पूरे देश और विश्व में प्रसिद्ध था।
  • यह नगर गंगा के दाहिने किनारे पर अवस्थित है यही कारण है की यहाँ खाद्यान की पर्याप्त उपज होती है। वर्तमान में यह नगर बिहार की राजधानी के रूप में राज्य का राजनैतिक और प्रशासनिक केंद्र है। पटना प्रमंडल के अंतर्गत कुल 6 जिले शामिल है जिनका विवरण इस प्रकार है – पटना, भोजपुर, नालंदा, बक्सर, रोहतास और कैमूर

तिरहुत प्रमंडल

प्रमंडल का मुख्यालय मुजफ्फरपुर
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 6
जिलों का नाम पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चम्पारन, शिवहर,
सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर और वैशाली
बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल

tirhut pramandal

  • मुख्य बिंदु- बिहार में गंगा के मैदान के उत्तरी-भाग में अवस्थित तिरहुत दरभंगा और मुजफ्फरपुर जिलों में मध्य बसा है। बिहार के सबसे बड़े प्रमंडलों में शामिल तिरहुत प्रमंडल का मुख्यालय मुजफ्फरपुर है जिसमे राज्य के कुल 9 जिलों पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चम्पारन, शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर और वैशाली को शामिल किया गया है। 1975 तक राज्य के दरभंगा जिले और मुजफ्फरपुर जिले को एक ही जिले के रूप में संचालित किया जाता था परन्तु इसके पश्चात इन्हे अलग-अलग जिलों में विभाजित कर दिया गया जिसके कारण कभी-कभी मुजफ्फरपुर और दरभंगा जिलों को भी संयुक्त रूप से तिरहुत पुकारा जाता है।
  • तिरहुत नगर की स्थापना का श्रेय शम्सुद्दीन इलियस को जाता है जिसके द्वारा यहाँ तिरहुत साम्राज्य की स्थापना की गयी थी। यह स्थान भगवान बुद्ध और भगवान महावीर से सम्बंधित होने के कारण ऐतिहासिक और धार्मिक रूप से देश के इतिहास में प्रमुख स्थान रखता है।

सारण प्रमंडल 

प्रमंडल का मुख्यालय छपरा
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 3
जिलों का नाम सारण, सिवान और गोपालगंज

saran pramandal

  • मुख्य-बिंदु – बिहार के उत्तर-पश्चिमी भाग में स्थित सारण के अधिकतर जिलों की सीमाएँ उत्तर-प्रदेश राज्य से मिलती है। सारण प्रमंडल का मुख्यालय छपरा में अवस्थित है जहाँ पूरे मंडल का प्रशासनिक सञ्चालन किया जाता है। सारण मंडल में राज्य के 3 जिलों सारण, सिवान और गोपालगंज को शामिल किया गया है। यह मंडल गंगा, गंडक और घाघरा नदी द्वारा जल आपूर्ति प्राप्त करता है यही कारण है की यह कृषि में समृद्ध क्षेत्र है। पर्याप्त जल आपूर्ति के कारण यहाँ कृषि का विकास अधिक हुआ हुआ जिससे यहाँ राज्य के अन्य भागों के मुकाबले आबादी का घनत्व अधिक है।

 दरभंगा प्रमंडल

प्रमंडल का मुख्यालय दरभंगा
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 3
जिलों का नाम दरभंगा, मधुबनी एवं समस्तीपुर

बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल

  • मुख्य-बिंदु- राज्य के उत्तर-पूर्वी भाग में स्थित दरभंगा प्रमंडल में राज्य के कुल 3 जिलों दरभंगा, मधुबनी एवं समस्तीपुर को शामिल किया गया है। इस प्रमंडल का मुख्यालय दरभंगा को ही बनाया गया है जहाँ से पूरे प्रमंडल के प्रशासनिक कामकाज को संचालित किया जाता है। इस मंडल के अंतर्गत कुल 18 प्रखंड तथा 3 अनुखंड आते है जो की विभिन स्तरों पर विभाजित किए गए है। इस पूरे मंडल का सबसे प्रमुख शहर दरभंगा है इसके पश्चात मधुबनी एवं समस्तीपुर इस प्रमंडल के अन्य प्रमुख शहर है। दरभंगा शब्द की उत्पति फ़ारसी भाषा के शब्द दर-ए-बंग से मानी जाती है जिसका अर्थ बंगाल का दरवाजा होता है। दरभंगा जिले को 1 जनवरी 1875 को तिरहुत जिले से अलग करके स्वतंत्र जिला बनाया गया जो की मिथिला संस्कृति और मधुबनी पेंटिंग का केंद्र बिंदु है।

