दुनिया के सात अजूबे 2023 | 7 Wonders of the World in Hindi

क्या आप जानते है की दुनिया के सात अजूबे कौन-कौन से है ? संभवत आपके मन में ताजमहल का नाम जरूर आ रहा होगा। अगर आप सोच रहे है की ताजमहल दुनिया के सात अजूबों में शामिल है तो आप बिल्कुल सही है परन्तु क्या आप ताजमहल के अतिरिक्त दुनिया के अन्य 6 अजूबों के बारे में बता सकते है। अगर आपका जवाब नहीं है तो चलिए कोई बात नहीं। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपकी इसी जिज्ञासा को शांत करने वाले है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की वर्तमान में दुनिया के सात अजूबे 2023 (7 Wonders of the World in Hindi) कौन-कौन से है।

दुनिया के सात अजूबे
दुनिया के सात अजूबे

साथ ही इस आर्टिकल में Duniya Ke Saat Ajoobe 2023 के बारे में जानकारी प्राप्त करने के अतिरिक्त आप इन अजूबों से सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी प्राप्त कर सकेंगे। तो चलिए शुरू करते है दुनिया के सात अजूबों के बारे में जानकारी का रोचक सफर

क्या है दुनिया के 7 अजूबे

यह दुनिया विभिन प्रकार के आश्चर्यो से भरी पड़ी है। दुनिया में प्रकृति द्वारा निर्मित अनेक अजूबे दिखाई देते है। मनुष्य द्वारा भी अपने इतिहास में ऐसे-ऐसे आश्चर्यजनक कलाओ एवं स्थापत्य कला का निर्माण किया गया है जिन पर विश्वास करना भी असंभव प्रतीत होता है। अपने इतिहास के दौरान मनुष्य द्वारा अपनी बुद्धि एवं कौशल से विभिन प्रकार की स्थापत्य कला एवं संरचनाओं का निर्माण किया है जो वास्तव में मनुष्य की बुद्धिमता के आश्चर्य है। ऐसे में मानव इतिहास में निर्मित अद्वितीय स्थापत्य कला के सर्वश्रेष्ठ नमूनों को दुनिया के सात अजूबों में शामिल किया गया है।

दुनिया के सात अजूबों को स्विट्ज़रलैंड के the New 7 Wonders Foundation के द्वारा ऑनलाइन वोटिंग के माध्यम से चुना गया है। वर्ष 1999 में शुरू इस वोटिंग में दुनिया के करोड़ो लोगो ने भाग लिया थे जिसका परिणाम वर्ष 2007 में घोषित किया गया था। इस प्रकार दुनिया के नए सात अजूबे (the New 7 Wonders Foundation) वर्ष 2007 में घोषित किए गए है। दुनिया के सात अजूबों को यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल (UNESCO world Heritage sites) में से चुना गया है।

7 Wonders of the World in Hindi

दुनिया के सात विश्व धरोहर स्थलों की दुनिया के नवीन 7 अजूबों में स्थान दिया गया है। यहाँ आपको दुनिया के 7 अजूबों के बारे में जानकारी प्रदान की गयी है :-

क्र. सं.अजूबा (देश)
1. चीन की दीवार (चीन)
2.ताजमहल (भारत)
3.पेट्रा (जॉर्डन)
4.क्राइस्ट द रिडीमर (ब्राजील)
5.चिचेन इट्जा (मैक्सिको)
6.कालीजीयम (इटली)
7.माचू-पिच्चू (पेरू)
The ‘New Seven Wonders of the World’

दुनिया के सात अजूबे 2023

दुनिया में मानव इतिहास के जीवंत प्रमाणों एवं मानवीय कारीगरी के अद्धभुत नमूनों के रूप में विश्व के 7 स्थलों का चयन किया गया है। यहाँ आपको दुनिया के सात अजूबे (Seven Wonders of the World) एवं इनकी विशेषताओं के सम्बंधित में विस्तृत जानकारी प्रदान की गयी है :-

1. चीन की दीवार (Great Wall of China)

Great Wall of China

  • अजूबा (Wonder name)- चीन की दीवार
  • स्थित/सम्बंधित देश (loaction/Country)- चीन
  • निर्माण वर्ष (Construction period)-  5 वीं शताब्दी से -16 वीं शताब्दी तक

