International Day of Disabled Persons: (विश्व विकलांग दिवस 2022) जानें क्या है इस बार की थीम

हमारे समाज में रहने वाले विकलाँग (दिव्यांग) जनों को सम्मानपूर्वक जीवन जीने एवं मानवीय गरिमा के साथ जीने के अधिकार को बढ़ावा देने के लिए प्रतिवर्ष विश्व विकलांग दिवस मनाया जाता है। इस दिवस के माध्यम से सभी नागरिकों को विकलांग जनों के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार करने एवं विकलांग जनों को समाज की मुख्य धारा में शामिल करके उन्हें विभिन अधिकार प्रदान करने हेतु विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। प्रायः विकलांग जनों को विश्व के सबसे बड़े अल्पसंख्यक समुदाय के रूप में गिना जाता है ऐसे में विकलांग जनों के उत्थान हेतु संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रतिवर्ष विश्व विकलांग दिवस मनाया जाता है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको विश्व विकलांग दिवस 2022 क्या है ? (International Day of Disabled Persons),

इस वर्ष विश्व विकलांग दिवस की थीम क्या है ? इस दिवस का उद्देश्य एवं इतिहास क्या है सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले है। साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से आपको दिव्यांगजनों हेतु सरकार द्वारा उठाये गए विभिन कदमों के बारे में भी जानकारी प्रदान की जाएगी।

World Aids Day 2022: क्यों मनाया जाता है विश्व एड्स दिवस, क्या है इस साल की थीम

विश्व विकलांग दिवस
अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस

International Day of Disabled Persons

संयुक्त राष्ट्र संघ की रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में लगभग 15 फीसदी लोग दिव्यांग जनों की श्रेणी में आते है। इस प्रकार से इस समुदाय को दुनिया का सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय माना गया है। दिव्यांग जनों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने एवं इन्हे विभिन राजनैतिक, आर्थिक एवं सामाजिक अधिकार प्रदान करने के लिए प्रतिवर्ष विश्व विकलांग दिवस का आयोजन किया जाता है। इस दिवस के अवसर पर सभी नागरिको को विकलांगजनो के साथ उचित व्यवहार करने एवं उनके जीवन स्तर को बेहतर बनाने हेतु अपने योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। प्रतिवर्ष संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा वर्तमान परिप्रेक्ष्य में इस दिवस के लिए एक मुख्य विषयवस्तु का चयन भी किया जाता है जिसके आधार पर विश्व विकलांग दिवस में विभिन कार्यक्रमों एवं नीतियों को तय किया जाता है।

विश्व विकलांग दिवस क्यों मनाया जाता है ? इतिहास

विकलांग जनों को प्रायः अपने प्रतिदिन की आवश्यकताओं के लिए दूसरे व्यक्तियों पर निर्भर रहना पड़ता है ऐसे में वे विभिन प्रकार की समस्याओ का सामना करते है। साथ ही समाज का सुभेद्य वर्ग होने के कारण अकसर दिव्यांगजनों को अपने समुचित अधिकार भी नहीं मिल पाते। दिव्यांगजनों को विभिन सामाजिक, आर्थिक एवं राजनैतिक अधिकार दिलाने एवं उन्हें समाज की मुख्य धारा में शामिल करके गरिमापूर्ण जीवन जीने का अवसर प्रदान करने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रतिवर्ष 3 दिसंबर को विश्व विकलांग दिवस मनाया जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस के अवसर पर नागरिको में विकलांग जनों के साथ उचित, सम्मानपूर्वक एवं गरिमापूर्ण व्यवहार करने हेतु प्रोत्साहित किया जाता है। साथ ही इस अवसर पर विकलांग जनों के कल्याण एवं अधिकारों को बढ़ावा देने एवं सम्पूर्ण विश्व को इस सम्बन्ध में जागरूक करने के लिए इस दिन विभिन कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। इस अवसर पर विकलांग जनों के अधिकार एवं हितों के लिए कार्य करने वाली संस्थाओं को पुरस्कृत करने एवं विकलांग जनों द्वारा विभिन क्षेत्र में किए गए असाधारण प्रदर्शन एवं कार्यो के सम्बन्ध में भी प्रदर्शनी की जाती है। साथ ही विकलांग जनों द्वारा कला, संगीत, साहित्य एवं अन्य सृजनात्मक क्षेत्रों में विभिन प्रदर्शनियों को भी दुनिया के सामने रखा जाता है।

विश्व विकलांग दिवस कब मनाया जाता है ?