कोसी प्रमंडल 

प्रमंडल का मुख्यालय सहरसा
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 3
जिलों का नाम सहरसा, सुपौल और मधेपुरा

kosi pramandal

  • मुख्य-बिंदु- दरभंगा और पूर्णिया प्रमंडलों के बीच स्थित कोसी प्रमंडल राज्य के उत्तरी सीमा में स्थित है जिसमे की कुल 3 जिलों सहरसा, सुपौल और मधेपुरा को शामिल किया गया है। कोसी प्रमंडल का मुख्यालय सहरसा में स्थित है। इस प्रमंडल से होकर कोसी नदी बहती है जो की बिहार का शोक कही जाती है। इसका कारण बरसात के दिनों में कोसी नदी का जलस्तर है जिसके कारण आसपास के सभी क्षेत्र मानसून काल में जलमग्न हो जाते है। कन्दाहा में सूर्य मंदिर अपनी वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है वही मंडन मिश्र और आदि-गुरु शंकराचार्य का शास्त्रार्थ स्थल भी इसी मंडल में स्थित माना जाता है।

पूर्णिया प्रमंडल

प्रमंडल का मुख्यालय पूर्णिया
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 4
जिलों का नाम पूर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार
बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल

purnia pramandal

  • मुख्य-बिंदु – बिहार के पूर्वी क्षेत्र में स्थित पूर्णिया प्रमंडल की सीमायें पश्चिम-बंगाल से मिलती है जिसमे की कुल चार जिलों पूर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार को शामिल किया गया है। इस प्रमंडल का मुख्यालय पूर्णिया है जहाँ से पूरे प्रमंडल का प्रशासनिक कामकाज संचालित होता है। यहाँ पर विभिन समुदायों के लोगो की जनसँख्या का अनुपात समान है। औपनिवेशिक कला में यह क्षेत्र ब्रिटिश शासन के अंतर्गत संचालित किया जाता था जो की कम्बल, चटाई एवं कालीन जैसे हस्तकरघा कार्यो के लिए प्रसिद्ध है।

भागलपुर प्रमंडल

प्रमंडल का मुख्यालय भागलपुर
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 2
जिलों का नाम भागलपुर एवं बांका

bhagalpur pramandal

  • मुख्य-बिंदु – पश्चिम बंगाल से सीमा साझा करने वाले जिलों में शामिल भागलपुर प्रमंडल बिहार का सबसे छोटा प्रमंडल है। इस प्रमंडल में बिहार के कुल 2 जिलों भागलपुर एवं बांका को शामिल किया गया है। भागलपुर प्रमंडल का मुख्यालय भागलपुर डिस्ट्रिक्ट को बनाया गया है जहाँ से पूरे मंडल का प्रशासनिक कामकाज संचालित किया जाता है। भागलपुर प्रमंडल का गठन  4 मई 1973 को किया गया है जिसके पश्चात यह स्वतंत्र रूप संचालित किया जाता है। यह क्षेत्र रेशम के कार्य के लिए प्रसिद्ध है जहाँ उच्च-गुणवत्ता का टसर रेशम उत्पादित किया जाता है।

मुंगेर प्रमंडल

प्रमंडल का मुख्यालय मुंगेर
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 6
जिलों का नाम मुंगेर, खगड़िया, जमुई, बेगूसराय, लखीसराय और शेखपुरा
बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल

munger pramandal

  • मुख्य-बिंदु- दक्षिण बिहार में स्थित मुंगेर प्रमंडल बिहार से सबसे बड़े प्रमंडलों में शामिल किया जाता है। इसमें राज्य के कुल 6 जिलों को सम्मिलित किया गया है जिसमे मुंगेर, खगड़िया, जमुई, बेगूसराय, लखीसराय और शेखपुरा शामिल है। इस प्रमंडल का मुख्यालय मुंगेर को बनाया गया है। चीनी यात्री ह्वेनसांग द्वारा भी अपनी पुस्तक में इस मंडल का वर्णन किया गया है जहाँ की लेखक द्वारा इस क्षेत्र में कृषि नियमितता के बारे में जानकारी प्रदान की गयी है। मुंगेर प्रमंडल तम्बाकू, डीज़ल इंजन, बंदूक, तेल, निर्माण एवं पर्यटन उद्योग में अग्रणी है।

