7th Pay Commission Increment: केंद्रीय कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी में बंपर बढ़ोतरी! सैलरी में होगा बड़ा इजाफा, समझिए गुणा-गणित

7th Pay Commission Increment: दोस्तों नए साल की शुरुआत में कई नियमों में परिवर्तन होता है। नए साल के आने में सरकार केंद्र के सरकार कर्मचारियों के लिए खुशखबरी दे सकती है। जी हाँ, सरकार सभी सरकारी कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में इज़ाफ़ा कर सकती है। महंगाई भत्ता (Dearness allowance), HRA, TA, में प्रोमोशन होने के बाद नए साल में सरकारी कर्मचारियों को तोहफा मिल सकता है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में बढ़ोतरी के विषय में जानकारी देंगे। यदि आप इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में होगी बढ़ोतरी

जैसे कि हमने आपको बताया कि सरकार सभी कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में इज़ाफ़ा कर सकती है। दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र के सभी कर्मचारियों के लिए फिटमेंट फैक्टर, बेसिक वेतन तय करता है। बीते वर्ष 2016 में सरकार द्वारा कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर बढ़ाया गया था। इससे पहले सरकारी कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 6000 रूपये था। जो कि फिटमेंट फैक्टर बढ़ाये जाने पर 18 हजार रूपये तक बढ़ गयी थी। और इस वर्ष अर्थात 2022 में भी सरकार सभी सरकारी कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन के फिटमेंट फैक्टर में बढ़ोतरी होने की संभावना बताई जा रही है। जिससे सभी सरकारी कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में इज़ाफ़ा हो सकता है।

कितना होगा न्यूनतम वेतन में इज़ाफ़ा

जैसा कि हमने आपको बताया कि 2016 में सरकार ने सभी सरकारी कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर में बढ़ोतरी की थी। जिससे कि सभी कर्मचारियों न्यूनतम वेतन में बढ़ोतरी हुई। इस बार भी काफी समय से फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाने को लेकर सरकारी कर्मचारियों की मांग थी। सभी सरकारी कर्मचारियों की मांग थी कि उनके फिटमेंट फैक्टर को 2.57 प्रतिशत से बढ़ाकर 3.68 प्रतिशत कर दिया जाए। जिसको लेकर सरकार बड़ा फैसला भी ले सकती है। बताया जा रहा है कि यदि इस बार फिटमेंट फैक्टर में इज़ाफ़ा होता है तो सरकारी कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 26 हजार तक बढ़ सकता है।

बढ़ेगा महंगाई भत्ता

दोस्तों आप सभी जानते हैं कि यदिआपके फिटमेंट फैक्टर में बढ़ोतरी होती है तो आपके महंगाई भत्ते में भी इज़ाफ़ा हो जाता है। दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वर्तमान महंगाई भत्ता होता बेसिक वेतन के 31 फीसदी होता है। इसीलिए यदि सरकारी कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी होती है तो महंगाई भत्ते के प्रतिशत में स्वतः ही इज़ाफ़ा हो जाता है। इस बार महंगाई भत्ते में लगभग 3 प्रतिशत बढ़ौतरी हो सकती है। जिससे महंगाई भत्ता वेतनमान के 34 फीसदी हो जायेगा।

न्यूनतम वेतन का कैलकुलेशन

महंगाई भत्ते की दर को बेसिक वेतन से गुणा करके महंगाई भत्ते का कैलकुलेशन निकाला जाता है। अर्थात बेसिक वेतन बढ़ने पर महंगाई भत्ता स्वतः ही बढ़ जायेगा। आईये आपको इसकी गणना की जानकारी देते हैं।

  • यदि वर्तमान न्यूनतम बेसिक सैलरी 18,000 रुपये है।
  • तो महंगाई भत्ते को छोड़कर सैलरी 18,000 X 2.57= 46,260 रुपये होगी।
  • महंगाई भत्ता बढ़ने अर्थात 3% के आधार पर 26000 X 3 = 78000 रुपये हो जाएगी।
  • इसके अनुसार वेतन में कुल इजाफा 78000-46,260= 31,740 रूपये होगा।
  • अर्थात न्यूनतम बेसिक वेतनमान 31,740 रूपये होगा।

Leave a Comment