वर्णन (Description)- चीन के राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह के रूप में प्रसिद्ध चीन की दीवार दुनिया की सबसे लम्बी दीवार है। इस दीवार की कुल लंबाई लम्बाई लगभग 21,196 किलोमीटर है जो की वास्तव में अपने आप में एक आश्चर्य है। चीन की दीवार का निर्माण चीन के विभिन शासको के द्वारा विभिन समयांतराल पर किया गया है जिसका मुख्य उद्देश्य चीन को उत्तरी भाग से होने वाले कबीलाई हमलों से बचाना एवं दुश्मनों से चीन की सीमा की सुरक्षा करना था। इस दीवार के निर्माण में मिट्टी, ईंट, पत्थर, लकड़ी, धातु एवं अन्य सामग्रियों का प्रयोग किया गया है।

इस दीवार को मजबूती देने के लिए चावल के घोल का प्रयोग भी किया गया है। चीन की दीवार का निर्माण सैकड़ो वर्षो में पूरा हुआ था जिसमे लगभग 10 लाख से ज्यादा लोग मारे गए थे यही कारण है की इसे दुनिया का सबसे बड़ा कब्रिस्तान भी कहा जाता है। इस दीवार की ऊँचाई 7.8 मीटर जबकि चौड़ाई लगभग़ 5 मीटर तक है जहाँ 10 लोग एक बार में आराम से चल सकते है। कहा जाता है की चीन की दीवार अंतरिक्ष से भी दिखाई देती है परन्तु यह वास्तविकता नहीं है।

2. ताजमहल (Taj mahal)

Taj mahal

  • अजूबा (Wonder name)- ताजमहल
  • स्थित/सम्बंधित देश (loaction/Country)- आगरा, भारत
  • निर्माण वर्ष (Construction period)- 1631–1653 ई.

वर्णन (Description)- दुनिया में प्यार के प्रतीक के रूप में प्रसिद्ध ताजमहल का निर्माण मुग़ल बादशाह शाहजहाँ द्वारा अपनी पत्नी मुमताजमहल की याद में करवाया गया था। भारत में मुग़ल कला के निष्क के रूप में प्रसिद्ध ताजमहल विश्व में प्रेम का जीवंत उदाहरण है जिसका निर्माण 1631 से 1653 ई. के मध्य में किया गया है। पूर्ण रूप से सफ़ेद संगमरमर से बना ताजमहल वर्ष भर दुनिया के लाखों पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

ताजमहल के निर्माण में 20,000 से अधिक मजदूरों के द्वारा 20 वर्ष से अधिक का समय लगा था। ताजमहल को मुगल दरबार के प्रमुख स्थापत्य कलाकार उस्ताद अहमद लाहौरी द्वारा डिजाईन किया गया था। ताजमहल, 7 Wonders of the World की लिस्ट में शामिल भारत का एकमात्र अजूबा है जिसे की यूनेस्को द्वारा वर्ष 1983 में विश्व धरोहर स्थल में भी शामिल किया गया है।

3. क्राइस्ट रिडीमर (Christ the Redeemer)

Christ the Redeemer

  • अजूबा (Wonder name)- क्राइस्ट रिडीमर
  • स्थित/सम्बंधित देश (loaction/Country)- ब्राजील
  • निर्माण वर्ष (Construction period)- 1922- 1931

वर्णन (Description)- ब्राजील के प्रसिद्ध शहर रियो डी जेनेरो की पहचान बन चुका क्राइस्ट रिडीमर ईसाईयों के उद्धारक ईशु मसीह की 130 फुट ऊंची प्रतिमा है जिसका निर्माण 20वीं शताब्दी में किया गया है। 7 Wonders of the World की लिस्ट में शामिल क्राइस्ट रिडीमर की मूर्ति इस सूची में शामिल सबसे नवीन निर्मित वैश्विक अजूबा है। इस स्टेचू का निर्माण ब्राजील में क्रिस्टियन धर्म की कैथोलिक शाखा को मनाने वाले अनुयायियों की श्रद्धा को ध्यान में रखकर करवाया गया है।

98 फ़ीट चौड़ाई एवं और 635 टन वजनी इस स्टेचू का निर्माण 1922- 1931 के मध्य किया गया है। इस स्टेचू का डिजाईन फ्रेंच-पोलिश मूर्तिकार पॉल लैंडोव्स्की एवं निर्माण इंजीनियर हेटर दा सिल्वा कोस्टा द्वारा किया गया है। वर्तमान में अपनी स्थापत्य कला के लिए प्रसिद्ध यह स्टेचू दक्षिण अमेरिका में प्रसिद्ध 7 Wonders साइट है।

4. पेट्रा जॉर्डन (Petra Jordan)

Petra Jordan

  • अजूबा (Wonder name)- पेट्रा
  • स्थित/सम्बंधित देश (loaction/Country)- जॉर्डन
  • निर्माण वर्ष (Construction period)- 309 ई.पू.- प्रथम ई.