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस (International Day of Disabled Persons) को प्रतिवर्ष 3 दिसंबर को मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र संघ की पहल पर वर्ष 1992 से विश्व विकलांग दिवस या विकलांग व्यक्तियों का अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाने की शुरुआत की गयी थी जिसके पश्चात प्रतिवर्ष 3 दिसंबर को विश्व विकलांग दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर विशिष्ठ थीम के साथ विभिन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा वर्ष 1983 से 1992 तक के दशक को विकलांग जनों के लिए संयुक्त राष्ट्र का दशक घोषित किया था।

27 दिसंबर 2015 को अपने रेडियो कार्यक्रम “मन की बात” में प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी द्वारा विकलांग जनों को “विकलांग” शब्द की बजाय “दिव्यांग” शब्द से सम्बोधित करने की घोषणा की गयी थी। इसके पश्चात भारत सरकार द्वारा आधिकारिक रूप से विकलांग जनों के लिए विकलांग शब्द की जगह “दिव्यांग (Divine body part)” शब्द का प्रयोग किया जा रहा है।

विश्व विकलांग दिवस की थीम क्या है ?

संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा इस वर्ष भी अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस का आयोजन 3 दिसंबर 2022 को किया जा रहा है। वर्ष 2022 के लिए विकलांग व्यक्तियों का अंतरराष्ट्रीय दिवस (International Day of Disabled Persons) की थीम “समावेशी विकास हेतु परिवर्तनकारी समाधान” (Transformative solutions for inclusive development: the role of innovation in fuelling an accessible and equitable world) रखी गयी है। इसके माध्यम से अन्वेषण के उपयोग द्वारा विकलांग जनों के जीवन को बेहतर बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

विश्व विकलांग दिवस का उद्देश्य

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस का उद्देश्य विकलांग जनों को समाज में समुचित एवं बराबरी का अधिकार प्रदान करना है। इसके माध्यम से नागरिको को विकलांग जनों के अधिकारों एवं उनके जीवन स्तर को बेहतर बनाने के लिए सहभागिता को प्रोत्साहित किया जाता है। विकलांगजनों के अक्षमता के मुद्दे पर नागरिको का ध्यान खींचने एवं इनके द्वारा प्रतिदिन के जीवन में सहन की जा रही कठिनाईयों के बारे में लोगो को जागरूक करने के लिए भी विश्व विकलांग दिवस महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साथ ही इस दिवस के माध्यम से विकलांग जनों की असाधारण क्षमता की ओर भी लोगो का ध्यान आकर्षित किया जाता है।

विश्व विकलांग दिवस, हमारी भूमिका

विश्व विकलांग दिवस के अवसर पर हम सभी का नैतिक एवं मानवीय दायित्व बनता है की अपने आसपास रह रहे सभी दिव्यांग लोगो की सहायता करें एवं उनके साथ उचित एवं गरिमापूर्ण व्यवहार प्रदर्शित करें। साथ ही दिव्यांगजनों के अधिकारों को सुरक्षित करने के साथ उनके जीवन को बेहतर बनाने के लिए भी सभी नागरिको का सहयोग अपेक्षित होता है।

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस 2022 सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस क्यों मनाया जाता है ?

विश्व विकलांग दिवस का आयोजन विश्व में दिव्यांग जनों की अधिकारों की सुरक्षा एवं सभी नागरिको को दिव्यांग जनों के साथ उचित एवं सम्मानपूर्वक व्यवहार प्रोत्साहित करने के लिए किया जाता है।

विश्व विकलांग दिवस का आयोजन किसके द्वारा किया जाता है ?

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस का आयोजन संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा वर्ष 1992 से प्रतिवर्ष किया जा रहा है। इस दिवस पर दिव्यांग अधिकार से सम्बंधित विभिन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस किस दिन मनाया जाता है ?

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस (International Day of Disabled Persons) प्रतिवर्ष 3 दिसंबर को मनाया जाता है। इसे संयुक्त राष्ट्र संघ की पहल पर वर्ष 1992 से प्रतिवर्ष मनाया जा रहा है।

विश्व विकलांग दिवस सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करें ?

अंतर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए ऊपर दिया गया आर्टिकल पढ़े। यहाँ आपको International Day of Disabled Persons सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की गयी है।

वर्तमान में भारत सरकार द्वारा विकलांग जनों को किस नाम से सम्बोधित किया जाता है ?

वर्तमान में भारत सरकार द्वारा विकलांग जनों को दिव्यांग जन के नाम से सम्बोधित किया जाता है।

वर्ष 2022 में International Day of Disabled Persons की थीम क्या है ?

वर्ष 2022 में International Day of Disabled Persons की थीम “समावेशी विकास हेतु परिवर्तनकारी समाधान” (Transformative solutions for inclusive development: the role of innovation in fuelling an accessible and equitable world) है।

Leave a Comment

Join Telegram