Bihar Board 12th Result 2022: इंटर पास करने वाली छात्राओं को मिलेंगे 25 हजार रुपये, शिक्षा मंत्री ने की घोषणा

बिहार शिक्षा बोर्ड के द्वारा 16 मार्च को इंटरमीडिएट के परीक्षा परिणाम घोषित किये जा चुके है। इस बार पिछले वर्ष से बेहतर प्रदर्शन करते हुये लड़कियों ने फिर से बाजी मारी है। परीक्षा परिणाम जारी करते हुये प्रदेश के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी द्वारा सभी सफल छात्राओं के लिए बड़ी घोषणा की गयी है। शिक्षा मंत्री के द्वारा कहा गया है जिन भी छात्राओं ने इस वर्ष इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की है उन्हें बिहार सरकार द्वारा 25,000 रुपए का पुरस्कार प्रदान किया जायेगा। आपको बता दे की लम्बे समय से इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम का इन्तजार कर रहे छात्रों का रिजल्ट सरकार द्वारा जारी कर दिया गया है जिसमे की छात्राओं ने बेहतर प्रदर्शन किया है। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी द्वारा कहा गया है की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रयासो के परिणामस्वरूप प्रदेश में बालिकाओ की शिक्षा में वृद्धि हुयी है जिसके परिणाम हमारे सामने है।

5 लाख छात्राओं को मिलेगा लाभ

इस बार राज्य में 13 लाख 46 हजार छात्रों ने इंटरमीडिएट की परीक्षा दी थी जिनमे से की 6 लाख 41 हजार 829 छात्रायें थी। इनमे से 82 फीसदी से भी अधिक छात्राओं ने इंटरमीडिएट की परीक्षा को सफलतापूर्वक पास किया है ऐसे में इनकी संख्या 5 लाख के करीब बैठती है। शिक्षा मंत्री द्वारा सभी सफल छात्राओं को 25-25 हजार रुपए देने की घोषणा की गयी है जिससे की प्रदेश की लाखों छात्राओं को लाभ मिलेगा। साथ ही परिणाम जारी करने के दौरान शिक्षा मंत्री द्वारा सभी सफल छात्राओं की तारीफ की गयी और शिक्षा के प्रति लड़कियों के रुझान को भी सहारा गया। इस मौके पर शिक्षा मंत्री द्वारा कहा गया की सरकार के प्रयासो से प्रदेश में लड़कियों की शिक्षा के प्रति रुचि बढ़ी है और वे हर क्षेत्र में कामयाबी के नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। कोरोना काल के बाद बिहार में लड़कियों के परिणाम के वृद्धि देखने को मिली है ऐसे में शिक्षा विभाग द्वारा सफल छात्राओं को लाभ देने का फैसला किया गया है।

परीक्षा परिणाम में 2.11 फीसदी की बढ़ोतरी

इंटरमीडिएट परीक्षा के परिणाम जारी करने के मौके पर शिक्षा मंत्री द्वारा प्रदेश के शिक्षा बोर्ड की तारीफ भी की गयी। शिक्षा मंत्री ने कहा की सरकार द्वारा ना सिर्फ बोर्ड की परीक्षाओं की शुचिता का ध्यान रखा गया है बल्कि इस बार बोर्ड परीक्षाओ में पूरी पारदर्शिता बरतकर नक़ल पर भी लगाम लगायी गयी है। साथ ही कोरोना के बाद बिहार बोर्ड द्वारा सबसे पहले परीक्षा परिणामो को घोषणा की गयी है। इस बार बिहार बोर्ड में 80.15 फीसदी छात्र पास हुये है जो की गत वर्ष से 2.11 फीसदी अधिक है। पिछले वर्ष इंटरमीडिएट में 78.04 छात्र पास हुये थे। जानकारी के लिए बता दे की पिछले 4 वर्षो से बिहार बोर्ड द्वारा लगातार देश में सबसे पहले बोर्ड के परीक्षा परिणाम जारी किये जा रहे है। वही शिक्षा मंत्री द्वारा मात्र 29 दिनों के भीतर ही रिजल्ट जारी करने के लिए भी शिक्षा बोर्ड की तारीफ की गयी है।

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मिलेगा पर्याप्त समय

बोर्ड द्वारा समय से परीक्षा परिणाम घोषित होने से प्रदेश में इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे लाखो छात्रों को भी राहत मिलेगी। इस बारे में जानकारी देते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा है की समय से परिणाम घोषित होने से छात्रों को भी इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिलेगा जिससे की उन्हें आसानी होगी। साथ ही बोर्ड द्वारा परीक्षा पुस्तिकाओं पर कैंडिडेट की तस्वीर लगाने सम्बंधित प्रयोग को भी शिक्षा मंत्री द्वारा सहारा गया।

Leave a Comment