मगध प्रमंडल

प्रमंडल का मुख्यालय गया
प्रमंडल में शामिल कुल जिले 5
जिलों का नाम गया, औरंगाबाद, नवादा, अरवल और जहानाबाद

बिहार के कुल जिले एवं प्रमंडल

  • मुख्य-बिंदु – मगध प्रमंडल बिहार के दक्षिणी भाग में स्थित प्रमंडल है जिसमे की कुल 5 जिलों गया, औरंगाबाद, नवादा, अरवल और जहानाबाद को शामिल किया है। इस प्रमंडल का मुख्यालय गया है जहाँ से फल्गु नदी बहती है। भगवान बुद्ध के ज्ञान प्राप्ति में इस स्थान का नाम प्रमुख है। भगवान बुद्ध को यहाँ बोधगया में ही पीपल वृक्ष के नीचे ज्ञान प्राप्ति हुयी थी यही कारण है की बौद्ध-भिक्षुओ के मध्य यह स्थान अपना प्रमुख महत्व रखता है।

इस प्रकार से इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बिहार के सभी जिलों और प्रमंडलों के बारे में जानकारी प्रदान की गयी है। बिहार सरकार द्वारा आयोजित किये जाने वाले विभिन प्रतियोगी परीक्षाओं में छात्रों से बिहार राज्य के जिलों और प्रमंडलों के बारे में विभिन तथ्य पूछे जाते है ऐसे में आप आर्टिकल की सहायता से सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते है।

बिहार के जिलों और प्रमंडल सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

बिहार राज्य में कुल कितने जिले है ?

बिहार राज्य में कुल 38 जिले है। बिहार के सभी जिलों की सूची आप ऊपर दिए गए आर्टिकल के माध्यम से देख सकते है। साथ ही यहाँ आपको जिलों से सम्बंधित अतिरिक्त जानकारी भी प्रदान की गयी है।

बिहार राज्य में कुल कितने प्रमंडल है ?

बिहार राज्य में कुल 9 प्रमंडल है। इसमें राज्य के सभी 38 जिलों को प्रशासनिक सुविधा के अनुसार शामिल किया गया है।

प्रमंडल क्या होता है ?

प्रमंडल एक प्रशासनिक इकाई होती है जिसमे जिलों को शामिल किया जाता है। प्रमंडल में 2 या 2 से अधिक जिलों को शामिल किया जाता है।

बिहार राज्य का सबसे बड़ा प्रमंडल कौन सा है ?

वास्तव में देखा जाए तो बिहार में 3 प्रमंडलों को सबसे बड़ा प्रमंडल माना जाता है। इसमें पटना, तिरहुत और मुंगेर प्रमंडल को शामिल किया जाता है। इन सभी प्रमंडलों में बिहार के 6-6 जिलों को शामिल किया गया है।

पटना प्रमंडल का मुख्यालय कहाँ है ? इसमें कुल कितने जिले शामिल है ?

पटना प्रमंडल का मुख्यालय पटना है। यह बिहार के सबसे बड़े प्रमंडलों में शामिल है जिसमे कुल 6 जिलों को शामिल किया गया है। पटना प्रमंडल में शामिल सभी जिले निम्न है- पटना, भोजपुर, नालंदा, बक्सर, रोहतास और कैमूर

बिहार का सबसे छोटा प्रमंडल कौन सा है ?

बिहार का सबसे छोटा प्रमंडल भागलपुर प्रमंडल है। भागलपुर प्रमंडल का मुख्यालय भागलपुर डिस्ट्रिक्ट है। इस प्रमंडल में कुल 2 जिले शामिल है – भागलपुर और बाँका

Leave a Comment