बीएड की पूरी जानकारी यहां से करें प्राप्त : बी एड से क्या होता है; कैसे करे; योग्यता; फीस; सब्जेक्ट्स लिस्ट आदि

बीएड कोर्स :- आजकल की भागदौड़ भरी जिन्दगी में प्रत्येक इंसान अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में लगा हुआ है। सभी लोगों का कुछ न कुछ लक्ष्य होता है, जिसे प्राप्त करके वो अपने जीवन में सफल बनना चाहते हैं। इंसान को सफल बनाने में शिक्षा सबसे पहला जरिया है। सभी लोगों को बचपन से ही सिखाया जाता है की सफल होने के लिए आपको अच्छी शिक्षा को प्राप्त करना जरुरी है। और यह सच है की शिक्षा के बिना एक सफल जिंदगी प्राप्त करना थोड़ा मुश्किल है। सभी के जीवन का अलग अलग लक्ष्य होता है। किन्तु सभी के जीवन में शिक्षा की शुरुआत एक जगह से होती है, विद्यालय। कभी सोचिये की यदि विद्यालय न होता, शिक्षक न होते तो दुनिया कैसी होती? अतः विद्यालयों और शिक्षकों का होना बहुत अनिवार्य है।

सीखो और कमाओ योजना 2022: एप्लीकेशन फॉर्म, ट्रेनी रजिस्ट्रेशन व कोर्स लिस्ट

बीएड कोर्स (B.Ed Course) क्या है - B.Ed कैसे करें
बीएड कोर्स (B.Ed Course) क्या है – B.Ed कैसे करें

कई लोग शिक्षक के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं। जो लोग शिक्षक बनना चाहते हैं, उनको इससे सम्बंधित शिक्षा को प्राप्त करना होता है। इसके लिए आपको 12वीं के बाद स्नातक शिक्षा प्राप्त करनी होती है जो की तीन साल में पूरी होती है। इसके बाद आपको मास्टर की डिग्री प्राप्त करनी होती या आप इससे पहले बीएड भी कर सकते हैं। आज इस लेख में हम आपको बीएड कोर्स के बारे में जानकारी देंगे। तो अगर आप बीएड करना चाहते हैं और इसके विषय में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। और इससे सम्बंधित सभी जानकारी को प्राप्त करें।

B.Ed Course क्या है ?

यदि आप शिक्षक बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बीएड का कोर्स करना जरुरी है। बीएड का पूरा अर्थ bachelor of education, अर्थात शिक्षा में स्नातक। बीएड का कोर्स आप तभी कर सकते हैं जब आपने अपनी स्नातक की पढाई पूरी कर ली है। स्नातक की पढ़ाई तीन वर्ष की होती है। बीएड कोर्स दो वर्ष का होता है, जिसमे आपको एक शिक्षक बनने की पूरी पढाई करनी होती है। चूंकि ये शिक्षा और शिक्षक दोनों से सम्बंधित कोर्स है तो इसमें आपको पढ़ने के साथ-साथ पढ़ाने का मौका भी मिलता है। यह भी बीएड के कोर्स का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसमें आप किसी भी प्राइवेट या सरकारी स्कूल या कॉलेज में पढ़ा सकते हैं।

बीएड कोर्स के लिए पात्रता

यदि आप बीएड करना चाहते हैं तो आपके पास निम्न पात्रताओं का होना जरुरी है।

  • इसके लिए आपके पास स्नातक की पढ़ाई की डिग्री होना आवश्यक है।
  • डिग्री किसी भी विषय में हो।
  • स्नातक की पढ़ाई में कम से कम 50 प्रतिशत होना आवश्यक है।
  • बीएड के लिए स्नातक की पढ़ाई का प्रतिशत अलग अलग कॉलेज में भिन्न हो सकता है।
  • आपके पास ग्रेजुएशन के रिजल्ट होना जरुरी है।
  • यदि आपने पोस्ट ग्रेजुएशन भी की है तो आप बीएड के पात्र हैं।
  • बीएड करने के लिए आपको एक एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है।
  • कम से कम उम्र 21 और अधिक से अधिक उम्र 35 वर्ष होनी चाहिए।

B.Ed के लिए Entrance Exam

यदि आपका ग्रेजुएशन पूरा हो चूका है और आप बीएड करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एक Entrance Exam पास करना होगा। तभी आप बीएड में दाखिला ले सकते हो। सभी कॉलेज या यूनिवर्सिटी Entrance Exam अपने हिसाब से करवाते हैं। Entrance Exam राज्यस्तर पर भी होता है। Entrance Exam में अच्छे नंबर आने पर आपको दाखिला सरकारी कॉलेज में हो जाता है, जहाँ आपकी फीस भी कम होगी। Entrance Exam का रिजल्ट आने के बाद आपको कौन्सिलिंग करवानी पड़ती है। यदि आपके ज्यादा नंबर भी नहीं आये और आपको सरकारी कॉलेज नहीं मिलता है तो आपको घबराने की जरुरत नहीं है। आप अपना दाखिला किसी प्राइवेट कॉलेज में आसानी से करवा सकते हो। बस यहाँ आपकी फीस थोड़ा ज्यादा हो सकती है।

बीएड कोर्स के लिए आयु सीमा

सभी क्षेत्रों में आयु सीमा निर्धारित होती है। बीएड के लिए आपकी उम्र 21 वर्ष से अधिक और 35 वर्ष से कम होना आवश्यक है। आपकी उम्र अधिक होने पर कुछ कॉलेज या यूनिवर्सिटी आपको आपकी शिक्षा के आधार पर आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट प्रदान करते हैं। अर्थात आप 40 वर्ष की आयु तक बीएड करने के पात्र हैं।

बीएड कोर्स B.Ed कैसे करें ?

यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो आपको बीएड का कोर्स करना चाहिए। यदि आपको बीएड कैसे करना है इसकी जानकारी या प्रक्रिया का पता नहीं है तो नीचे लिखी बातों को ध्यानपूर्वक पढ़ें और इसकी प्रक्रिया को जानें।

  • सबसे पहले 11वीं में आपको जिस भी विषय में दिलचस्पी है या जिस भी विषय में आप बीएड करना चाहते हो, आपको उस विषय का चयन करना है।
  • माना कि आपको विज्ञान वर्ग में बीएड करना है या विज्ञान वर्ग का शिक्षक बनना है तो आपको विज्ञान वर्ग के विषयों का चयन करना होगा।
  • आपको 12वीं की कक्षा में कम से कम 50 प्रतिशत तक अंक प्राप्त कर पास होना होगा।
  • 12वीं पास करने के बाद आपको ग्रेजुएशन करना होगा।
  • जिस विषय से आपने 12वीं उत्तीर्ण किया है, ग्रेजुएशन भी आपको उन्हीं विषयों से करना है।
  • बीएड के लिए ग्रेजुएशन करना बहुत महत्वपूर्ण है, बिना ग्रेजुएशन के आप बीएड नहीं कर सकते।
  • ग्रेजुएशन में आपके कम से कम 50 प्रतिशत अंक आना जरुरी है।
  • अपनी ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद आपको बीएड के लिए अप्लाई करना है।
  • अब आपको बीएड Entrance Exam का फॉर्म भर देना है।
  • अच्छे कॉलेज में अपना दाखिला करवाने के लिए आपको Entrance Exam को अच्छे अंकों से पास करना होगा।
  • Entrance Exam का रिजल्ट आने के बाद आपको कौन्सिलिंग करवानी होगी।
  • आपके अंकों के आधार पर आपको कॉलेज मिल जायेगा।
  • यदि आपको सरकारी कॉलेज मिलेगा तो वहां आपकी फीस कम होगी, किन्तु प्राइवेट कॉलेज में आपकी फीस ज्यादा होगी।
  • कौन्सिलिंग के बाद मिले कॉलेज में आप अपना दाखिला आसानी से करवा सकते हो।
  • इस प्रकार आप बीएड में दाखिला ले सकते हो और अपने शिक्षक बनने के लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हो।

बीएड कोर्स करने के क्या क्या फायदे हैं ?

शिक्षित होने के बाद आप किसी ज्ञान के भण्डार से कम नहीं होते हैं। और बीएड करने के बाद अपने इस ज्ञान के भण्डार को सही तरीके से उपयोग में ला कर देश के उज्जवल भविष्य में अपना योगदान दे सकते हो। बीएड करने के काफी फायदे हैं आईये आपको कुछ फायदों से अवगत करवाते हैं।

  • बीएड करने के बाद आप देश के भविष्य यानि की बच्चों की शिक्षा में अपना योगदान दे सकते हो।
  • बीएड करने के पश्चात् आप सरकारी अध्यापक के लिए आने वाली भर्तियों में हिस्सा ले सकते हो।
  • इसके बाद आप किसी स्कूल,कॉलेज,या किसी कोचिंग सेंटर में पढ़ा सकते हैं।
  • आप अपना ऑनलाइन क्लास भी शुरू कर सकते हो।
  • बीएड के बाद आप ऑफलाइन भी बच्चों को ट्यूशन पढ़ा सकते हो।
  • इससे आप किसी कॉलेज में प्रोफेसर भी बन सकते हैं।
  • बीएड करने के बाद आप एक अच्छे सलाहकार भी बन सकते हैं।

बीएड कोर्स से सम्बंधित कुछ प्रश्न-उत्तर

बीएड क्या है ?

बीएड एक कोर्स है, इसको करने से आप शिक्षक बनते हैं। यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हो तो आपको बीएड करना चाहिए। इसमें आपको पढ़ने के साथ-साथ पढ़ाने का मौका भी मिलता है।

B.Ed Entrance Exam क्या है ?

बीएड में दाखिला लेने के लिए आपको एक Entrance Exam देना पड़ता है। इसमें आये अंकों के अनुसार आपको कॉलेज मिलते हैं , जिनमे आप अपना दाखिला ले कर बीएड की पढ़ाई पूरी कर सकते हो।

B.Ed के लिए Entrance Exam क्यों जरुरी है?

B.Ed के लिए Entrance Exam जरुरी है क्योंकि इसी के आधार पर आपको कॉलेज मिलता है और आप कॉलेज में दाखिला ले सकते हो। बिना Entrance Exam के आप बीएड में दाखिला नहीं ले सकते।

बीएड कैसे करें ?

बीएड आप दो तरीकों से कर सकते हैं, रेगुलर और डिस्टेंस से। रेगुलर में आपको रोज़ कॉलेज जाना होता है और इसकी फीस भी ज्यादा होती है। और डिस्टेंस में आपको बस पेपर देने के लिए ही कॉलेज जाना होता है और इसकी फीस भी कम होती है।

B.Ed किस क्लास के बाद कर सकते है ?

अब B.Ed सीधे 12वीं के बाद किया जा सकता है और इसकी अवधि 4 साल की होगी।

Leave a Comment