एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन – Acidity ke liye behtarin yogasana

एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन– आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन से जुड़ी जानकारी साझा करने जा रहे है। आज के इस दौर में असंतुलित खानपान की वजह से लोगो को पेट से संबंधित कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो जाती है। मुख्य रूप से यह समस्या एसिडिटी की होती है जो पाचन तंत्र सही नहीं होने के कारण विशेष रूप से होती है। तो आइये जानते है की Acidity ke liye behtarin yogasana के बारे में विस्तार रूप से की कौन कौन से योगासन से एसिडिटी की समस्या को दूर किया जा सकता है।

हाई बीपी के लिए 8 योगासन – High BP Ke Liye 8 Yoga Poses

एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन - Acidity ke liye behtarin yogasana

एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन Acidity ke liye behtarin yogasana

वज्रासन (Vajrasana)- एसिडिटी की समस्या को दूर करने के लिए आप वज्रासन योगासन कर सकते है। गैस की समस्या के लिए वज्रासन को काफी लाभकारी yogasana माना जाता है। इस योग को करने से डाइजेशन से संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद मिलती है। वज्रासन से कब्ज ,एसिडिटी ,आंतो की गैस ,पाईल्स आदि में आराम मिलता है क्युकी वज्रासन योग से ब्लड फ्लो और अधिक बढ़ जाता है।

एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन - Acidity ke liye behtarin yogasana

हाइट बढ़ाने के लिए योगासन : Height Badhane Ke Liye Yogasan

अनुलोम विलोम (Anulom Vilom)– एसिडिटी की समस्या दूर करने के लिए अनुलोम विलोम योगासन अत्यंत लाबकारी माना गया है। एसिडिटी की समस्या से छुटकारा प्राप्त करने के लिए अनुलोम विलोम प्रणायाम का नियमित रूप से अभ्यास करना शुरू करें। यह योगासन इस समस्या को दूर करने में काफी सहायक है। साथ ही यह योगासन अन्य तरह की समस्याओं को दूर करने में आपकी मदद करेगा।

एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन - Acidity ke liye behtarin yogasana

खर्राटे को दूर करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

पवनमुक्तासन (Pavanmuktasana)- एसिडिटी की समस्या में आराम पाने के लिए डाइजेशन संबंधी समस्याओं से मुक्ति पाने के लिए पवनमुक्तासन को बेहतर फायदेमंद माना गया है। यदि आप एसिडिटी की समस्या से परेशान है तो यह योगासन नियमित रूप से करे। ऐसे करने से आपको एसिडिटी की समस्या में आराम होगा। इस योग से डाइजेशन सिस्टम भी और मजबूत होगा।

Acidity ke liye behtarin yogasana

योग में करियर कैसे बनाएं- यहां है अवसरों की भरमार

हलासन (Halasana)– एसिडिटी और गैस की समस्या में राहत पाने के लिए हलासन योग बेहतर फायदेमंद है। हलासन योग कब्ज एवं अपच व डाइजेशन से सम्बन्धी परेशानियों से छुटकारा दिलाने के लिए काफी लाभदायक है। यह योग हलासन हल की तरह दिखता है जिसे हलासन के नाम से जाना जाता है।

सर्वाइकल पेन का घरेलू इलाज – Survical Pain Ka Gharelu ilaaj

उष्ट्रासन (Ustrasana)- एक्सपर्ट के अनुसार उष्ट्रासन योग करने से डाइजेशन सिस्टम को स्ट्रांग बनाने में काफी मदद मिलती है। डाइजेशन सिस्टम स्ट्रांग होने से एसिडिटी की समस्या से मुक्ति मिलती है। यह पेट संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए एक फायदेमंद योगासन है। गैस और एसिडिटी की समस्या के लिए उष्ट्रासन को बेहद कारगार योगासन माना जाता है। इस आसान को करने से पेट सम्बन्धी सभी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

टी.बी के लक्षण और घरेलू उपचार | T.B. (Tuberculosis) Ka Gharelu ilaaj!

कपालभाति प्राणायाम (Kapalabhati Pranayama)- एक रिसर्च के मुताबिक कपालभाति योगासन करने से पेट के निचले हिस्से की मांसपेशियों पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। कपालभाति एसिडिटी और गैस की समस्या को दूर करने के लिए एक फायदेमंद योग है। जिसका नियमित रूप से योग करने से अन्य तरह की समस्याओं से भी छुटकारा प्राप्त किया जा सकता है। यह योग श्वसन मार्ग को साफ़ बनाने एवं डायफ्राम को मजबूत बनाने में काफी सहायक है।

एसिडिटी के लिए बेहतरीन योगासन - Acidity ke liye behtarin yogasana

बालों की देखभाल के घरेलू नुस्खे (Home Remedies For Hair Care)

Acidity ke liye behtarin yogasana FAQ’s

एसिडिटी या गैस बार-बार क्यों बनती है ?

पेट में एसिडिटी होने का कारण है जब पेट में हमारी गैस्ट्रिक ग्लेंड्स अत्यधिक मात्रा में गैस का उत्पादन करती हैं। जिस वजह से किडनी पर जोर पड़ता है और वह इस नसे छुटकारा पाने में असमर्थ होती है।

एसिडिटी को हमेशा के लिए कैसे ठीक कर सकते हैं ?

गैस और एसिडिटी की समस्या अब आम हो गई है। आजकल ज्यादातर सभी को यह समस्या है, कुछ घरेलु उपाय से भी इनसे निजात पाया जा सकता है- एलोवेरा का जूस ये त्वचा के साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है, अदरक का उपयोग कर सकते हैं इसमें कई तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं, निम्बू, सोंफ, दालचीनी आदि। आमतौर पर गैस या एसिडिटी का कारण मसालेदार खाना, कॉफ़ी, काम फाइबर वाला खाना आदि हो सकते हैं।

एसिडिटी होने पर हमें क्या नहीं खाना चाहिए ?

सबसे पहले हमें फैट और तेल से भरपूर भोजन को खाने से परहेज करना होगा, साथ ही मसालेदार भोजन को बिलकुल भी नहीं खाना चाहिए और मेदे से बने पदार्थ कहने से भी गैस की समस्या बढ़ जाती है। गैस की समस्या होने पर इन सभी को खाना बंद कर देना चाहिए।

गैस बनने पर कौन-कौन से व्यायाम या योगासन करना चाहिए ?

गैस की समस्या होने पर कुछ योगासन और व्यायाम होते हैं जिनकी मदद से इसे काम किया जा सकता है- जैसे वज्रासन, पवनमुक्त आसान, कपालभांति, उष्ट्रासन आदि। योग गैस, सूजन और गैस्ट्रिक की समस्या को काम करने में मदद करता है।

Leave a Comment

Join Telegram