वर्णन (Description)- मध्य एशिया में स्थित पेट्रा, जार्डन देश की पहचान एवं प्रमुख पर्यटक स्थल के रूप में प्रसिद्ध है। पेट्रा शहर का निर्माण अरब देश के मूल अरबवासियों के द्वारा करवाया गया था जो की व्यापारिक मार्ग पर स्थित था। व्यापारिक मार्ग पर होने के कारण इस शहर से ही सिल्क रूट एवं मसालों का व्यापार होता था जिसके कारण अरब के मूलवासियों जिन्हे की नाबातियाँ या रकमु कहा जाता था काफी समृद्ध हो गए थे।

पेट्रा शहर का मुख्य आकर्षण यहाँ प्राकृतिक संरचनाओं जैसे कैनियन एवं अन्य चट्टानों को तराशकर बनायीं गयी शानदार नक्काशी एवं स्थापत्य आकृतियाँ है जो की यहाँ से गुजरने वाले राहगीरों को कुछ पल रुकने पर मजबूर कर देती है। साथ ही यहाँ के बीहड़ रेगिस्तान में जल के संरक्षण के लिए भी अद्धभुत स्थापत्य कला का निर्माण किया गया है जिसके कारण यहाँ जल की उपलब्धता बनी रहती थी। इस शहर में अधिकतर स्थापत्य कला के निर्माण में गुलाबी रंग की चट्टानों का प्रयोग किया गया है यही कारण है की इस शहर को गुलाबी शहर की संज्ञा भी दी जाती है।

5. चीचेन इट्ज़ा (Chichen Itza)

दुनिया के सात अजूबे

  • अजूबा (Wonder name)- चीचेन इट्ज़ा
  • स्थित/सम्बंधित देश (loaction/Country)- मेक्सिको
  • निर्माण वर्ष (Construction period)- 514 ई.पू.

वर्णन (Description)- माया सभ्यता के खंडहर के रूप में प्रसिद्ध चीचेन इट्ज़ा आपको इतिहास के पन्नों में ले जाता है। चीचेन इट्ज़ा मेक्सिको में रहने वाली माया जनजाति का सबसे बड़ा शहर था जिसके निर्माण 9 वीं सदी से लेकर 12वीं सदी के मध्य किया गया था। वास्तव में यहाँ आने पर आप अपने आपको किसी प्राचीन सभ्यता के घर में पाते है जहाँ आप माया सभ्यता के स्थापत्य कला एवं विज्ञान, ज्योतिष एवं अन्य कर्मकांडों में उनकी जिज्ञासा को नजदीक से महसूस करते है। चीचेन इट्ज़ा का प्रमुख आश्चर्य विश्व प्रसिद्ध मायन मंदिर जिसे कुकुलकन मंदिर (Temple of Kukulkán) कहा जाता है।

यह मंदिर पिरामिड की भांति है जिसे पर ऊपरी भाग में जाने के लिए चारो तरफ से 365 सीढियाँ बनी है जो की हाब सोलर कैलेंडर के 365 दिनों का प्रतिनिधित्व करता है। कुकुलकन को माया सभ्यता में सर्प वाले देवता के रूप में प्रसिद्धि प्राप्त है जिनकी आराधना के लिए कुकुलकन मंदिर निर्मित किया गया था। यहाँ होने वाले विभिन उत्सवों के निशान भी यहाँ महसूस किए जा सकते है।

6. कोलोजियम (Colosseum)

दुनिया के सात अजूबे

  • अजूबा (Wonder name)- कोलोजियम
  • स्थित/सम्बंधित देश (loaction/Country)- इटली
  • निर्माण वर्ष (Construction period)- 70 ई. -72 ई.

वर्णन (Description)- रोमन साम्राज्य के जीवंत इतिहास के रूप में खड़ा कोलोजियम रोम शहर में स्थित अंडाकार आकृति का थिएटर या विशाल स्टेडियम है जिसका निर्माण प्रथम शताब्दी में विभिन रोमन राजाओ के द्वारा किया गया है। इस थिएटर का निर्माण रोमन साम्राज्य की अद्धभुत स्थापत्य कला का प्रदर्शन करता है जो की वास्तव में अपने आप में गौरवपूर्ण गाथा को समेटे हुए है। रोमन साम्राज्य के प्रारंभिक काल में इस थिएटर का उपयोग विभिन प्रकार के सार्वजनिक कार्यो, मनोरंजन शो, पौराणिक गाथाओं के प्रदर्शन, नाटक, शिकार के अभिनय एवं तलवारबाजी जैसे मनोरंजक कार्यक्रमों के लिए किया जाता था।

