BBA FULL FORM IN HINDI | BBA की फुल फॉर्म क्या है ?

अलग-अलग क्षेत्रों में कार्य करने हेतु हम अलग-अलग कोर्स करते है ऐसे ही बिजनेस की बारीकियों के समझने एवं इसका प्रबंधन करने के लिए BBA कोर्स किया जाता है। इस लेख में आपको BBA FULL FORM IN HINDI बताई जाएगी। साथ ही BBA की फुल फॉर्म क्या है को जानने के अतिरिक्त आप आप BBA कोर्स क्या है, BBA कोर्स करने के लिए लिया क्या पात्रता है तथा BBA कोर्स संबंधित सभी महत्वपूर्ण तथ्यों से आप परिचित होंगे। अगर आप BBA करने की सोच रहे है तो आपको BBA की फुल फॉर्म क्या है IN HINDI में बताने के अतिरिक्त इस लेख द्वारा आप इसके सभी पहलुओं को अच्छे से समझ पाएंगे।

PhD का फुल फॉर्म क्या है? – PhD full form in Hindi

BBA FULL FORM IN HINDI | BBA की फुल फॉर्म क्या है ?

BBA की फुल फॉर्म होती है Bachelor of Business Administration जिसे हिंदी में व्यावसायिक प्रबंधन में स्नातक (Bachelor of Business Administration) भी कहते है। BBA एक 3 वर्षीय अंडरग्रेजुएट कोर्स है जिसमें छात्र को बिजनेस क्षेत्र के सभी महत्वपूर्ण पहलुओं की जानकारी प्रदान की जाती है।

BBA की फुल फॉर्म क्या है ? कैसे करे BBA

जैसे की आपको बताया गया है की BBA की फुल फॉर्म Bachelor of Business Administration होती है। Bachelor of Business Administration कोर्स बिजनेस क्षेत्र की जानकारी देने के अतिरिक्त एक छात्र की व्यावसायिक कौशलता को निखारने, उसकी प्रबंधन क्षमता को बेहतर बनाने एवं उसके Executive गुण को निखारने में सहायता करता है। यह एक 3 वर्षीय अंडरग्रेजुएट कोर्स है। BBA (Bachelor of Business Administration) किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता जैसे वित, मार्केटिंग एवं HR Managment जैसे क्षेत्रों में भी किया जाता है। अगर आप भी BBA कोर्स करना चाहते है तो आपको इसके लिए किसी विशेष स्ट्रीम से 12 करने की आवश्यकता नहीं है। आप किसी भी स्ट्रीम विज्ञान, कला या कॉमर्स करने के बाद BBA (Bachelor of Business Administration) में दाखिला ले सकते है। आगे आपको BBA में एडमिशन लेने के बारे में बताया गया है।

VIP और VVIP का फुल फॉर्म क्या होता है

बीबीए के लिए प्रवेश परीक्षा-

बीबीए करने के लिए प्रवेश परीक्षा निम्नलिखित हैं-

  • IPMAT– IIM इंदौर में प्रवेश के लिए, स्नातक पाठ्यक्रम।
  • NPAT– नारसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (NMIMS) में प्रवेश के लिए।
  • AUMAT– एलायंस यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए।
  • UGTI– (एआईएमए) अखिल भारतीय प्रबंधन संघ द्वारा भारत भर के टॉप बीबीए कॉलेजों में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए।

BBA हेतु आवश्यक पात्रता

अगर आप भी BBA (Bachelor of Business Administration) में दाखिला लेने की सोच रहे है तो आप इसके लिए आवश्यक पात्रताएं पता होनी चाहिए। इसके लिए आवश्यक पात्रताएं निम्न हैं।

  • आप 10+2 करने के बाद ही BBA में दाखिला ले सकते है।
  • 10 +2 में आपके कम से कम 50% नंबर होने चाहिए। कुछ कॉलेजो में यह 60% भी है।
  • आप किसी भी स्ट्रीम से हो आप BBA में दाखिला ले सकते हैं।

कैसे लें BBA में एडमिशन

अगर आप भी BBA (Bachelor of Business Administration) में एडमिशन लेना चाहते है तो BBA में एडमिशन दो तरीको से लिए जा सकता है।

  • डायरेक्ट एडमिशन
  • एंट्रेंस एग्जाम बेस्ड

अगर आप BBA (Bachelor of Business Administration) में डायरेक्ट एडमिशन लेना चाहते है तो देश के अधिकतर निजी संस्थान आपके 10+2 में प्राप्त नंबरो के आधार पर आपको एडमिशन दे देते है। इसके लिए आपके 10+2 में न्यूनतम 50% नंबर होने चाहिए। अगर आपने किसी भी स्ट्रीम से 10+2 किया है तो भी आप BBA (Bachelor of Business Administration) में एडमिशन लेने हेतु पात्र है।

कुछ प्रसिद्ध तथा सरकारी संस्थानों में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम करवाया जाता है। इस एग्जाम में आपको प्राप्त नंबर के आधार पर ही आपको दाखिला दिया जाता है। अतः इन संस्थानों में एडमिशन लेने के लिए आपको मेरिट में आना होगा।

