खुशखबरी! 7th Pay Commission New Salary: केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में होगी 2.30 लाख रुपये की बढ़ोतरी!

7th Pay Commission New Salary: देश में सभी सरकारी कर्मचारियों को सरकार के द्वारा महंगाई भत्ता प्रदान किया जाता है। जिसे हम DA अर्थात Dearness Allowance भी कहते हैं। भारत में लगभग सभी केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता DA और होम रेंट अलाउंस दिया जाता है। नए साल आने के साथ साथ सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी भी आयी है। यह खुशखबरी कर्मचारियों की सैलरी से सम्बंधित है। आपको बता दें की सरकार ने सभी कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने का निर्णय लिया है। केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में लगभग 2.30 लाख रूपये तक की बढ़ौतरी की है। यदि आप इस विषय में और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। इसमें हम आपको सारी जानकारी देंगे।

क्या होता है महंगाई भत्ता

देश में सभी सरकारी कर्मचारियों को सरकार के द्वारा महंगाई भत्ता प्रदान किया जाता है। जिसे हम DA अर्थात Dearness Allowance भी कहते हैं। इसकी शुरुआत 1972 में मुंबई में की गयी थी। और धीरे धीरे सरकार ने सभी कर्मचारियों के लिए इसे शुरू कर दिया। महंगाई भत्ता सरकारी कर्मचारियों को रहन सहन के लिए सरकार द्वारा प्रदान कराई जाती है। इसका यह उद्देश्य होता है कि यदि देश में महंगाई भी बढ़ रही है तो कर्मचारी पर इसका ज्यादा प्रभाव न पड़े। और वह बिना किसी समस्या के अपना जीवन यापन कर सके। महंगाई भत्ता न केवल सरकारी कर्मचारी बल्कि सेवा निर्वित पेंशन धारकों को भी प्रदान की जाती है।

केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में होगी 2.30 लाख रुपये की बढ़ोतरी

देश के 7वें वेतन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार 2022 में आयोग के तहत 3% महंगाई भत्ता बढ़ने की संभावना है। महंगाई भत्ते में बढ़ौतरी के कारण कर्मचारियों की सैलरी में भी इजाफा किया जायेगा। पहले महंगाई भत्ता 31 फीसदी था। AICPI आंकड़ों के तहत अभी तक सितम्बर 2021 तक के आंकड़े निकले गए हैं। जिसके अनुसार महंगाई भत्ता 32.81 फीसदी ही है। अब यदि आगे के महंगाई भत्ते की बात करें तो इसमें लगभग 3 फीसदी बढ़ौतरी होगी। अर्थात तब यह 34% तक होगा।

सैलरी की गणना/कैलकुलेशन

जैसा की हमने आपको बताया कि AICPI के तहत सितम्बर के माह तक की गणना के अनुसार महंगाई भत्ता लगभग 32 फीसदी कुछ है। सितम्बर के बाद की गणना होने के बाद ही इस बारे में साफ़ होगा की महंगाई भत्ता दर कितना बढ़ाया जायेगा। जहाँ तक अंदाजे की बात है तो लगता है कि इसमें लगभग 3% की बढ़ौतरी होगी। जिससे की महंगाई भत्ता 34% तक चला जायेगा।

34% पर महंगाई भत्ते पर गणना

अब यदि महंगाई भत्ता 3 फीसदी बढ़ जाता है तो इसके अनुसार महंगाई भत्ता टोटल 34% तक हो जायेगा (7th Pay Commission New Salary:)। न्यूनतम बेसिक सैलरी 18000 रूपये पर कुल सालाना महंगाई भत्ता 73,440 हो जाता है। अब यदि इसमें अंतर की बात करें तो वेतन में सालाना 6,480 रूपये की बढ़ौतरी होगी। आईये आपको न्यूनतम सैलरी और अधिकतम सैलरी की गणना करके समझते हैं।

न्यूनतम बेसिक सैलरी

कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18000 रूपये है, नया महंगाई भत्ता 34% पर 6120 रूपये प्रति माह हो जायेगा। अभी का महंगाई भत्ता 31% पर 5580 रूपये प्रति माह है।

  • तो महंगाई भत्ते में बढ़ौतरी = 6120-5580 =540 रूपये प्रति माह
  • सालाना सैलरी में बढ़ौतरी = 540 X 12 = 6,480 रूपये

अधिकतम बेसिक सैलरी

कर्मचारी की अधिकतम सैलरी 56900 रूपये है, नया महंगाई भत्ता 34% पर 19346 रूपये प्रति माह हो जायेगा। अभी का महंगाई भत्ता 31% पर 17639 रूपये प्रति माह है।

Leave a Comment