यह इतिहास में ज्ञात सबसे विशाल स्टेडियम रहा है जिसकी दर्शक क्षमता 65,000 से लेकर 80,000 लोगो तक है। बाद के वर्षो में इस थिएटर का उपयोग भिन्न-भिन्न कार्यो के लिए किया जाने लगा जिसमे किला, हाउसिंग, वर्कशॉप एवं अन्य धार्मिक अनुष्ठान सम्पन किया जाने लगे। समय के साथ इस थिएटर को विभिन प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ा जिसके कारण इसका लगभग दो/तिहाई हिस्सा नष्ट हो गया। आधुनिक समय में भी यह थिएटर रोमन साम्राज्य का जीवंत इतिहास है।

7. माचू-पिच्चू (Machu Picchu)

दुनिया के सात अजूबे

  • अजूबा (Wonder name)- माचू पिच्चु
  • स्थित/सम्बंधित देश (loaction/Country)- पेरू
  • निर्माण वर्ष (Construction period)- 1430 ई.

वर्णन (Description)- “लॉस्ट सिटी ऑफ़ द इन्का” के नाम से मशहूर माचू-पिच्चू दक्षिण अमेरिकी राज्य पेरू में स्थित ऐतिहासिक धरोहर स्थल है जिसे की 7 Wonders of the World की लिस्ट में शामिल किया गया है। इस शहर का निर्माण 1430 ई. में इन्का राजा पचाकुती के द्वारा धार्मिक समारोह आयोजित करने के लिए करवाया गया था। एंडीज पर्वतमाला में स्थित माचू-पिच्चू इन्का सभ्यता के इतिहास का प्रमुख हिस्सा रहा है जहाँ प्राकृतिक स्थलाकृतियों को काटकर विभिन प्रकार के निवास स्थानों का निर्माण किया गया है।

इस शहर को इन्का साम्राज्य द्वारा 1532 में स्पेनिश उपनिवेशवादियों के द्वारा पराजित किया गया जिसके पश्चात इन्का को इस शहर को छोड़ना पड़ा। हालांकि वर्ष 1911 में अमेरिकी इतिहासकार हीरम बिंघम के द्वारा इस स्थल को पुनः दुनिया के नक़्शे पर लाया गया।

यह भी जानिए :-

दुनिया के सात अजूबे सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

दुनिया में कुल कितने अजूबे है ?

दुनिया में वर्तमान में कुल सात अजूबे माने गए है। 7 Wonders of the World में दुनिया के 7 अजूबों को शामिल किया गया है।

दुनिया के सात अजूबों का चयन किस प्रकार किया गया है ?

दुनिया के सात अजूबों का चयन करोड़ो लोगो द्वारा ऑनलाइन वोटिंग के माध्यम से किया गया है। स्विट्ज़रलैंड के the New 7 Wonders Foundation के माध्यम से आयोजित की गयी प्रतियोगिता में वर्ष 2007 तक लम्बे समय तक चली वोटिंग के माध्यम से लोगों द्वारा दुनिया के सात अजूबों का चयन किया गया था।

दुनिया के सात अजूबे कौन-कौन से है ?

दुनिया के सात अजूबे की लिस्ट में निम्न धरोहर स्थलों को शामिल किया गया है :-चीन की दीवार, ताजमहल, पेट्रा, क्राइस्ट रिडीमर, माचू-पिच्चू, कोलोज़ीयम एवं चिचेन इत्जा

दुनिया के सात अजूबों सम्बंधित विस्तृत जानकारी प्रदान करें ?

दुनिया के सात अजूबों सम्बंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए ऊपर दिया गया आर्टिकल पढ़े। इसके माध्यम से आपको 7 Wonders of the World सम्बंधित विस्तृत जानकारी प्रदान की गयी है।

भारत का कौन सा स्थल दुनिया के सात अजूबों में शामिल किया गया है ?

भारत में स्थित ताजमहल को दुनिया के सात अजूबों में शामिल किया गया है। ताजमहल ही भारत से दुनिया के सात अजूबों में शामिल एकमात्र धरोहर स्थल है।

दुनिया के सात अजूबों में चीन का कौन सा धरोहर स्थल शामिल किया गया है ?

दुनिया के सात अजूबों में चीन की महान दीवार को शामिल किया गया है। 21,196 किलोमीटर लम्बी चीन की दीवार का निर्माण सैकड़ो वर्षो तक विभिन शासको के शासन काल में हुआ है जो की वर्तमान में चीन की वैश्विक पहचान है।

Leave a Comment

Join Telegram