BBA (Bachelor of Business Administration) के लिए राष्ट्रीय स्तर पर कराये जाने वाले कुछ एग्जाम निम्न है – UPSEE,MUMCET, IPU CET आदि।

BBA कोर्स करने के क्या है लाभ

अगर आप भी BBA (Bachelor of Business Administration) कोर्स करना चाहते है तो इसके कुछ लाभ निम्न है।

  • BBA करने के बाद आपको बिजनेस क्षेत्र की अच्छी समझ हो जाती है और आप बिजनेस के सभी पहलुओं से अच्छी तरह से परिचित हो जाते है।
  • इस कोर्स को करने के बाद आपकी प्रबंधन क्षमता और ENTERPRENAUR स्किल्स बढ़ जाती है।
  • आप अपना खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते है।
  • आप इसके बाद उच्च शिक्षा हेतु MBA भी कर सकते है।
  • यह कोर्स 10+2 के बाद ही किया जा सकता है अतः इसमें आपको नौकरी करने के अवसर जल्दी ही प्राप्त होते है।

UAE Ka Full Form in Hindi | यूएई का फुल फॉर्म क्या है

BBA कोर्स करने के बाद करियर

BBA (Bachelor of Business Administration) कोर्स करने के बाद करियर की अपार सम्भावनाये है। अगर आप इस कोर्स में अच्छे से सभी पहलुओं को सीख लेते है तो आपके लिए जॉब के अपार संभावनाए है। इसके लिए सरकारी और निजी क्षेत्र में विकल्प मौजूद है। यहाँ आपके लिए कुछ करियर के विकल्प निम्न है।

  • अधिकतर कंपनियां अपने यहाँ HR मैनेजर की पोस्ट के लिए BBA ग्रेजुएट कैंडिडेट को लेती है।
  • BBA के बाद आप प्रबंधन विश्लेषक (Management Analyst) बन सकते है।
  • BBA में चूँकि आप प्रबंधन के सभी पहलु सीखते हैं अतः आप इवेंट ORGANISER भी बन सकते है।
  • BBA के बाद आप वित्तीय प्रबंधक (Financial Manager) तथा वित्तीय सलाहकार (Financial Advisor) भी बन सकते है।
  • BBA में आपको बिजनेस की अच्छी जानकारी हो जाती है अतः आप अपना व्यवसाय भी शुरू कर सकते है।
  • ज्यादातर MNC में HR मैनेजर की पोस्ट के लिए BBA किये हुए योग्य उम्मीदवारो का चयन किया जाता है अतः आप भी HR मैनेजर के लिए अप्लाई कर सकते है।
  • BBA करने के बाद Statistician, Accountant एवं Mathematician भी बन सकते है।
  • BBA करने के बाद आप किसी भी कंपनी में मार्केटिंग मैनेजर के पद के लिए आवेदन कर सकते है।
  • BBA करने के बाद करियर के ऐसे ही कई और विकल्प भी आपको मिलते है।

इस प्रकार BBA (Bachelor of Business Administration) एक ऐसा कोर्स है जिसे करने के बाद आपके लिए करियर के कई विकल्प खुल जाते है और आप अपने मनचाहे क्षेत्र में कार्य कर सकते है और साथ ही चाहे तो आप अपना व्यवसाय भी शुरू कर सकते है।

सीडीएस (CDS) का फुल फॉर्म क्या है — CDS Full Form in Hindi

BBA की फुल फॉर्म से सम्बंधित प्रश्न

BBA करने के किया फायदे होते हैं ?

BBA करने के बाद सरकारी या फिर किसी आईटी कंपनी में जॉब कर सकते हैं। BBA करने के दौरान बहुत सारी कॉर्पोरेट एक्टविटीज सिखने को मिलती है। जिससे आने वाले समय में कोई भी आसानी से अपने बिज़नेस शुरू कर सकते हैं।

बीबीए करने के बाद कौन सी जॉब मिलती है ?

बीबीए करने के बाद सेल्स मैनेजर, कॉस्ट एस्टीमेटर, ऑपरेशन मैनेजर, सप्लाई चैन मैनेजर लॉस प्रिवेंशन मैनेजर आदि प्रकार के जॉब मिलते हैं और आप बाद में अपना बिजनेस शुरू करने के लिए भी काफी साड़ी नॉलेज ले चुके होते हैं।

BBA करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है ?

BBA करने के बाद शुरुआत में 3.5 से लेकर 10 लाख तक सैलरी मिल सकती है और जैसे-जैसे एक्सपीरियंस बढ़ेगा वैसे सैलरी में भी इजाफा होगा।

बीबीए करने में कितना पैसा खर्च होता है ?

बीबीए प्राइवेट और सरकारी दोनों संस्थाओं से होता है और इनकी फीस में भी काफी अंतर होता है। सरकारी संस्थाओं में फीस 35000 से लेकर 50000 रूपये तक होती है और प्राइवेट संस्थाओं में 1.5 लाख से लेकर 4-5 लाख तक हो सकती है।

Leave a Comment